BREAKING NEWS

कांग्रेस का दावा - हम फिर से बनाएंगे सरकार◾बंगाल चुनाव बाद हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता की मौत मामले में CBI ने सात लोगों को किया गिरफ्तार ◾दिल्ली कोविड : बीते 24 घंटों में आए 4,044 नए मामले, कल के मुकाबले कम हुई मौतें ◾वी.अनंत नागेश्वरन ने संभाला देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद, आम बजट से पहले केंद्र सरकार ने किया ऐलान◾मिसाइल आपूर्ति करने वाले देशों के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हुआ भारत, इस देश को देगा शक्तिशाली ब्रह्मोस ◾मुजफ्फरनगर: साझा प्रेस वार्ता में अखिलेश और जयंत चौधरी ने दिखाई अपनी ताकत, जानिए क्या बोले दोनों नेता◾केस दर्ज होने के बाद श्वेता तिवारी ने मांगी माफी, तोड़-मरोड़कर दिखाया जा रहा बयान, जानें पूरा मामला◾यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व CM प्रतापसिंह राणे ने इलेक्शन नहीं लड़ने का लिया फैसला◾यूपी : चुनाव प्रचार के लिए 31 जनवरी को अमित शाह देंगे आजम के गढ़ में दस्तक, घर-घर मांगेगे वोट ◾भय्यू महाराज खुदकुशी मामला: एक महिला समेत तीन सहयोगियों को 6 साल की सश्रम कारावास की सजा◾कोविड टीकाकरण : देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी एहतियाती खुराक, सरकार ने दी जानकारी ◾BJP ने SP की लिस्ट को बताया माफियाओं की सूची, कानून-व्यवस्था और विकास पर अखिलेश को दी चुनौती ◾दिल्ली : विवेक विहार गैंगरेप मामले में 9 महिलाओं समेत अब तक 11 गिरफ्तार◾खुलकर आई धनखड़ Vs TMC की लड़ाई, पार्टी लाएगी राज्यपाल के खिलाफ प्रस्ताव, अन्य दलों से मांगेगी सहयोग ◾यूपी: 'लाल टोपी वाले गुंडे' वाले बयान का सपा उठा रही चुनावी फायदा, कार्यकर्ताओं के लिए बना स्टेटस सिम्बल ◾चौथे चरण के लिए BSP ने की 53 उम्मीदवारों की घोषणा, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों में बनाया संतुलन ◾

दिल्ली की वायु गुणवत्ता सीजन के सबसे खराब स्तर पर पहुंची, EPCA कर सकता है कड़े कदमों की घोषणा

दीपावली से दो दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता शुक्रवार को इस मौसम के सबसे खराब स्तर पर पहुंच गई। हवा की गति धीमी होने की वजह से प्रदूषकों का जमाव आसान हो गया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अधिकृत पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण शुक्रवार को 10 सदस्यीय प्रदूषण रोधी कार्यबल की सिफारिशों को लागू करने पर विचार कर सकता है।

इन सिफारिशों के तहत दिल्ली-एनसीआर में 26 से 30 अक्टूबर तक रात में निर्माण कार्य पर प्रतिबंध लगाना और पाइप्ड नैचुरल गैस (पीएनजी) का इस्तेमाल नहीं करने वाले उद्योगों को बंद रखना शामिल है। शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे शहर का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 315 रहा, जबकि गुरुवार शाम को यह 311 था। 

राष्ट्रीय राजधानी के ज्यादातर स्थानों पर एक्यूआई “बहुत खराब” की श्रेणी में दर्ज किया गया जबकि कुछ इलाकों में इसकी स्थिति “गंभीर” की तरफ बढ़ रही है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के डेटा के मुताबिक नेहरू नगर, अशोक विहार, जहांगीरपुरी, रोहिणी, वजीरपुर, बवाना, मुंडका और आनंद विहार में एक्यूआई क्रमश: 340, 335, 339, 349, 344, 363, 381 और 350 दर्ज किया गया।

पड़ोस के क्षेत्रों - बागपत, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, गुड़गांव और नोएडा में एक्यूआई क्रमश: 312, 336, 311, 312 और 320 दर्ज किया गया। शून्य से 50 के बीच के एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 से 100 को ‘संतोषजनक’, 101 से 200 को ‘मध्यम’, 201 से 300 को ‘खराब’, 301 से 400 को ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 को ‘गंभीर’ माना जाता है। 

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता अनुमान एवं अनुसंधान सेवा- सफर ने बताया, “वायु गति कम होने से दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर नकारात्मक असर पड़ना शुरू हो गया है, जिससे वायु संचार के कारक बुरी तरह घटकर कणों के बिखराव को प्रभावित कर रहे हैं।” 

सफर ने कहा है कि अगले दो दिनों तक धीमी सतही हवाएं चलती रहेंगी। नतीजन, एक्यूआई “बहुत खराब’’ के उच्च से मध्यम रेंज के बीच रह सकता है। संस्था ने कहा है कि 28 अक्टूबर तक पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है। इसे देखते हुए इस बार की दिवाली पर स्थिति उतनी खराब नहीं होगी, जितनी पिछले साल हुई थी।