BREAKING NEWS

कोविड-19 : राजधानी में 24 घंटो में कोरोना के 13,785 नए मामले सामने आये, 35 लोगो की हुई मौत◾CDS जनरल बिपिन रावत के छोटे भाई कर्नल विजय रावत हुए भाजपा में शामिल, उत्तराखंड से लड़ सकते हैं चुनाव ◾पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी आम आदमी नहीं बल्कि बेईमान आदमी हैं : केजरीवाल◾बदली राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे विधानसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहिए : उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री ◾पंजाब : सीएम चन्नी ने BJP और केंद्र सरकार पर लगाया आरोप, कहा-ईडी की छापेमारी मुझे फंसाने का एक षड्यंत्र ◾प्रधानमंत्री को पता था कि योगी कामचोरी वाले मुख्यमंत्री है इसलिए उन्हें पैदल चलने की सजा दी थी : अखिलेश यादव ◾PM मोदी ने 15 से 18 वर्ष आयु के 50 प्रतिशत से अधिक युवाओं को टीके की पहली खुराक लगाए जाने की सराहना की◾यूपी : जे पी नड्डा का बड़ा ऐलान, 'अपना दल' और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी भाजपा◾हरक सिंह की वापसी पर कांग्रेस में बढ़ी अंदरूनी कलह, बागी को ठहराया 'लोकतंत्र का हत्यारा', पूछे ये सवाल ◾समाजवादी पार्टी के नेताओं को भी पता है कि उनकी बेटियां एवं बहुएं भाजपा में सुरक्षित हैं : केन्द्रीय मंत्री ठाकुर ◾त्रिवेंद्र रावत ने चुनाव लड़ने से किया इंकार, नड्डा को लिखा पत्र, कहा- BJP की वापसी पर करना चाहता हूं फोकस ◾मुलायम परिवार में BJP की बड़ी सेंधमारी, अपर्णा यादव के बाद प्रमोद गुप्ता थामेंगे कमल, SP पर लगाए ये आरोप ◾PM मोदी, योगी और शाह समेत पार्टी के कई बड़े नेता BJP के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल, जानें पूरी लिस्ट ◾महाराष्ट्र: मुंबई में कोविड की स्थिति नियंत्रित, BMC ने हाईकोर्ट को कहा- घबराने की कोई बात नहीं◾राहुल गांधी ने साधा PM पर निशाना, बोले- LAC पर चीन द्वारा निर्मित पुल का उद्घाटन कहीं मोदी न कर दें ◾बाटला हाउस में मरे लोग आतंकी नहीं, तौकीर रजा ने किया कांग्रेस का समर्थन, राहुल-प्रियंका को बताया सेक्युलर ◾दिल्ली : त्रिलोकपुरी में संदिग्ध बैग से मिला लैपटॉप और चार्जर, कुछ देर के लिए मची अफरातफरी◾अखिलेश ने अपर्णा को BJP में शामिल होने पर दी बधाई, बोले- नेता जी ने की रोकने की बहुत कोशिश, लेकिन... ◾दिल्ली: संक्रमण दर में आई कमी, जैन बोले- पाबंदियां कम करने से पहले होगा कोरोना की स्थिति का आकलन ◾भारत में यूएई जैसे हमले की योजना बना रहा ISI, चीन से ड्रोन खरीद रहा पाकिस्तान◾

दिल्ली चुनाव प्रचार के लिए धुआंधार रैलियों और रोडशो : मोदी,केजरीवाल, राहुल और प्रियंका ने लगाए एक दूसरे पर आरोप

दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए महज दो दिन बचे हैं और ऐसे में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी तथा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की धुआंधार रैलियों और रोडशो से प्रचार अपने चरम पर पहुंच गया। तीनों पार्टियों ने एक दूसरे पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), बेरोजगारी और तुष्टीकरण की राजनीति के मुद्दे पर जमकर निशाना साधा। 

दिल्ली में आठ फरवरी को होने वाले मतदान के लिए पहली बार नेहरू-गांधी परिवार प्रचार के लिए उतरा। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा की ओर से दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि यहां एक ऐसी सरकार चाहिए जो तुष्टिकरण नहीं करे, बल्कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), अनुच्छेद-370 को खत्म करने और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर समर्थन करे। 

राहुल गांधी ने भाजपा और आप पर समाज में नफरत फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने सरकार पर इंडियन ऑयल, एअर इंडिया, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और रेलवे जैसे सार्वजनिक उपक्रमों तथा लाल किले को बेचने का आरोप लगाया। साथ ही यह भी कहा, ‘‘ यहां तक कि वह (मोदी) ताजमहल भी बेच सकते हैं।’’ 

प्रियंका गांधी ने मोदी पर रोजगार छिनने और शाहीनबाग मुद्दे पर संयोग-प्रयोग वाली टिप्पणी के मुद्दे पर निशाना साधते हुए पूछा कि क्या बेरोजगारी संयोग है या उनका प्रयोग है। 

