BREAKING NEWS

आज का राशिफल (12 अगस्त 2022)◾मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾

आत्महत्या का फुल प्रूफ प्लान... घर को बनाया गैस चैम्बर! नोट में कहा- 'कमरे में घुसने के बाद ना जलाएं लाइटर'

दिल्ली के पॉश इलाके वसंत विहार में शनिवार को एक फ्लैट के अंदर एक ही परिवार के 3 सदस्यों की मौत हो गई, घर में एक महिला और उसकी दो बेटियों के शव पाए गए हैं। इस पूरी घटना को आत्महत्या का मामला बताया जा रहा है, पुलिस को आशंका है कि तीनों की मौत दम घुटने से हुई है साथ ही मौके से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। बता दें कि एक साल पहले परिवार के मुखिया की मौत कोरोना महामारी के कारण हो गई थी, जिस कारण से पूरा परिवार डिप्रेशन का शिकार हो गया था। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घर में मंजू अपनी दो बेटियों अंशिका और अंकू के साथ रहती थीं। मृत पाई गईं दोनों बेटियों की उम्र 30 साल के आसपास बताई जा रही है, घर की बड़ी मंजू कई बिमारियों से झूझ रही थी जिस कारण वह बेड से उठ भी नहीं पाती थी।

कोरोना के कारण हो गई थी पिता की मौत 

कोरोना के कारण मंजू के पाती का देहांत होने के बाद यह परिवार आर्थिक तंगी का सामना कर रहा था, जिस कारण दोनों बेटियां धीरे-धीरे डिप्रेशन का शिकार होने लगी थी। पड़ोसियों से मिली जानकारी के मुताबिक वसंत अपार्टमेंट में ग्राउंड फ्लोर पर मृत परिवार के नाम दो फ्लैट थे, एक जिसमें उनका परिवार रहता था और दूसरे फ्लैट को उन्होंने किराए पर दिया हुआ था जो की कुछ महीने पहले ही खाली हो गया था। इस घर में पहले काम करने वाली महिला ने बताया की परिवार पैसों की कमी से बहुत ज्यादा परेशान था, राशन के पैसे मांगने के लिए ही यह नौकरानी उनके घर पर सुबह से कई बार गई, लेकिन दरवाजा नहीं खुला साथ ही कई बार कॉल करने के बाद भी किसी ने फोन नहीं उठाया। जिसके बाद महिला ने मृतकों के पड़ोसियों को इस बात की जानकारी दी, पड़ोसियों ने खिड़की से अंदर झांकने की कोशिश की तो उन्हें फ्लैट में किसी जहरीली गैस का अहसास हुआ। 

घर को बनाया हुआ था गैस चैम्बर 

इस पूरे घटनाक्रम के बाद पुलिस को सूचित किया गया, डीसीपी साउथ वेस्ट के मुताबिक पुलिस को पीसीआर से फोन आया कि वसंत अपार्टमेंट सोसाइटी के एक कमरे में अंदर से ताला लगा हुआ है और परिवार के लोग दरवाजा नहीं खोल रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो घर से 3 शव बरामद हुए। मंजू और उनकी दो बेटियां अंशिका और अंकू की लाशें बिस्तर पर मिली। घर के अंदर मिले एक नोट के आधार पर महिलाओं ने घर को पॉलीथिन से पैक कर घर को गैस चेंबर बना दिया था, यह आत्महत्या से मरने की उनकी योजना का हिस्सा था। 

पोस्टमॉर्टम के लिए भेजे गए तीनों शव 

उन्होंने खिड़कियों को पॉलिथीन से ढक दिया, बाहर का रोशनदान भी पैक किया हुआ था, गैस सिलेंडर खुला हुआ था। जैसे ही पुलिस ने घर में एंटर किया उन्हें एक नोट मिला जिसमें लिखा था, "बहुत अधिक घातक गैस, दरवाजा खोलकर माचिस या लाइटर न जलाएं, घर बहुत खतरनाक जहरीली गैस से भरा हुआ है।" यह नोट आग लगने की किसी भी घटना से बचने के लिए लिखा गया है, पुलिस ने कहा कि पिता की अप्रैल 2021 में कोविड के कारण मृत्यु हो गई थी और तब से परिवार डिप्रेशन में था। पत्नी मंजू बीमारी के कारण बिस्तर पर पड़ी थी। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है आगे की जांच की जा रही है।