BREAKING NEWS

AYODHYA ;बाबरी मस्जिद गिराए जाने के तीन दशक बाद तीर्थनगरी का माहौल कैसा?◾Yamuna Expressway: दुर्घटनाएं रोकने के लिए 15 दिसंबर से गति सीमा में होगा बदलाव, नहीं दौड़ पाएंगे तेज वाहन◾CANADA MURDER : कनाडा में भारतीय महिला के सिर पर गोली मारकर शूटर हुआ फ़रार, पुलिस कर रही तलाश ◾अधीर रंजन चौधरी ने केंद्र की नीतियों को लिया आडे़ हाथों, संसद के शीतकालीन सत्र की तारीख को लेकर कही यह बात◾MCD चुनाव 2022: तारीख, समय और परिणाम◾इंडोनेशिया में नया कानून, प्री-मैरिटल सेक्स बैन, अपराध श्रेणी में Live-in-relationship◾मार्केट में 500 रुपये के नकली नोट होने की खबर, RBI ने दी जानकारी...जानें किसे बताया जा रहा जाली ◾6 दिसंबर का दिन हमारी पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी.... लोकतंत्र का काला दिन, बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर बोले ओवैसी◾बिहार पुलिस में बंपर बहाली, 62 हजार नए पदों पर मिलेगी नौकरी, महिलाओं को भी दिया जाएगा 35% आरक्षण◾भारत के मिसाइल परीक्षण से कांप रहा चीन, डर के कारण ओसियन क्षेत्र में भेजा जासूसी पोत◾नोएडा में तेज रफ़्तार का कहर, जगुआर कार की टक्कर से स्कूटी सवार युवती की मौत◾लालू यादव की किडनी ट्रांसप्लांट सफल, ऑपरेशन के बाद बाप-बेटी दोनों स्वस्थ, मीसा भारती ने शेयर की वीडियो◾Mahakal temple: 20 दिसंबर से मंदिर में मोबाइल ले जाने पर प्रतिबन्ध, प्रसादी भी हुई महंगी◾दिल्ली HC ने दी 8 माह से अधिक के गर्भ को गिराने की अनुमति, कहा- मां का फैसला ही सर्वोपरि◾राहुल गांधी के थमते ही कमान संभालेंगी प्रियंका, 26 जनवरी को श्रीनगर पहुंचकर फहरा सकते तिरंगा !◾गुजरात, हिमाचल के विधानसभा और दिल्ली के MCD में समझिए पार्टियों का गणित, Exit Poll के बाद इस पार्टी पर लगा ग्रहण ◾भारत जोड़ो यात्रा का चुनाव पर कितना हुआ असर ,एक्जिट पोल में असफल हुई कांग्रेस◾Uttar Pradesh: बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर हुआ भीषण सड़क हादसा, 4 की मौत अन्य 2 की हालत गंभीर◾उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग का अजीबोगरीब आदेश, देश के बच्चों के नाम होंगे बम, गन और तोप◾बीजेपी नेता राज्यवर्धन राठौड़ का आरोप, 'भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हो रहे एंटी हिंदू'◾

दिल्ली: परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने 100 ‘लो-फ्लोर’ बसों, एक ‘प्रोटोटाइप इलेक्ट्रिक’ बस को दिखाई हरी झंडी

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सोमवार को शहर के इंद्रप्रस्थ डिपो से 100 ‘लो-फ्लोर’ वातानुकूलित सीएनजी बसों और एक ‘प्रोटोटाइप (नमूना) इलेक्ट्रिक’ बस को हरी झंडी दिखाई। गहलोत ने कहा कि ये बसें आधुनिक तथा पर्यावरण के अनुकूल हैं और शहर में प्रदूषण को कम करने में मदद करेंगी। दिल्ली सरकार की ‘क्लस्टर योजना’ के तहत लाईं गईं ये बसें, ‘पैनिक बटन’ तथा ‘ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम’ (जीपीएस) जैसी आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं।
 अप्रैल तक 300 ‘इलेक्ट्रिक’ बसें चलाने  प्रयास
इसमें दिव्यांग लोग भी आसानी से यात्रा कर पाएंगे। इन 100 बसों के शुरू होने के साथ ही शहर में सार्वजनिक परिवहन बसों की संख्या बढ़कर 7,000 हो गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी जनवरी में 100 ‘लो-फ्लोर’ वातानुकूलित संपीड़ित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) बसों और एक ‘प्रोटोटाइप इलेक्ट्रिक’ बस को हरी झंडी दिखाई थी। गहलोत ने तब कहा था कि सरकार, अप्रैल तक 300 ‘इलेक्ट्रिक’ बसें चलाने के लिए प्रयास कर रही है।
सुरक्षा का रखा गया पूरा ध्यान
परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इन बसों को झंडी दिखाकर रवाना करते हुए कहा कि ये बसें दिल्ली सरकार की क्लस्टर योजना के तहत शुरू की गई हैं। इन बसों में सुरक्षा व्यवस्था का पूरा ध्यान रखा गया है। बसों में पैनिक बटन के साथ जीपीएस भी है। ये बसें दिव्यांगों के लिए भी बेहद अनुकूल हैं।