BREAKING NEWS

नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले CM केजरीवाल का रोड शो, परिवार भी हुआ शामिल◾भाजपा के 11वें अध्यक्ष पद के लिए जेपी नड्डा ने दाखिल किया नामांकन◾परीक्षा पे चर्चा 2020 : छात्रों से बोले PM मोदी-टेक्नोलॉजी को अपना दोस्त बनाएं, उसके गुलाम न बनें◾मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रॉबर्ट वाड्रा के करीबी सीसी थंपी को ईडी ने किया गिरफ्तार◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾

डीयू : डूटा का वीसी के घर के बाहर हल्ला बोल

नई दिल्ली : दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के फिजिकल एजुकेशन टीचर्स की सेवानिवृत्त आयु घटाए जाने के मामले को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) के बैनर तले मंगलवार को शिक्षकों ने डीयू कुलपति के घर के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। बताया गया है कि विवेकानंद कॉलेज की एक शिक्षिका व श्याम लाल कॉलेज के शिक्षक को 62 में सेवानिवृत्ति करने का प्रयत्न किया जा रहा है। इसके विरोध में विभिन्न कॉलेजों के फिजिकल एजुकेशन टीचर्स के साथ डूटा के अध्यक्ष डॉ. राजीव रे, उपाध्यक्ष सुधांशु कुमार, सचिव डॉ. विवेक कुमार चौधरी, सह सचिव आलोक पांडेय, प्रो. हंसराज सुमन, डॉ. अजय भागी आदि धरने में शामिल हुए।

इस बारे में डूटा के अध्यक्ष राजीव रे ने बताया कि डीयू की कार्यकारी परिषद ने अपने रेजुलेशन 10 नवंबर 1990 को 127 में फिजिकल एजुकेशन टीचर्स को लेक्चरर का दर्जा दिया है। इसी के आधार पर डीयू के कॉलेजों में इन्हें बतौर लेक्चरर की नियुक्तियां दी हैं। ऐसे में इन्हें 62 वर्ष में जबरन सेवानिवृत्ति करना गलत है। हम इसका विरोध करते हैं। वहीं आलोक पांडेय ने बताया कि डीयू के वीसी ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए डीयू के शिक्षकों को शिक्षक न मानकर डायरेक्टर, फिजिकल एजुकेशन मानते हुए जबरदस्ती 62 वर्ष में रिटायर करने पर आमदा है।

जिसके खिलाफ हमारी लड़ाई आरपार की होगी। अकादमिक परिषद के पूर्व सदस्य प्रो. हंसराज ने बताया कि विवेकानंद और श्यामलाल कॉलेज (सांध्य) के नियमों की अवहेलना करते हुए क्रमशः डॉ. मीरा सूद और एस के तनेजा को 62 वर्ष की उम्र में ही जबरन सेवानिवृत्ति देना चाहते हैं। जबकि डीयू के इतिहास में आज तक कोई भी फिजिकल एजुकेशन के टीचर्स 65 साल से पहले सेवानिवृत्त नहीं हुए हैं।

उनका कहना है कि डीयू से पिछले तीन दशकों में 30 से अधिक शिक्षक 65 वर्ष में सेवानिवृत्त हो चुके हैं तो इनके साथ भेदभाव क्यों? उन्होंने बताया है कि फिजिकल एजुकेशन के टीचर्स को अन्य शिक्षकों की भांति माने जाने की मांग और उन्हें भी 65 साल में सेवानिवृत्ति करने की मांग को लेकर डूटा ने अपना दो घण्टे धरना प्रदर्शन वाइस चांसलर ऑफिस के सामने दिया।