BREAKING NEWS

राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

डा. हर्षवर्धन बोल- आप सरकार की ऑड-ईवन योजना औचित्य सवालों के घेरे में

स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने दिल्ली में वायु प्रदूषण कम करने के केजरीवाल सरकार के दावे के बावजूद हवा की गुणवत्ता खतरनाक स्तर पर पहुंचने के बाद अपनाये जाने वाले सम-विषम फार्मूले को फिर लागू करने के दिल्ली सरकार के फैसले के औचित्य को सवालों के घेरे में खड़ा किया है। 

डा. हर्षवर्धन ने मंगलवार को कहा कि एक तरफ केजरीवाल सरकार दिल्ली में वायु प्रदूषण को काबू में करने का दावा करती है और दूसरी तरफ सम-विषम फार्मूला भी लागू कर रही है। इससे दिल्ली में सम-विषम नंबर नियम लागू करने के औचित्य और केजरीवाल का दावा सवालों के घेरे में आ जाता है। 

उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘सम-विषम फार्मूला, हवा की गुणवत्ता बहुत खराब होने पर लागू किया जाता है। एक तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री राजधानी में हवा की गुणवत्ता को सुधारने का दावा कर रहे हैं, तो फिर इस सम-विषम योजना की जरूरत क्यों पड़ गयी?’’ उन्होंने कहा कि यह सर्वविदित है कि बतौर केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री, हमने (केन्द्र सरकार) दिल्ली में दमघोंटू हवा से जानलेवा स्थिति में पहुंचे वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये पिछले साल व्यापक मुहिम चलायी थी। 

उन्होंने सम-विषम फार्मूला लागू करने के दिल्ली सरकार के फैसले पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुये कहा, ‘‘ग्रेडेड एक्शन प्लान के मानकों के मुताबिक अभी हवा की गुणवत्ता इतनी खराब नहीं है, जिसके कारण सम-विषम फार्मूला लागू करना पड़े।’’ उल्लेखनीय है कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में चार से 15 नवंबर तक सम-विषम फार्मूला लागू करने की हाल ही में घोषणा की थी। इसके तहत एक दिन सम नंबर वाले वाहन चल सकेंगे और दूसरे दिन विषम नंबर वाले वाहन चल सकेंगे।