BREAKING NEWS

वैज्ञानिक नवाचार के लिए हब के रूप में उभर रहा भारत : जितेंद्र सिंह ◾कोरोना योद्धाओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं : हर्षवर्धन◾राज्य, जिलों को कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों का पूर्व पंजीकरण को-विन 2.0 पर कराना होगा ◾वाम, कांग्रेस व आईएसएफ गठबंधन ने जनहित सरकार पर दिया जोर, पहले दिन दिखी दरार ◾अमित शाह ने तमिलनाडु, पुडुचेरी में तमिल भाषा और संस्कृति की सराहना की ◾जम्मू-कश्मीर : फारूक अब्दुल्ला का बड़ा बयान, बोले- चाहता हूं कांग्रेस मजबूत हो◾कृषि कानून वापस नहीं होगा तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा : राकेश टिकैत◾गणतंत्र दिवस हिंसा के लिए केजरीवाल ने केंद्र को ठहराया जिम्मेदार, कहा- तीनों कृषि कानून किसानों के डेथ वारंट◾महाराष्ट्र सरकार के वन मंत्री संजय राठौड़ ने दिया इस्तीफा, टिकटॉक स्टार की आत्महत्या के बाद उठ रहे थे सवाल◾भाजपा के शासन में अमीरी-गरीबी की खाई बढ़ी, कांग्रेस सत्ता में आएगी तो न्याय योजना को किया जाएगा लागू : राहुल◾किसान आंदोलन को धार देने की जुगत में लगी BKU, मार्च महीने में होगी दर्जन भर महापंचायत◾ मन की बात के कार्यक्रम में मोदी ने तमिल भाषा न सीख पाने को बताया अपनी कमी◾BJP अध्यक्ष नड्डा 2 दिवसीय दौरे पर पहुंचे वाराणसी, CM योगी समेत कई पार्टी नेताओं ने किया स्वागत◾मन की बात : PM मोदी बोले- जल सिर्फ जीवन ही नहीं, आस्था और विकास की धारा भी◾नए साल में भारत का मिशन सफल, अमेजोनिया-1 समेत 18 अन्य उपग्रहों ने श्रीहरिकोटा से भरी उड़ान ◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 11.3 करोड़ से अधिक ◾Today's Corona Update : देश में कोरोना संक्रमण के सामने आए 16,752 नए मामले, 113 मरीजों की मौत◾ चुनावी कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए अमित शाह आज तमिलनाडु और पुडुचेरी का करेंगे दौरा ◾चिदंबरम ने PM से किया सवाल, बोले- किसानों से बातचीत के लिये दिल्ली सीमा पर क्यों नहीं जाते मोदी◾किसान आंदोलन के प्रति समर्थन जुटाने के लिए राकेश टिकैत इन 5 राज्यों का करेंगे दौरा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

किसान नेताओं ने ट्रैक्टर परेड शुरू करने के लिए 3 स्थान तय किए, शांतिपूर्वक आयोजित करने की अपील की

केंद्र सरकार द्वारा लाये गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। गणतंत्र दिवस पर 26 जनवरी को देश की राजधानी दिल्ली में किसान परेड निकालने की अनुमति मिलने के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने रविवार को प्रदर्शनकारी किसानों से शांतिपूर्ण तरीके से परेड निकालने की अपील की और परेड को लेकर उन्हें कुछ निर्देश दिए।  परेड शुरू करने के लिए तीन स्थान तय किए गए हैं जिनमें सिंघू, टीकरी एवं गाजीपुर बॉर्डर शामिल हैं।

तीन कृषि कानूनों के विरोध में देश की राजधानी की सीमाओं पर डेरा डाले किसानों की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों से कहा, "हम दिल्ली को जीतने नहीं जा रहे हैं, हम देश की जनता का दिल जीतने जा रहे हैं।" 

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा परेड की तैयारी को लेकर दिए गए निर्देश : 

1. परेड में ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ी चलेंगी, लेकिन ट्रॉली नहीं जाएगी। जिन ट्रालियों में विशेष झांकी बनी होगी उन्हें छूट दी जा सकती है। पीछे से ट्रॉली की सुरक्षा का इंतजाम करके जाएं। 

2. अपने साथ 24 घंटे का राशन पानी पैक करके चलें। जाम में फंसने पर ठंड से बचाव का इंतजाम भी रखें। 

