BREAKING NEWS

रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾सोनिया ने दिल्ली के वायु प्रदूषण पर चिंता जताई ◾लोकसभा में उठा प्रदूषण का मुद्दा: पराली जलाने के बजाय वाहनों, उद्योगों को ठहराया गया जिम्मेदार . संसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे श्रीलंका , नये राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात◾आप' के साथ दिल्ली के 'वाटर-वार' में कूदे पासवान◾दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.0 रही तीव्रता◾TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾राज्यसभा मार्शल्स की नई वर्दी पर उठे सवाल, वैंकेया नायडू ने पुनर्विचार के दिए आदेश◾मायावती ने प्रदूषण पर जताई चिंता, कहा- संसद में चर्चा के बाद ठोस नीति बनाए सरकार ◾हंगामे के बाद राज्यसभा दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित, लोकसभा में किसानों के मुद्दे को लेकर विपक्ष ने की नारेबाजी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

डीयू : डूटा का वीसी के घर के बाहर हल्ला बोल

नई दिल्ली : दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के फिजिकल एजुकेशन टीचर्स की सेवानिवृत्त आयु घटाए जाने के मामले को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) के बैनर तले मंगलवार को शिक्षकों ने डीयू कुलपति के घर के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। बताया गया है कि विवेकानंद कॉलेज की एक शिक्षिका व श्याम लाल कॉलेज के शिक्षक को 62 में सेवानिवृत्ति करने का प्रयत्न किया जा रहा है। इसके विरोध में विभिन्न कॉलेजों के फिजिकल एजुकेशन टीचर्स के साथ डूटा के अध्यक्ष डॉ. राजीव रे, उपाध्यक्ष सुधांशु कुमार, सचिव डॉ. विवेक कुमार चौधरी, सह सचिव आलोक पांडेय, प्रो. हंसराज सुमन, डॉ. अजय भागी आदि धरने में शामिल हुए।

इस बारे में डूटा के अध्यक्ष राजीव रे ने बताया कि डीयू की कार्यकारी परिषद ने अपने रेजुलेशन 10 नवंबर 1990 को 127 में फिजिकल एजुकेशन टीचर्स को लेक्चरर का दर्जा दिया है। इसी के आधार पर डीयू के कॉलेजों में इन्हें बतौर लेक्चरर की नियुक्तियां दी हैं। ऐसे में इन्हें 62 वर्ष में जबरन सेवानिवृत्ति करना गलत है। हम इसका विरोध करते हैं। वहीं आलोक पांडेय ने बताया कि डीयू के वीसी ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए डीयू के शिक्षकों को शिक्षक न मानकर डायरेक्टर, फिजिकल एजुकेशन मानते हुए जबरदस्ती 62 वर्ष में रिटायर करने पर आमदा है।

जिसके खिलाफ हमारी लड़ाई आरपार की होगी। अकादमिक परिषद के पूर्व सदस्य प्रो. हंसराज ने बताया कि विवेकानंद और श्यामलाल कॉलेज (सांध्य) के नियमों की अवहेलना करते हुए क्रमशः डॉ. मीरा सूद और एस के तनेजा को 62 वर्ष की उम्र में ही जबरन सेवानिवृत्ति देना चाहते हैं। जबकि डीयू के इतिहास में आज तक कोई भी फिजिकल एजुकेशन के टीचर्स 65 साल से पहले सेवानिवृत्त नहीं हुए हैं।

उनका कहना है कि डीयू से पिछले तीन दशकों में 30 से अधिक शिक्षक 65 वर्ष में सेवानिवृत्त हो चुके हैं तो इनके साथ भेदभाव क्यों? उन्होंने बताया है कि फिजिकल एजुकेशन के टीचर्स को अन्य शिक्षकों की भांति माने जाने की मांग और उन्हें भी 65 साल में सेवानिवृत्ति करने की मांग को लेकर डूटा ने अपना दो घण्टे धरना प्रदर्शन वाइस चांसलर ऑफिस के सामने दिया।