नई दिल्ली : दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बच्चों के लिए अतिरिक्त कमरे बनवाने सहित 1572 करोड़ रुपये की छह परियोजनाओं को एक्सपेंडेड फाइनेंस कमेटी ने शुक्रवार को मंजूरी दी। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैसला लिया गया कि 326.36 करोड़ रुपये की लागत से दक्षिणी और दक्षिणी पूर्वी जिले के जोन 25 व 29 के स्कूलों में अतिरिक्त कक्षाएं बनाई जाएंगी।

इन कमरों के बनने के बाद हजारों बच्चों को फायदा होगा। फैसले के तहत 1587 अतिरिक्त कमरों की लागत की समीक्षा की गई। साथ ही 526.66 करोड़ रुपये की लागत से ओखला स्थित जीबी पंत इंजीनियरिंग कॉलेज एंड पॉलिटेक्निक का विकास किया जाएगा। यहां पर नया कैंपस तैयार किया जाएगा।

इसके अलावा चांदनी चौक, लाल जैन मंदिर से फतेहपुरी मस्जिद तक पुनर्विकास किया जाएगा। 65.63 करोड़ रुपये की लागत से यहां फुटपाथ बनाने व नॉन मोटर व्हीकल के लिए चांदनी चौक, लाल जैन मंदिर से फतेपुरी मस्जिद तक सुविधा विकसित करने का फैसला लिया गया।

अस्पतालों में बढ़ेंगे बेड…
राजधानी के सरकारी अस्पतालों में एक हजार बेड की संख्या बढ़ाने के लिए ईएफसी ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। इन फैसले के तहत द्वारका के डाबरी स्थित दादा देव अस्पताल को फिर से विकसित किया जाएगा। 53.44 करोड़ रुपये की लागत से यहां सुविधाओं को विकसित कर बेड की संख्या 106 से बढ़ाकर 281 की जाएगी।

वहीं 244.35 करोड़ रुपये की लागत से नरेला स्थित सत्यवती राजा हरीश चंद्र अस्पताल में वर्तमान में 200 बेड के इस अस्पताल को 773 बेड के अस्पताल में बदला जाएगा। इसमें 513 बेड केंसर मरीजों के लिए होगा जबकि 260 बेड मैटरनिटी व ट्रामा सेंटर के लिए होगा। इसके अलावा शास्त्री पार्क स्थित जगप्रवेश चंद्र अस्पताल में सुविधाओं को बढ़ाने के लिए 189.77 करोड़ रुपये बिस्तरों की संख्या 339 से बढ़ाकर 560 करने का फैसला लिया गया।

जाम से मिलेगी मुक्ति… जाम से मुक्ति दिलाने के लिए दिल्ली सरकार ने दो फ्लाईओवर को हरी झंडी दी। फैसले के तहत आश्रम से डीएनडी फ्लाईओवर तक फ्लाईओवर का विस्तार किया जाएगा। 128.95 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाले इस फ्लाईओवर से ट्रैफिक सामान्य रूप से चल पाएगा। इसके अलावा नजफगढ़ रोड पर छावला में छह लेन का आरसीसी फ्लाईओवर बनाया जाएगा। 36.70 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस फ्लाईओवर से दिल्ली-हरियाणा के कई गांव को फायदा होगा।