3. हर ट्रैक्टर या गाड़ी पर किसान संगठन के झंडे के साथ-साथ राष्ट्रीय झंडा भी लगाया जाए। किसी भी पार्टी का झंडा नहीं लगेगा। 

4. अपने साथ किसी भी तरह का हथियार ना रखें, लाठी या जेली भी ना रखें। किसी भी भड़काऊ या नेगेटिव नारे वाले बैनर ना लगाएं। 

5 परेड में शामिल होने की सूचना देने के लिए आप 8448385556 पर एक मिस्ड कॉल लगा दें। 

परेड के दौरान हिदायतें : 

1. परेड की शुरुआत किसान नेताओं की गाड़ी से होगी। उससे पहले कोई ट्रैक्टर या गाड़ी रवाना नहीं होगी। हरे रंग की जैकेट पहने हमारे ट्रैफिक वॉलिंटियर की हर हिदायत को माने। 

2. परेड का रूट तय हो चुका है। उसके निशान लगे होंगे। पुलिस और ट्रैफिक वॉलिंटियर आपको गाइड करेंगे। जो गाड़ी रूट से बाहर जाने की कोशिश करेगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

3. संयुक्त किसान मोर्चा का फैसला है कि अगर कोई गाड़ी सड़क पर बिना कारण रुकने या रास्ते में डेरा जमाने की कोशिश करती है, तो हमारे वॉलंटियर उन्हें हटाएंगे। सभी गाड़ियां परेड पूरी करके वहीं वापस पहुंचेंगी जहां से चली थी। 

4. एक ट्रैक्टर पर ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर समेत पांच लोग सवार होंगे। बोनट, बंपर या छत पर कोई नहीं बैठेगा। 

5. सब ट्रैक्टर अपनी लाइन में चलेंगे कोई रेस नहीं लगाएगा। परेड में किसान नेताओं की गाड़ियों से आगे या उनके साथ अपनी गाड़ी लगाने की कोशिश नहीं करेगा। 

6. ट्रैक्टर में अपना ऑडियो डेक नहीं बजाएं। इससे बाकी लोगों को मोर्चा की ऑडियो से हिदायतें सुनने में दिक्कत होगी। 

7. परेड में किसी भी किस्म के नशे की मनाही रहेगी। अगर आपको कोई भी नशा करके ड्राइव करते हुए दिखाई दे तो उसकी सूचना नजदीक के ट्रैफिक वॉलिंटियर को दें। 

8. हमें गणतंत्र दिवस की शोभा बढ़ानी है, पब्लिक का दिल जीतना है। इस बात का खास ख्याल रखें कि औरतों से पूरी इज्जत से पेश आएं। पुलिस का सिपाही भी यूनिफॉर्म पहने हुए किसान है, उससे कोई झगड़ा नहीं करना। मीडिया वाले चाहे जिस भी चैनल से हों, उनके साथ किसी तरह की बदतमीजी ना हो। 

9. कचरा सड़क पर ना फेंकें। अपने साथ कचरे के लिए एक बैग अलग से रखें। 

इमरजेंसी की हिदायतें : 

संयुक्त किसान मोर्चा ने हर किसम की इमरजेंसी का इंतजाम किया है, इसलिए कोई दिक्कत होने पर घबराएं नहीं, बस इन हिदायतों का पालन करें : 

1. किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें। अगर कोई बात चेक करना हो तो संयुक्त किसान मोर्चा की फेसबुक पर जाकर सच्चाई की जांच कर लें। 

2. परेड में बीच-बीच में एंबुलेंस रहेंगी अस्पतालों के साथ इंतजाम किया गया है कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो हेल्पलाइन नंबर पर फोन करें या नजदीकी वालंटियर को बताएं। 

3. ट्रैक्टर या गाड़ी खराब होने की स्थिति में उसे बिल्कुल साइड में लगा दें और वॉलिंटियर से संपर्क करें या हेल्पलाइन पर कॉल करें। 

4. संयुक्त किसान मोर्चा का हेल्पलाइन नंबर इस परेड के लिए 24 घंटे खुला रहेगा। कुछ भी पूछना हो या बताना हो तो तुरंत फोन करें। 

5. अगर कोई वारदात हो तो उसकी खबर पुलिस कंट्रोल रूम को 112 नंबर पर दे सकते हैं। 

UP के BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- ‘राक्षसी’ संस्कृति की है ममता बनर्जी, उनके डीएनए में दोष