BREAKING NEWS

देश में घुसे पाक और बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालो : शिवसेना ◾राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर PM मोदी और उपराष्ट्रपति नायडू ने दी बधाई, देशवासियों से की ये अपील◾मौलाना कल्बे सादिक बोले- देश मोदी-शाह की मर्जी से नहीं, संविधान से चलेगा◾तुर्की में 6.8 तीव्रता का भूकंप, 18 लोगों की मौत◾...जब दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म कर कार्यकर्ता के घर पहुंचे अमित शाह, खाया खाना◾केंद्र सरकार ने भीमा कोरेगांव मामले की जांच NIA को सौंपी, महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने की निंदा◾पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- SCO बैठक के लिए भारत के आमंत्रण का है इंतजार◾फांसी टलवाने के लिए सभी हथकंडे आजमा रहे निर्भया के दोषी, तिहाड़ जेल प्रशासन के खिलाफ आज होगी सुनवाई◾रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ PMLA मामला : प्रवासी कारोबारी थम्पी की हिरासत 4 दिनों के लिए बढ़ी ◾3-4 दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा : बी एस येदियुरप्पा◾CAA के बाद देश से वापस लौटने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है : BSF◾TOP 20 NEWS 24 January : आज की 20 सबसे बड़ी ◾विजयवर्गीय के पोहे वाले बयान पर जावड़ेकर बोले- मैं भी पोहा खाता हूं ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- चुनाव काम के आधार पर लड़ा जाएगा, न कि जाति या धर्म के आधार पर◾कांग्रेस, आप ने वोट बैंक की राजनीति की, भाजपा जो कहती है, वह करती है : नड्डा ◾प्रधानमंत्री मोदी बोले- भारत सिर्फ 130 करोड़ लोगों का घर ही नहीं बल्कि एक जीवंत परंपरा है◾भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-0 से आगे ◾कोरोना वायरस : मुंबई में मिले दो संदिग्ध मरीज, कस्तूरबा अस्पताल में बनाया गया विशेष वार्ड◾महाराष्ट्र : राकांपा नेता नवाब मलिक बोले- मोदी सरकार ने पवार के दिल्ली स्थित आवास से सुरक्षा हटाई◾योग गुरु बाबा रामदेव बोले-महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करे सरकार◾

DU में उच्च कटऑफ के चलते ईडब्ल्यूएस कोटा खाली

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए दाखिले में शामिल किए गए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) कोटे के तहत महज 27 फीसदी सीटें भरी गई हैं। दरअसल, विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक अंक ऊंचा रहने के कारण ईडब्ल्यूएस कटेगरी कोटे के तहत कम छात्रों का दाखिला हो पाया है। 

केंद्र सरकार ने जनवरी में जब सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के लिए 10 फीसदी आरक्षण की घोषणा की थी तो 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों ने इस फैसले का स्वागत किया था। लेकिन दिल्ली विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, विश्वविद्यालय में दूसरी कटऑफ लिस्ट जारी होने के बाद इस कोटे के तहत महज 27 फीसदी छात्रों का दाखिल हो पाया है। 

विश्वविद्यालय में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के तहत 5,600 सीटें हैं, जिनमें से महज 1,527 छात्रों ने इस कोटे के तहत अंडरग्रेजुएट कोर्स में दाखिला लिया है। छात्रों और प्रोफेसरों का कहना है कि दाखिले के लिए आवश्यक न्यूनतम अंक यानी कटऑफ ज्यादा होने के कारण दाखिले में कमी रही है। यह सामान्य कटेगरी के छात्रों के समान ही है। विश्वविद्यालय में उपलब्ध 62,000 सीटों में 80 फीसदी सीटें भरी जा चुकी हैं, क्योंकि 10 जुलाई तक विश्वविद्यालय में 50,989 छात्रों ने दाखिला ले रखा था। 

श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) के बी. ए. अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के तहत दाखिल के लिए तीसरी कटऑफ लिस्ट में आवश्यक अंक 97.25 फीसदी हैं। हालांकि अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में दाखिला पहली कटऑफ लिस्ट के बाद ही बंद हो गया था, लेकिन अनुसूचित जाति (एससी), ईडब्ल्यूएस और कश्मीरी प्रवासियों के लिए अभी तक प्रवेश खुला है। ईडब्ल्यूएस का कटऑफ सबसे ज्यादा है। यही परिदृश्य ज्यादातर कॉलेजों में है। 

रामजस कॉलेज में अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में दाखिले के लिए कटऑफ फीसदी सामान्य श्रेणी (97.50)और ईडब्ल्यूएस (97)दोनों के लिए तकरीबन समान है। अंग्रेजी (ऑनर्स) में दाखिले के लिए सामान्य श्रेणी का कटऑफ 96 फीसदी और इडब्ल्यूएस का 95.50 फीसदी था, जबकि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का 92.75 फीसदी, अनुसूचित जनजाति (एसटी) का 88.75 फीसदी और शारीरिक रूप से अशक्तों के लिए 88.75 फीसदी कटऑफ था। 

गोवा : दिल्ली में नड्डा के सामने BJP में शामिल हुए 10 कांग्रेस MLA