BREAKING NEWS

निर्वाचन आयोग : चुनाव वाले राज्यों के शीर्ष अधिकारियों से करेगा मुलाकात, कोविड की स्तिथि का लेंगे जायजा ◾ दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR , पूर्व सीएम बोले- हमने कोई अपराध नहीं किया◾पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾UP में CM कैंडिडेट वाले बयान पर बोलीं प्रियंका-मैं चिढ़ गई थी, क्योंकि.....◾Today's Corona Update : 24 घंटे में 3.37 लाख से ज्यादा नए केस, 488 मरीजों की मौत ◾ UP विधानसभा चुनाव : बिजनौर और अमरोहा का दौरा कर पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र देंगे नड्डा◾Weather Update : दिल्ली में हल्की बारिश से बढ़ी ठिठुरन, ठंडी हवाओं के साथ लुढ़का पारा◾World Corona Update : 34.58 करोड़ के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा, 55.8 लाख से ज्यादा लोगों की मौत◾ममता बनर्जी ने गोवा में गठबंधन के लिये सोनिया से किया था संपर्क - TMC◾

दिल्ली विधानसभा ने किया फेसबुक के प्रतिनिधियों को तलब, जानना चाहते हैं 2020 दंगों को लेकर उनके विचार

दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति ने शुक्रवार को फेसबुक इंडिया के प्रतिनिधियों को राष्ट्रीय राजधानी में फरवरी 2020 के दंगों पर 2 नवंबर को गवाही देने के लिए बुलाया है। एक पत्र में, समिति ने कहा कि वह झूठे और दुर्भावनापूर्ण संदेशों को रोकने में सोशल मीडिया दिग्गज की भूमिका पर ध्यान केंद्रित करेगी, जो समाज में असामंजस्य पैदा कर सकते हैं। 

समिति ने कहा, चूंकि दिल्ली के एनसीटी में फेसबुक के लाखों उपयोगकर्ता हैं, इसलिए समिति ने फेसबुक इंडिया के प्रतिनिधियों के विचारों को सुनने का फैसला किया है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) विरोधी और समर्थक प्रदर्शनकारियों के बीच हुए दंगों के बाद समिति का गठन किया गया था। हंगामे का समय पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की पहली भारत यात्रा के साथ मेल खाता था। 

पत्र में आगे कहा गया है कि पत्रकारों, पूर्व नौकरशाहों और समुदाय के नेताओं सहित विभिन्न व्यक्ति अपने साक्ष्य और सुझाव देने के लिए समिति के सामने पेश हुए हैं। समिति ने देखा है और उसकी राय है कि झूठे, उत्तेजक और दुर्भावनापूर्ण संदेशों के प्रसार को रोकने में सोशल मीडिया की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है, जो हिंसा और असामंजस्य को बढ़ावा दे सकते हैं। समिति ने फेसबुक इंडिया को एक सक्षम वरिष्ठ प्रतिनिधि भेजने के लिए कहा है, जो इस मुद्दे से अच्छी तरह वाकिफ हैं। 

लेकिन साथ ही साथ सोशल मीडिया कंपनी को कोविड-19 स्थिति के कारण प्रतिनिधियों की संख्या को कम से कम तक सीमित रखने के लिए कहा है। पत्र में कहा गया है, प्रतिनिधि भेजने में विफलता के कारण विशेषाधिकार हनन/विधानसभा की अवमानना के लिए कार्यवाही शुरू की जाएगी। इस दंगों में 50 से अधिक लोग मारे गए थे, जिनमें से एक तिहाई अल्पसंख्यक समुदाय के थे। सोशल मीडिया, मुख्य रूप से फेसबुक पर कई वायरल पोस्ट ने आग में घी का काम किया था।