BREAKING NEWS

मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾देहरादून पहुंचे PM मोदी ने कई विकास योजनाओं का किया शिलान्यास व लोकार्पण, बोले- पिछली सरकारों के घोटालों की कर रहे भरपाई ◾ मुंबई टेस्ट IND vs NZ - एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर रचा इतिहास, भारत के पहली पारी में 325 रन ◾'कांग्रेस को दूर रखकर कोई फ्रंट नहीं बन सकता', गठबंधन पर संजय राउत का बड़ा बयान◾अमित शाह बोले- PAK में सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने स्पष्ट किया कि हमारी सीमा में घुसना आसान नहीं◾केंद्र ने अमेठी में पांच लाख AK-203 असॉल्ट राइफल के निर्माण की मंजूरी दी, सैनिकों की युद्ध की क्षमता बढ़ेगी ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8 हजार से अधिक नए केस, 415 लोगों की मौत◾चक्रवाती तूफान 'जवाद' की दस्तक, स्कूल-कॉलेज बंद, पुरी में बारिश और हवा का दौर जारी◾विश्वभर में कोरोना के आंकड़े 26.49 करोड़ के पार, मरने वालों की संख्या 52.4 लाख से हुई अधिक ◾आजाद ने सेना ऑपरेशन के दौरान होने वाली सिविलिन किलिंग को बताया 'सांप-सीढ़ी' जैसी स्थिति◾SKM की बैठक से पहले राकेश टिकैत ने कहा- उम्मीद है कि आज की मीटिंग में कोई समाधान निकलना चाहिए◾राष्ट्रपति ने किया ट्वीट, देश की रक्षा सहित कोविड से निपटने में भी नौसेना ने निभाई अहम भूमिका◾तेजी से फैल रहा है ओमिक्रॉन, डब्ल्यूएचओ ने कहा- वेरिएंट पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन अंतिम उपाय◾सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की आज होगी अहम बैठक, आंदोलन की आगे की रणनीति होगी तय◾

दिल्ली: रामलीला मैदान में आगामी चुनाव को लेकर हो सकती है कांग्रेस की रैली, तमाम पार्टियों को घेरने की बनेगी रणनीति

दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की एक बड़ी रैली आयोजित हो सकती है, जिसमें कांग्रेस आलाकमान से लेकर कांग्रेस की सत्ता वाले राज्यों के मुख्यमंत्री तक शामिल होंगे। इस रैली का उद्देश्य आगामी चुनाव को लेकर भाजपा समेत तमाम दूसरी पार्टियों की सच्चाई जनता के सामने रखना और ज्वलंत मुद्दों पर उनको घेरना शामिल होगा। हाल ही में कांग्रेस ने वरिष्ठ नेताओं द्वारा दिल्ली में एक बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें इस बात का निर्णय हुआ कि दिसंबर महीने के पहले हफ्ते में रामलीला मैदान में एक बड़ी रैली की जाए। वहीं जनता के सामने असल मुद्दों को उठाये जाना चाहिए।

भारी संख्या में देश भर के कांग्रेस कार्यकर्ता रैली का हिस्सा बनेंगे

इस रैली का हिस्सा सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के अलावा दिल्ली में मौजूद कांग्रेस वरिष्ठ नेता और हर राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री व अन्य कांग्रेस नेता शामिल होंगे। वहीं भारी संख्या में देश भर के कांग्रेस कार्यकर्ता रैली का हिस्सा बनेंगे। हालाँकि दिल्ली में दो जगहों पर इस रैली को आयोजित किया जा सकता है जिसमें पहला राम लीला ग्राउंड शामिल है। यदि वहाँ रैली करना मुमकिन न हो सका तो द्वारका स्थित एक बड़े मैदान में इस रैली को आयोजित किया जाएगा।

कांग्रेस आगामी चुनाव को लेकर जनता को संदेश देगी

इसके अलावा कांग्रेस दिल्ली से देश भर में होने वाले आगामी चुनाव को लेकर जनता को संदेश देगी और विपक्ष पार्टियों के झूठ को उजागर करने की कोशिश करेगी। फिलहाल रैली को लेकर तैयारियाँ शुरू की जाने लगी है और इसपर विचार विमर्श भी किया जा रहा है। इस रैली में लाखों की संख्या में कांग्रेस कार्यकतार्ओं को बुलाना तय हुआ है। दरअसल देश भर में 5 राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। वहीं दिल्ली में भी नगर निगम चुनाव होंगे। ऐसे में कांग्रेस इस रैली के माध्यम से कहीं न कहीं अपना शक्ति प्रदर्शन भी करना चाहती है।

बैठक में ये नेता हुए शामिल 

इस रैली को लेकर हुई दिल्ली की बैठक में पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी शामिल हुए थे। इसके साथ ही कांग्रेस महासचिव एवं राजस्थान प्रभारी अजय माकन, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, हरियाणा की प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष कुमारी शैलजा, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार और कई अन्य नेता बैठक में शामिल रहे।

दूसरी ओर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में जहां भाजपा की सरकारें हैं, वहीं पंजाब में कांग्रेस की सरकार है। निर्वाचन आयोग के एक जनवरी, 2021 के आंकड़ों के अनुसार देश में सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में लगभग 14.66 करोड़ मतदाता हैं। वहीं, पंजाब में दो करोड़ से अधिक मतदाता हैं। उत्तराखंड में 78.15 लाख मतदाता पंजीकृत हैं। मणिपुर में 19.58 लाख और गोवा में 11.45 लाख मतदाता हैं। पांचों राज्यों में कुल लगभग 17.84 करोड़ मतदाता हैं। कांग्रेस अपनी दिल्ली में होने वाली बड़ी रैली से इन सभी मतदाताओं के दिलों तक पहुंचने की कवायद करेगी।

नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार 16 वर्ष हुए पूरे, तेजस्वी यादव ने सरकार से पूछे 21 सवाल