BREAKING NEWS

स्मृति ईरानी एवं हेमा मालिनी पर टिप्पणी कों लेकर EC से कांग्रेस की शिकायत◾उप्र विधानसभा चुनाव जीतने के लिए नफरत फैला रही है भाजपा, हो सकता है भारत का विघटन : फारूक अब्दुल्ला◾एनसीबी के सामने पेश हुईं अभिनेत्री अनन्या पांडे, कल सुबह 11 बजे फिर होगा सवालों से सामना ◾सिद्धू का अमरिंदर सिंह पर पलटवार - कैप्टन ने ही तैयार किये है केन्द्र के तीन काले कृषि कानून◾हिमाचल के छितकुल में 13 ट्रैकरों की हुई मौत, अन्य छह लापता◾कांग्रेस का PM से सवाल- जश्न से जख्म नहीं भरेंगे, ये बताएं 70 दिनों में 106 करोड़ टीके कैसे लगेंगे ◾केरल - वरिष्ठ माकपा नेता पर बेटी ने ही लगाया बच्चा छीनने का आरोप, मामला दर्ज ◾‘विस्तारवादी’ पड़ोसी को सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब, संप्रभुता से कभी समझौता नहीं करेगा भारत : नित्यानंद राय ◾कोरोना वैक्सीन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने गीत और फिल्म जारी की◾केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशन धारकों को दीपावली का तोहफा, महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत वृद्धि को मिली मंजूरी◾SC की सख्ती के बाद गाजीपुर बॉर्डर से किसान हटाने लगे टैंट, कहा- हमने कभी बन्द नहीं किया था रास्ता ◾नेहरू के जन्मदिन पर महंगाई के खिलाफ अभियान शुरू करेगी कांग्रेस, कहा- भारी राजस्व कमा रही है सरकार ◾ देश में टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ के पार, WHO प्रमुख ने PM मोदी और स्वास्थ्यकर्मियों को दी बधाई ◾आर्यन केस : शाहरुख के घर मन्नत में जांच के बाद निकली NCB टीम, अब अनन्या पांडे से होगी पूछताछ ◾जम्मू-कश्मीर में जारी है आतंकवादी गतिविधियां, बारामूला में टला बड़ा हादसा, आईईडी किया गया निष्क्रिय ◾SC की किसानों को फटकार- विरोध करना आपका अधिकार, लेकिन सड़कों को अवरुद्ध नहीं किया जा सकता◾100 करोड़ टीकाकरण पर थरूर बोले- 'आइए सरकार को श्रेय दें', पहले की विफलताओं के प्रति केंद्र जवाबदेह◾देश के पास महामारी के खिलाफ 100 करोड़ खुराक का ‘सुरक्षात्मक कवच’, आज का दिन ऐतिहासिक : PM मोदी◾ड्रग्स केस : बॉम्बे HC में आर्यन खान की जमानत याचिका पर 26 अक्टूबर को होगी सुनवाई◾MP : भिंड में वायुसेना का विमान क्रेश होकर खेत में गिरा, पायलट सुरक्षित बच निकलने में रहा सफल ◾

डिजिटलीकरण की दिशा में अग्रसर दिल्ली, राजधानी में QR-आधारित ड्राइविंग लाइसेंस और RC की होगी शुरुआत

प्रणाली के डिजिटलीकरण की दिशा में एक कदम उठाते हुए, दिल्ली परिवहन विभाग जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) और पंजीकरण प्रमाणपत्र (आरसी) के लिए क्यूआर आधारित स्मार्ट कार्ड जारी करेगा। एक बयान के अनुसार, नए ड्राइविंग लाइसेंस में त्वरित प्रतिक्रिया (क्यूआर) कोड और नियर फील्ड कम्युनिकेशन (एनएफसी) जैसी सुविधाओं के साथ एक उन्नत माइक्रोचिप होगी। नई आरसी में मालिक का नाम सामने की तरफ छपा होगा जबकि माइक्रोचिप और क्यूआर कोड कार्ड के पीछे एम्बेड किया जाएगा।

कार्ड में पहले एम्बेडेड चिप्स थे, लेकिन दिल्ली ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग के प्रवर्तन विंग दोनों के पास आवश्यक मात्रा में चिप रीडर मशीनें उपलब्ध नहीं थीं। इसके अलावा, चिप्स को संबंधित राज्यों द्वारा डिजाइन और कार्यान्वित किया गया था, जिसके परिणामस्वरूप चिप को पढ़ने और खासकर चूककतार्ओं के मामले में जानकारी प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। अब क्यूआर आधारित स्मार्ट कार्ड के साथ, यह समस्या हल हो गई है। यह सभी ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण के दो वेब-आधारित डेटाबेस सारथी और वाहन के साथ स्मार्ट कार्ड से किसी की जानकारी को जोड़ने और मान्य करने में सक्षम होगा।

क्यूआर को देश भर में भी लागू किया जा रहा है, क्यूआर कोड रीडर आसानी से प्राप्त किया जा सकता है और किसी भी मैनुअल हस्तक्षेप की आवश्यकता को पूरी तरह से दूर कर देगा। नए कार्ड उनके कार्ड निर्माण के लिए दो विशिष्ट सामग्रियों की भी अनुमति देंगे- पॉलीविनाइल क्लोराइड या पीवीसी, या पॉली कार्बोनेट जो थोड़ा अधिक महंगा है लेकिन अधिक टिकाऊ है। (कार्ड का आकार - 85.6 मिमी एक्स 54.02 मिमी; मोटाई न्यूनतम 0.7 मिमी होगा)

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) की अक्टूबर 2018 की अधिसूचना ने ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाणपत्र में बदलाव किया था। नए स्मार्ट कार्ड आधारित डीएल और आरसी में चिप आधारित/क्यूआर कोड आधारित पहचान प्रणाली होगी। साथ ही, डिजिलॉकर्स और एमपरिवहन पर इलेक्ट्रॉनिक स्वरूपों में ड्राइविंग लाइसेंस या पंजीकरण प्रमाण पत्र जैसे दस्तावेजों को भी भौतिक दस्तावेजों के स्थान पर वैध बनाया गया और मूल दस्तावेजों के समान माना गया।

क्यूआर कोड का स्मार्ट कार्ड पर सुरक्षा फीचर के रूप में कार्य करने का एक अतिरिक्त लाभ भी है। चालक/मालिक का स्मार्ट कार्ड जब्त होते ही विभाग डीएल धारक के 10 साल तक के रिकॉर्ड और पेनल्टी को वाहन डेटाबेस पर रख सकेगा। नए डीएल विकलांग ड्राइवरों के रिकॉर्ड, वाहनों में किए गए किसी भी संशोधन, उत्सर्जन मानकों और अंगदान करने के लिए व्यक्ति की घोषणा के रिकॉर्ड को बनाए रखने में भी सरकार की मदद करेंगे।