BREAKING NEWS

डेंगू मरीजों से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर PMCH में फेंकी गई स्याही, देखें VIDEO◾NSG के स्थापना दिवस समारोह में बोले अमित शाह-आतंकवाद के खिलाफ जारी है निर्णायक लड़ाई ◾महाराष्ट्र : BJP ने जारी किया संकल्प पत्र, 1 करोड़ नौकरी और राज्य को सूखा मुक्त बनाने का किया वादा◾PMC बैंक घोटाला : प्रदर्शन के बाद घर लौटे खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत, बैंक में जमा थे 90 लाख◾अभिजीत बनर्जी को लेकर सिब्बल का PM मोदी पर कटाक्ष, कहा- काम पर लग जाइए, तस्वीरें कम खिंचवाइए◾भारत में बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश, बालाकोट में 50 आतंकियों को दी जा रही है ट्रेनिंग◾प्रियंका ने अभिजीत बनर्जी को दी नोबेल की बधाई, बोलीं- आशा है न्याय योजना वास्तविकता बनेगी◾उत्तर प्रदेश में बेरोजगार हुए 25 हजार होमगार्ड, योगी सरकार ने खत्म की ड्यूटी◾FATF में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान, ‘डार्क ग्रे’ सूची में डाला जा सकता है नाम◾महाराष्ट्र चुनाव: उद्धव ठाकरे की रैली के लिए तोड़ी गई स्कूल की दीवार◾राफेल पर PM मोदी का राहुल को जवाब, कहा- वे चाहते थे नया विमान न आने पाए◾CM नीतीश कुमार ने पटना में भारी बारिश से हुये जलजमाव की उच्चस्तरीय समीक्षा की ◾मोबाइल वैन के जरिए प्याज बेचने की दिल्ली सरकार की योजना बेहद सफल रही : केजरीवाल ◾रविशंकर प्रसाद बोले- अफवाह फैलाने वाले संदेशों के स्रोत तक हो एजेंसियों की पहुंच◾भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, PM ने ट्वीट कर दी बधाई◾TOP 20 NEWS 14 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ PM नरेंद्र मोदी ने नीदरलैंड के राजा-रानी से वार्ता की ◾हरियाणा विधानसभा चुनाव : PM मोदी बोले- विपक्ष में दम तो कहे कि 370 वापस लाएंगे◾हरियाणा: राहुल का PM पर वार, बोले- अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं मोदी◾अयोध्या विवाद : मुस्लिम पक्षकारों का आरोप-हिन्दु पक्ष से नहीं सिर्फ हमसे ही किए जा रहे है सवाल◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

DU में उच्च कटऑफ के चलते ईडब्ल्यूएस कोटा खाली

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के अंडरग्रेजुएट कोर्स के लिए दाखिले में शामिल किए गए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) कोटे के तहत महज 27 फीसदी सीटें भरी गई हैं। दरअसल, विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक अंक ऊंचा रहने के कारण ईडब्ल्यूएस कटेगरी कोटे के तहत कम छात्रों का दाखिला हो पाया है। 

केंद्र सरकार ने जनवरी में जब सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के लिए 10 फीसदी आरक्षण की घोषणा की थी तो 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों ने इस फैसले का स्वागत किया था। लेकिन दिल्ली विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, विश्वविद्यालय में दूसरी कटऑफ लिस्ट जारी होने के बाद इस कोटे के तहत महज 27 फीसदी छात्रों का दाखिल हो पाया है। 

विश्वविद्यालय में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के तहत 5,600 सीटें हैं, जिनमें से महज 1,527 छात्रों ने इस कोटे के तहत अंडरग्रेजुएट कोर्स में दाखिला लिया है। छात्रों और प्रोफेसरों का कहना है कि दाखिले के लिए आवश्यक न्यूनतम अंक यानी कटऑफ ज्यादा होने के कारण दाखिले में कमी रही है। यह सामान्य कटेगरी के छात्रों के समान ही है। विश्वविद्यालय में उपलब्ध 62,000 सीटों में 80 फीसदी सीटें भरी जा चुकी हैं, क्योंकि 10 जुलाई तक विश्वविद्यालय में 50,989 छात्रों ने दाखिला ले रखा था। 

श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) के बी. ए. अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में ईडब्ल्यूएस कटेगरी के तहत दाखिल के लिए तीसरी कटऑफ लिस्ट में आवश्यक अंक 97.25 फीसदी हैं। हालांकि अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में दाखिला पहली कटऑफ लिस्ट के बाद ही बंद हो गया था, लेकिन अनुसूचित जाति (एससी), ईडब्ल्यूएस और कश्मीरी प्रवासियों के लिए अभी तक प्रवेश खुला है। ईडब्ल्यूएस का कटऑफ सबसे ज्यादा है। यही परिदृश्य ज्यादातर कॉलेजों में है। 

रामजस कॉलेज में अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में दाखिले के लिए कटऑफ फीसदी सामान्य श्रेणी (97.50)और ईडब्ल्यूएस (97)दोनों के लिए तकरीबन समान है। अंग्रेजी (ऑनर्स) में दाखिले के लिए सामान्य श्रेणी का कटऑफ 96 फीसदी और इडब्ल्यूएस का 95.50 फीसदी था, जबकि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का 92.75 फीसदी, अनुसूचित जनजाति (एसटी) का 88.75 फीसदी और शारीरिक रूप से अशक्तों के लिए 88.75 फीसदी कटऑफ था। 

गोवा : दिल्ली में नड्डा के सामने BJP में शामिल हुए 10 कांग्रेस MLA