दिल्‍ली के करोल बाग में स्थिति हनुमान की मूर्ति को एयरलिफ्ट नहीं होगी । आपको बता दे कि दिल्ली हाईकोर्ट ने करोल बाग ‌‌स्थित 108 फुट ऊंची हनुमान प्रतिमा को हटाने से मना कर दिया है। हालांकि कोर्ट ने डीडीए, एमसीडी और पीडब्लूडी को मंदिर के पीछे हुए अतिक्रमण के लिए फटकार लगा दी।

दिल्‍ली हाईकोर्ट ने डीडीए, पीडब्‍ल्‍यूडी और एमसीडी को प्‍लान तैयार करने का आदेश दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई 12 दिसंबर को होगी। हाईकोर्ट में पीडब्‍ल्‍यूडी ने कहा कि हनुमान मंदिर के पास काफी अतिक्रमण है। वहीं डीडीए ने कहा कि उसने गुरुवार को बग्गा मोटर की 1200 स्क्वायर यार्ड की जमीन पर अतिक्रमण हटाया है।

दिल्‍ली हाईकोर्ट ने डीडीए, पीडब्‍ल्‍यूडी, एमसीडी को कहा है कि हनुमान मूर्ति के आसपास की अतिक्रमण को हटाने के लिए एक लेआउट प्लान तैयार करे।

आपको बता दें कि इस इलाके में अतिक्रमण काफी बढ़ गया है ऐसे में हाईकोर्ट ने इस मामले विचार करने की बात कही थी। दरअसल हाईकोर्ट में इस मामले पर एक रिपोर्ट पेश की गई थी जिसमें हनुमान की विशाल मूर्ति की वजह से आसपास के इलाकों में ट्रैफिक जाम होने की बात कही गई थी।

रिपोर्ट में मंदिर के आसपास बनी दुकानों के अतिक्रमण से होने वाली परेशानियों का भी जिक्र किया गया था। इसके बाद कोर्ट ने हनुमान जी की मूर्ति को एयरलिफ्ट कराने का सुझाव दिया था। कोर्ट ने कहा था कि अमेरिका में तो बड़ी-बड़ी इमारतों को दूसरी जगह पर शिफ्ट कर दिया जाता है।