BREAKING NEWS

झारखंड में रविवार को राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी की चुनाव सभाएं◾सोनिया ने रविवार को बुलाई संसदीय रणनीति समूह की बैठक, नागरिकता विधेयक पर होगी चर्चा ◾PM मोदी ने वैज्ञानिकों का कम लागत वाली प्रौद्योगिकियों के विकास का किया आह्वान ◾NIA ने आईएसआईएस 2 संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र किया दायर◾उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने मरने से पहले कहा-'मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहतीं' ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता युवती का शव उसके गांव लाया गया ◾राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा स्थगित

 parliament winter

एक बार के स्थगन के बाद दोपहर 12 बजे बैठक शुरू होने पर भी सदन में कांग्रेस सदस्यों का हंगामा जारी रहा। पार्टी के वरिष्ठ सदस्य आनंद शर्मा ने एक बार फिर मनमोहन सिंह के खिलाफ टिप्पणी का मुद्दा उठाने का प्रयास किया। शर्मा ने मांग की कि प्रधानमंत्री मोदी को सदन में आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए क्योंकि पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ टिप्पणी की गयी है और वह इस सदन के सदस्य भी हैं। यह सदस्य के विशेषाधिकार से जुड़ा मामला है।

सभापति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें यह मुद्दा उठाने की अनुमति नहीं दी और कहा कि यह समय प्रश्नकाल का है। उन्होंने सदस्यों से सवाल किया कि वे प्रश्नकाल चाहते हैं या नहीं। नायडू ने कहा कि नियम 267 के तहत दिए गए नोटिस पर उन्होंने गौर किया तथा उसे खारिज कर दिया है। उन्होंने कांग्रेस सदस्यों से कहा कि उन्हें उपयुक्त नोटिस देना चाहिए। लेकिन सदन में कांग्रेस सदस्यों का हंगामा जारी रहा। इसके जवाब में भाजपा के कुछ सदस्यों ने खड़े होकर सदन में प्रश्नकाल चलने देने की मांग उठायी।

नायडू ने सदन में हंगामे पर आपत्ति जताते हुए सदस्यों से बैठ जाने की अपील की। उन्होंने कहा कि पूरा देश हमें और सदन को देख रहा है और ऐसा आचरण शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि संसद में नारेबाजी की अनुमति नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि सदन में हंगामे से बाहर गलत संदेश जाएगा। इसके बाद उन्होंने बैठक को पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया।

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह के खिलाफ की गई कथित टिप्पणी को लेकर आज राज्यसभा में भारी हंगामा किया जिसकी वजह से सदन की बैठक शुरू होने के करीब 15 मिनट बाद ही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे की वजह से सदन में शून्यकाल नहीं हो पाया। सदन में आवश्यक दस्तावेज पटल पर रखवाने के बाद उप सभापति पी जे कुरियन ने जैसे ही शून्यकाल शुरू करने को कहा, कांग्रेस सदस्यों ने प्रधानमंत्री द्वारा गुजरात में सिंह के खिलाफ की गई टिप्पणी का मुद्दा उठाया और उनसे स्पष्टीकरण की मांग की।

प्रधानमंत्री से माफी की मांग करते हुए सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा विपक्ष की आवाज को दबाया नहीं जा सकता। अगर हम यहां जनता से जुड़े मुद्दे नहीं उठा सकते तो हमारे यहां आने का मतलब ही क्या है? आजाद ने कहा पूर्व प्रधानमंत्री पर आरोप लगाये गये हैं जो कि इस सदन के सदस्य हैं। प्रधानमंत्री को सदन में आ कर स्पष्टीकरण देना चाहिए और माफी मांगना चाहिए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने मोदी का नाम लिए बिना कहा आप क्या वोट की खातिर कोई भी आरोप लगा देंगे ? आप देश के प्रति जवाबदेह हैं। आपको आरोप साबित करना चाहिए।

उनकी पार्टी के अन्य सदस्यों ने आजाद की बात का समर्थन किया और आसन के समक्ष आ कर नारे लगाने लगे। हंगामे की वजह से उप सभापति पी जे कुरियन ने 11 बज कर करीब 15 मिनट पर बैठक दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले बैठक शुरू होने पर कुरियन ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए। इसी बीच, कांग्रेस के सदस्य और कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा ने कहा कि उन्होंने नियम 267 के तहत सदन का कामकाज स्थगित करने के लिए नोटिस दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री पर लगाए गए आरोपों को गंभीर बताते हुए आजाद ने मांग की कि सदन की भावना को देखते हुए इस मुद्दे पर सदन में एक प्रस्ताव पेश करने की अनुमति दी जानी चाहिए।

उप सभापति ने कहा कि आसन को शर्मा की ओर से, सपा के नरेश अग्रवाल की ओर से और तृणमूल कांग्रेस के सुखेन्दु शेखर राय की ओर से नियम 267 के तहत नोटिस मिले हैं लेकिन सभापति ने इन नोटिसों को अस्वीकार कर दिया है। कुरियन ने कहा कि अगर सदस्य कोई मुद्दा उठाना चाहते हैं तो वे शून्यकाल के तहत निर्धारित तीन मिनट की अवधि में अपने मुद्दे उठा सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अगर सदस्य इस व्यवस्था से संतुष्ट नहीं हैं तो वे सभापति से इस बारे में विचार विमर्श कर सकते हैं। इस पर विपक्षी सदस्यों ने गहरी नाराजगी जाहिर की। आजाद ने कहा कि हर दिन नोटिस खारिज किए जा रहे हैं जो स्वीकार्य नहीं है।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।