BREAKING NEWS

हिंसा के बाद किसान आंदोलन में पड़ी दरार, दो संगठनों ने खुद को किया अलग◾26 जनवरी हिंसा: राकेश टिकैत, अन्य किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज◾गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की ◾संयुक्त किसान मोर्चा की सफाई - असामाजिक तत्वों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को नष्ट करने की कोशिश की◾दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड में हिंसा के संबंध 200 लोगों को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी ◾BCCI प्रमुख सौरव गांगुली को सीने में दर्द, अपोलो हॉस्पिटल में कराया गया एडमिट ◾नेपाल में कोविड टीकाकरण का पहला चरण शुरू, भारत ने तोहफे में दी है 10 लाख वैक्सीन डोज◾ किसान ट्रैक्टर परेड: गणतंत्र दिवस पर हिंसा की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल◾दो दिवसीय दौरे पर केरल पहुंचे राहुल, मलप्पुरम में गर्ल्स स्कूल के भवन का किया उद्घाटन ◾किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

दिल्ली: सरकारी स्कूल में 5.78 करोड़ रूपए का इंटरनेशनल हॉकी एस्ट्रोटर्फ

दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में हॉकी का विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ बनाया गया है। इस विश्वस्तरीय हॉकी मैदान को बनाने में 5.78 करोड़ रूपए की लागत आई है। दिल्ली सरकार के मुताबिक दिल्ली में ऐसे कुल 4 विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ बनाए जा रहे हैं। दिल्ली सरकार ने अधिकारियों से कहा है कि इस मैदान को सरकारी नियमों का शिकार न बनने दें। 

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को सर्वोदय बाल विद्यालय, अशोकनगर में विश्वस्तरीय एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, हमने खिलाड़ियों के लिए तमाम सुविधाओं का इंतजाम कर दिया है। अब खिलाड़ियों और कोचेज से अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखाकर देश के लिए मैडल लाने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने होनहार खिलाड़ियों को हर मदद देने का निर्देश दिया है ताकि सुविधाओं और पैसों के अभाव में कोई प्रतिभा पीछे न रह जाए।इस मौके पर ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार भी मौजूद थे। 

सिसोदिया ने कहा, इस विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान को बनाने में टैक्सपेयर्स के 5.78 करोड़ रूपए लगे हैं। इस मैदान में खिलाड़ियों को खेलने का अवसर मिले, तो यह पैसा वसूल हो जाएगा। लेकिन अगर यहां से देश के लिए अच्छे खिलाड़ी न निकलें, तो पैसा बेकार जाएगा। इसलिए स्कूल और खेल अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि खिलाड़ियों को इस मैदान के उपयोग की पूरी सुविधा मिले।उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, इस मैदान को सरकारी नियमों का शिकार न बनने दें। खिलाड़ियों की सुविधा और जरूरत के अनुसार नियम बनाए जाएं। किसी नियम में बदलाव की जरूरत हो, तो सरकार उसके लिए तैयार है। 

दिल्ली सरकार का मानना है कि खेल की सुविधाएं देने के मामले में हमें लचीला होना पड़ेगा। लेकिन खेल की तैयारियों में खिलाड़ियों को सभी अनुशासन का पालन करना होगा, ताकि उनकी प्रतिभा का विकास हो। दिल्ली सरकार, दिल्ली में ऐसे चार विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान बना रही है। यह तीसरा मैदान है। घुम्मनहेड़ा और झिलमिल में भी ऐसे मैदान बने हैं। चार सौ मीटर के चार रेसिंग ट्रैक और विश्वस्तरीय स्वीमिंग पुल भी बनाए गए हैं। इन सुविधाओं के कारण दिल्ली के सरकारी स्कूलों का खेलों में प्रदर्शन बेहतर हुआ है और मेडल लाने का ग्राफ बढ़ा है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमने होनहार खिलाड़ियों को हर जरूरी सुविधा देने की पूरी जिम्मेवारी ली है। खिलाड़ियों के लिए आवासीय सुविधा तथा स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी बनाई जा रही है। गोल्ड मेडल लाने वाले खिलाड़ियों को भी यह सोचना पड़ता है कि उनका एडमिशन कहां होगा। लेकिन हम उन्हें स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में एडमिशन देंगे। 

उन्होंने कहा कि जब कोई खिलाड़ी जीतकर आता है, तो हर सरकार उसकी मदद करती है। लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पांच साल पहले ही कह दिया था कि हमारे होनहार खिलाड़ी जब खेल के मैदान में पसीना बहा रहे हों, उसी वक्त उन पर पैसा लगाना चाहिए। इसीलिए हमने होनहार खिलाड़ियों की मदद के लिए शानदार योजना चला रखी है। इसमें साढ़े तीन लाख से लेकर 16 लाख तक की सालाना राशि दी जाती है।