नई दिल्ली : अंडर-23 टूर्नामेंट ट्रायल में सिलेक्ट नहीं होने पर एक खिलाड़ी ने 15-16 लड़कों के साथ मिलकर भारत के पूर्व तेज गेंदबाज एवं दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के सीनियर चयन समिति के अध्यक्ष अमित भंडारी पर हॉकी व डंडों से जानलेवा हमला कर दिया। हमले में अमित के सिर, कान, टांग व शरीर के अन्य हिस्सों पर गंभीर चोटें आई हैं।

वारदात को अंजाम देकर सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। अमित के साथी सुखविंदर सिंह ने उन्हें तुरंत संत परमानंद अस्पताल में भर्ती कराया। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। उत्तरी जिले की पुलिस उपायुक्त नूपुर प्रसाद ने बताया कि पीड़ित अंतिम भंडारी की शिकायत पर कश्मीरी गेट थाने में गैर इरादतन हत्या की कोशिश और जान से मारने की धमकी देने के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

कश्मीरी गेट पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी खिलाड़ी अनुज डेढ़ा और नरेश को गिरफ्तार कर लिया है, जल्द ही अन्य आरोपियों को भी पकड़ लिया जाएगा। अस्पताल में भर्ती अमित भंडारी की हालत स्थिर बताई जा रही है।

चयन के लिए दबाव डाल रहा था एक खिलाड़ी
शुरुआती जांच में यही बात सामने आई है कि एक खिलाड़ी अमित भंडारी पर अंडर-23 ट्रायल में खुद का चयन करने के लिए दबाव डाल रहा था। मगर काबिलियत न होने के कारण उसका चयन नहीं किया गया था। सोमवार दोपहर सेंट स्टीफन ग्राउंड में खिलाड़ियों का ट्रायल चल रहा था। तब अमित भंडारी वहीं मौजूद थे। तब आरोपी खिलाड़ी उनके पास आया। किसी बात को लेकर दोनों के बीच में कहासुनी हुई।

कोच अमित भंडारी को मैदान में मारा थप्पड़
पुलिस की माने तो आरोपी अनुज डेढ़ा ग्राउंड में कोच अमित से कहासुनी के बाद लौट गया। मगर कुछ देर बाद आधा दर्जन लड़कों के साथ ग्राउंड में आया। उसने अपना सिलेक्शन नहीं होने के बारे में अमित से पूछा। अमित ने कहा कि यह काम सिलेक्शन कमेटी का है। उसके अलावा और भी खिलाड़ियों का सिलेक्शन नहीं हो सका है। इस बात पर अनुज भिड़ गया और अमित भंडारी को मैदान में ही थप्पड़ मारा।

जिसके बाद अन्य साथियों के साथ मिलकर उन पर हॉकी और डंडों से हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। अन्य खिलाड़ी दौड़कर उन्हें बचाने और आरोपियों को पकड़ने पहुंचे। मगर सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। फिलहाल पुलिस ग्राउंड के आसपास सीसीटीवी फुटेज चेक कर अन्य आरोपियों की पहचान में जुटी है।

दोषियों को नहीं छोड़ेंगे : रजत शर्मा
इस घटना के बाद डीडीसीए के अध्यक्ष रजत शर्मा ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि दोषियों को किसी भी सूरत में छोड़ा नहीं जाएगा। घटना का पूरा ब्यौरा लिया जा रहा है। वह इस वारदात के बाद अमित भंडारी से मिलने अस्पताल भी पहुंचे। अमित ने उन्हें बताया कि वारदात को सिलेक्शन के दौरान बाहर किए गए एक खिलाड़ी ने अन्यों के साथ मिलकर अंजाम दिया है।

उस खिलाड़ी को राष्ट्रीय अंडर-23 टूर्नामेंट के लिए संभावित खिलाड़ियो में नहीं रखा गया था। उस खिलाड़ी ने उन्हें पिस्टल दिखाकर जान से मारने की धमकी भी दी थी। रजत शर्मा ने बताया कि खिलाड़ियों की चयन प्रक्रिया में ईमानदारी के साथ नियमों का सख्ती से पालन किया जा रहा है और पारदर्शिता बरती जा रही है। अमित भंडारी ईमानदारी से अपने काम को अंजाम दे रहे थे।

मगर संभावित खिलाड़ियों में जगह नहीं बना पाने पर आरोपी खिलाड़ी ने इस वारदात को अंजाम दिया। इस संबंध में उन्होंने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से भी बात की है। अमूल्य पटनायक ने आश्वासन देते हुए कहा है कि जो भी लोग इस वारदात में शामिल हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

गौतम और वीरेंद्र ने ट्वीट कर की आजीवन बैन की मांग
सेंट स्टीफन मैदान पर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज व डीडीसीए सीनियर चयन समिति अध्यक्ष अमित भंडारी पर हमले को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग ने आरोपी खिलाड़ी पर ट्वीट कर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। दोनों ने ही उस क्रिकेटर को लाइफ टाइम बैन किए जाने की सिफारिश अपने ट्वीट में की है।

गंभीर ने ट्वीट कर कहा कि राजधानी के केंद्र में ऐसी घटना से हैरान हूं। यह मामला दबाया नहीं जाएगा। और मैं निजी तौर पर सुनिश्चित करूंगा कि ऐसा न हो। मैं इसकी शुरुआत उस खिलाड़ी पर आजीवन बैन लगाने की मांग से कर रहा हूं। जिसने चयन नहीं होने पर यह हमला कराया।

वीरेंद्र सहवाग ने लिखा है कि किसी खिलाड़ी को नहीं चुनने के लिए दिल्ली के चयनकर्ता अमित भंडारी पर किया गया हमला गिरी हुई सोच को दर्शाता है। और मुझे उम्मीद है कि दोषी के खिलाफ आजीवन बैन के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। और ऐसी घटनाओं से बचने के लिए पर्याप्त उपाय किए जाएंगे।

परिजनों का आरोप… आरोपी अनुज के परिजनों ने कोच अमित भंडारी पर पहले अनुज के ऊपर हमला करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि अनुज को बैट से पीटा गया, उसे भी गंभीर चोटें आई हैं। पहले अनुज की तरफ से ही पुलिस कॉल की गई थी। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।