BREAKING NEWS

JNU छात्र आज संसद तक निकालेगा मार्च, जेएनयू प्रबंधन ने कहा- हड़ताल से वापस नहीं लौटे तो दाखिला होंगे रद्द◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा, कहा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने राजपक्षे को भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

दिल्ली सरकार ने हजार से ज्यादा सरकारी स्कूलों में आयोजित किया पीटीएम कार्यक्रम

नयी दिल्ली : दिल्ली सरकार के 1000 से ज्यादा स्कूलों में शुक्रवार को आयोजित अभिभावक शिक्षक मुलाकात (पीटीएम) कार्यक्रम में शामिल होने के लिए काफी संख्या में लोग पहुंचे। 

इस कार्यक्रम का आयोजन पहले 20 अप्रैल को होना था। लेकिन भाजपा ने आम आदमी पार्टी (आप) पर यह आरोप लगाया था कि वह इन कार्यक्रमों का इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने और आमचुनाव के दौरान इसका राजनीतिक लाभ उठाने के अवसर के रूप में कर रही है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप नेता आतिशी ने कई स्कूलों का दौरा किया तथा छात्रों एवं अभिभावकों से बातचीत की। 

रमेश नगर के एक सरकारी स्कूल में पहुंची सरला ने कहा, ‘‘मैं खुश हूं कि सरकार न सिर्फ पठन-पाठन पर ध्यान दे रही है बल्कि बच्चों के अपने माता पिता और भाई बहन के साथ अच्छे व्यवहार को भी महत्व दे रही है। मेरी बेटी अब कम गुस्सैल हो गई है।’’ वहीं, तबिश मोहम्मद ने कहा, ‘‘ हमें साल के अंत में यह जानने को मिलता था कि मेरे बेटे का अकादमिक प्रदर्शन कैसा है। लेकिन अब पीटीएम से हर तिमाही उसके बारे में जानकारी मिल जाती है और इसने उसे बेहतर करने के लिए प्रेरित किया।’’ 

शिक्षा निदेशालय के एक अधिकारी ने बताया कि खुशी और उद्यमशीलता पाठ्यक्रम पर चर्चा के अलावा शिक्षकों को छात्रों की अनुपस्थिति और अनियमित उपस्थिति पर भी चर्चा करने को कहा गया। स्कूल के प्राचार्यों को कम अंक प्राप्त करने वाले उन छात्रों की सूची बनाने के कहा गया है जिनके अभिभावक पीटीएम में शामिल नहीं हुए।