सोमवार को एक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि शाहीन बाग और अन्य इलाके में सीएए विरोधी प्रदर्शन महज संयोग नहीं हैं बल्कि एक प्रयोग और राजनीतिक षड्यंत्र हैं ताकि देश के सौहार्द को नुकसान पहुंचाया जा सके। 

केजरीवाल ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पूरा चुनाव शाहीन बाग प्रदर्शन पर लड़ना चाहते हैं क्योंकि भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है। 

उन्होंने एनडीटीवी से कहा, ‘‘ भाजपा किसी और मुद्दे पर बात नहीं करेगी क्योंकि उसके पास बात करने के लिए कुछ नहीं है। केवल शाहीनबाग, शाहीनबाग, शाहीनबाग, हिंदू मुस्लिम, हिंदू मुस्लिम, हिंदू मुस्लिम, पाकिस्तान, पाकिस्तान, पाकिस्तान ...ये है उनके पास।’’ 

दिल्ली में दो दिन में दूसरी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक और अपनी सरकार की महत्वांक्षी आयुष्मान भारत योजना सहित विभिन्न मुद्दों को छुआ। 

द्वारका में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ आप उसे सजा दीजिए जिन्होंने सैन्य बलों का अपमान किया। आपकों अपना गुस्सा वोट के जरिये दिखाना है। दिल्ली को ऐसी सरकार नहीं चाहिए जो दुश्मनों को हमपर हमला करने का मौका दे।’’ 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में ऐसी सरकार चाहिए जो दिशा दे, न कि आरोप-प्रत्यारोप में शामिल रहे। 

हालांकि, सोमवार को कड़कड़डूमा में अपनी पहली रैली की तरह उन्होंने इस रैली के दौरान अपने भाषण में शाहीन बाग और शहर के अन्य स्थानों पर चल रहे संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शनों का कोई उल्लेख नहीं किया जबकि कड़कड़डूमा में उन्होंने कहा था कि यह संयोग नहीं है बल्कि देश का सौहार्द खत्म करने के लिए राजनीतिक साजिश है। 

करीब एक घंटे तक दिए गए भाषण में मोदी ने कहा, ‘‘दिल्ली को ऐसी सरकार की जरूरत है जो तुष्टिकरण का सहारा नहीं ले, बल्कि अनुच्छेद 370 के विशेष प्रावधानों को निरस्त करने और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर तमाम तरह के फैसलों पर देश का साथ दे।’’ 

उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दल संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के बारे में झूठ और अफवाह फैला रहे हैं। 

प्रधानमंत्री ने ‘आयुष्मान भारत योजना’ लागू नहीं करने के लिए केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा और पूछा कि अगर दिल्ली निवासी शहर के बाहर बीमार पड़ जाते हैं तो क्या ‘मोहल्ला क्लीनिक’ काम करेंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों ने देखा है कि आप सरकार कैसे घृणा की राजनीति करती है। 

मोदी ने कहा, ‘‘दिल्ली के लोगों ने देखा कि कैसे (आप) सरकार घृणा की राजनीति करती है। दिल्ली को ऐसी सरकार की जरूरत है जो दिशा दे न कि केवल आरोप लगाए।’’ 

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, “ नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल का (रोजगार सृजन से) कोई लेना देना नहीं है। वे एक भारतीय को दूसरे भारतीय से लड़ा कर सत्ता में बने रहना चाहते हैं।” 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि देश का मौजूदा माहौल, नफरत, हिंसा और महिलाओं पर हमले से भारत को नुकसान पहुंच रहा है और लोगों को इससे फायदा नहीं हो रहा है। 

जंगपुरा में एक रैली में उन्होंने कहा, “ मोदी और भाजपा को इससे लाभ हो सकता है, लेकिन भारतीयों को नहीं। अगर आप विकास और रोज़गार चाहते हैं, तो आपको लोगों के दिलों से नफरत मिटानी होगी।” 

राहुल ने आर्थिक मंदी और बेरोज़गारी के मुद्दे से नहीं निपटने और हिंसा को बढ़ावा देने के लिए भाजपा को आड़े हाथों लिया। 

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) का मकसद समाज में नफरत फैलाना है, जो कांग्रेस ने कभी नहीं किया। 

कांग्रेस नेता ने अपने भाषणों में अर्थव्यवस्था और बेरोज़गारी के बारे में बात नहीं करने लिए मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री में ऐसा करने की हिम्मत नहीं है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी और केजरीवाल केवल सत्ता के बारे में सोचते हैं और सत्ता में कायम रहने के लिए दो मिनट में कुछ भी घोषित कर सकते हैं। 

भाजपा सूत्रों के मुताबिक भाजपा ने दोबारा सत्ता पर काबिज होने के लिए अपने 240 सांसदों को घनी बसी कॉलोनियों, खातसौर पर गरीब मतदाताओं से संपर्क कर चुनाव प्रचार करने को कहा है। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संसदीय दल की बैठक में यह घोषण की।