BREAKING NEWS

उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती◾पुतिन का दावा-रूस ने बना ली कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन, बेटी को लगाया गया टीका◾ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक◾मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में PM मोदी में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने पर दिया जोर, कहा-महामारी बदल रही अपना रूप◾राजनीति में व्यक्तिगत शत्रुता का कोई स्थान नहीं, बस पार्टी के सामने जरूरी मुद्दों को रखा : सचिन पायलट◾जम्मू-कश्मीर के दो जिलों में ट्रायल के तौर पर 15 अगस्त के बाद शुरू होगी 4G इंटरनेट सेवा ◾CM गहलोत बोले- BJP की सरकार गिराने की साजिश रही नाकाम, हमारे सभी विधायक है हमारे साथ ◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में 53 हजार 601 नए मरीजों की पुष्टि, 871 लोगों ने गंवाई जान ◾मनरेगा पर राहुल ने शेयर किया ग्राफ, क्या सूट-बूट-लूट की सरकार समझ पाएगी गरीबों का दर्द◾बुलंदशहर : US में पढ़ने वाली छात्रा की छेड़खानी के दौरान सड़क हादसे में मौत◾UP : बागपत में BJP नेता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने जताया शोक ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का प्रकोप बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ के पार◾BSP विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ याचिका पर SC में आज होगी सुनवाई◾पायलट की वापसी के बाद कांग्रेस नेताओं ने जताई खुशी, कहा- 'स्वागत है सचिन'◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के पास हुई गोलीबारी के बाद ट्रंप ने अचानक छोड़ी कोरोना ब्रीफिंग◾हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मास्क पहनने वाले भी प्रदूषण से नहीं बच पाएंगे : एम्स

नई दिल्ली : 'द मास्क मूवी' का नाम तो ज्यादातर लोगों ने सुना होगा और कुछ ने देखी भी होगी, लेकिन यहां पर हम बात कर रहे हैं दिल्ली में प्रदूषण के चलते लोगों द्वारा पहने जाने वाले मास्क की। एम्स निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने स्पष्ट किया है कि अभी तक कोई भी ऐसी रिपोर्ट नहीं मिली जिससे कि मास्क को प्रदूषण से बचाव में कारगर माना जा सके। मास्क लगाना लोगों के लिए 'ऊंट के मुंह में जीरा' वाली कहावत के समान साबित हो रहा है। 

मतलब ये कि भले ही हम घरों से बाहर मास्क लगाकर निकलें, लेकिन वह हमारे स्वास्थ्य के लिए कारगर नहीं है। प्रदूषण का 200 फीसद स्तर बढ़ना साफ संकेत देता है कि हम सभी के लिए खतरे की घंटी तो बहुत पहले ही बज चुकी है, सवाल तो अब बचाव का है। डॉक्टरों की माने तो दिल्ली की हवा में पीएम 2.5 से भी छोटे कण होने की वजह से ज्यादातर मास्क इंसानों के लिए लाभ नहीं पहुंचा सकते। 

किसी भी शोध में यह सामने नहीं आया है कि मास्क पीएम 2.5 या इससे छोटे आकार के प्रदूषण से बचाने में असरदार हैं। उन्होंने बताया कि छोटे कण सांस के जरिए फेफड़ों में पहुंचकर शरीर के सभी अंगों तक पहुंचकर नुकसान पहुंचाने लगते हैं। हालांकि प्रदूषित इलाकों में कुछ बेहतर मास्क का इस्तेमाल किया जाए तो कुछ हद तक राहत मिल सकती है।

एम्स दिल्ली छोड़ने का दे चुका है सलाह

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने राजधानी में पिछले कई दिनों से जारी हेल्थ इमरजेंसी पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि अब दिल्ली रहने लायक नहीं है। इसे छोड़ने में ही भलाई होगी। उन्होंने कहा था कि गर्भवती महिलाएं, दमा के मरीज और वृद्ध व्यक्ति तत्काल दिल्ली छोड़ने का प्रबंध करें।