पश्चिमी दिल्ली : राजधानी में नशे और रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला पश्चिम दिल्ली के राजौरी गार्डन का है, जहां रविवार तड़के शराब के नशे में धुत एक युवक ने अपनी होंडा सिविक कार से खूब कोहराम मचाया। नशे में धुत युवक ने फुटपाथ पर सो रहे चार लोगों को कुचल दिया। इस घटना में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को डीडीयू अस्पताल में दाखिल कराया गया है। मृतकों की पहचान नूरा (50) और कृष्ण कुमार दूबे उर्फ शुक्ला (48) के रूप में हुई है। वहीं घायल रामसिंह (55) और मनोज (35) का इलाच जारी है। पुलिस ने आरोपी देवेश कुमार (23) को गिरफ्तार कर होंडा सिविक कार जब्त कर ली है। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि देवेश के पास ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या (आईपीसी की धारा 304) के तहत मामला दर्ज किया है।

जिले की डीसीपी मोनिका भारद्वाज के अनुसार, घटना रविवार तड़के 4.30 बजे ईएसआई अस्पताल के सामने फुटपाथ पर हुआ। हादसे के चश्मदीद रामसिंह ने बताया कि वह ईएसआई अस्पताल के सामने फुटपाथ पर मोनू की दुकान के बाहर अपने तीन साथी नूरा, कृष्ण और मनोज के साथ सोते हैं। सभी रिक्शा चालक हैं। तड़के वह बीड़ी पीने के लिए उठा तो अचानक उसने देखा कि पश्चिम विहार की ओर से एक तेज रफ्तार कार आई और सो रहे लोगों समेत उस पर चढ़ गई। हादसे में नूरा और कृष्ण बुरी तरह घायल हो गए। इधर कार वहीं फंस गई। शोर शराबा होने के बाद कार चालक को मौके पर ही दबोच लिया गया।

लूटने में रहा नाकाम तो गर्दन में घोंपा चाकू, मौत

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पहुंची पुलिस ने राम सिंह समेत सभी घायलों को सामने ईएसआई अस्पताल में दाखिल कराया, जहां नूरा व कृष्ण को मृत घोषित कर दिया गया। रामसिंह का ईएसआई अस्पताल में इलाजरत है, जबकि मनोज को डीडीयू अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस को कार से एक शराब की बोतल बरामद हुई है। आरोपी को थाने लाकर पूछताछ की गई तो उसने बताया कि रात भर उसने दोस्तों के साथ शराब पी। उसके बाद उसने पश्चिम विहार अपने एक दोस्त को ड्राप किया। हादसे के वक्त वह पश्चिम विहार से दक्षिण दिल्ली अपने एक दोस्त के घर जा रहा था। जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि आरोपी देवेश का पिता रमेश लाल कुमार का प्लास्टिक का पश्चिम दिल्ली में बड़ा कारोबार है।