BREAKING NEWS

राजस्थान का सियासी रण फिर गरमाया, दिल्ली में वसुंधरा ने डाला डेरा, नड्डा और राजनाथ से की मुलाकात◾पीएम मोदी ने दिया नया नारा - ‘देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, गंदगी भारत छोड़ो’◾4,000 टन ईंधन लदे जहाज में दरारे पड़ने से रिसाव, मॉरीशस की 13 लाख की आबादी पर मंडराया खतरा ◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.44 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,404 नए केस◾पीएम मोदी ने दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का उद्घाटन किया ◾भारतीय वायुसेना के पूर्व विंग कमांडर थे दुर्घटनाग्रस्त एयर एशिया एक्सप्रेस के विमान के पायलट कैप्टेन साठे◾कोझिकोड विमान हादसा : जान गंवाने वाला एक यात्री निकला कोरोना वायरस पॉजिटिव ◾केरल विमान हादसा : राज्य सरकार ने मृतकों के परिजन के लिए दस लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान◾DGCA ने जुलाई 2019 में सुरक्षा संबंधी त्रुटियों को लेकर कोझिकोड हवाईअड्डे को दिया था नोटिस◾भारत और चीन के बीच मेजर जनरल लेवल की बैठक जारी, देपसांग से सैनिकों को हटाने के बारे में होगी चर्चा ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 94 लाख के करीब◾कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में 61 हजार 537 नए मामलों की पुष्टि, 933 लोगों ने गंवाई जान ◾केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾केरल विमान हादसा : कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे पर विमान फिसलने से अब तक 18 लोगों की मौत◾कोझीकोड में हुए विमान हादसे पर PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख, कहा- हादसे से व्यथ‍ित हूं◾केरल के कोझीकोड एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला विमान, दो हिस्सों में टूटा, पायलट और को-पायलट समेत 17 लोगों की मौत◾महाराष्ट्र में कोरोना से 300 लोगों की मौत, 10483 नए मामले की पुष्टि◾सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती की याचिका में पक्षकार बनने के लिये केन्द्र ने न्यायालय में दी अर्जी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अंतर्राष्ट्रीय पहलवान समेत चार गिरफ्तार

पश्चिमी दिल्ली : समयपुर बादली इलाके एक कारोबारी के नौकर को गोली मारकर लूटपाट करने के मामले में पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक विजेता पहलवान समेत चार साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी बदमाशों में मामा-भांजा भी शामिल हैं। पकड़े गए सभी बदमाश पहलवान हैं। पुलिस करीब 170 सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगालने के बाद बदमाशों तक पहुंची। पुलिस ने बदमाशों के पास से दो तमंचे, दो नकली नंबर प्लेट और वारदात में इस्तेमाल स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की है। 

बाहरी नार्थ जिला पुलिस के डीसीपी गौरव शर्मा के अनुसार, पकड़े गए बदमाशों की पहचान खेड़ाखुर्द निवासी दिनेश उर्फ राजा (30), सुल्तानपुरी निवासी लक्ष्य उर्फ सचिन (22), सिरसपुर निवासी हरदीप (27) और खेड़ाखुर्द निवासी रोबिन उर्फ सनी (28) के रूप में हुई है। आरोपी लक्ष्य वर्ष 2017 थाईलैंड में आयोजित इंडो-थाई चैंपियनशिप में गोल्ड मैडल जीत चुका है। उसका सुल्तानपुरी में अखाड़ा है। 

24 जुलाई की रात रोहिणी सेक्टर-18 में जिंदल स्टोर चलाने वाले अजय कुमार जिंदल अपने नौकर पंकज के साथ दुकान बंद कर रहे थे। इसी दौरान स्विफ्ट डिजायर कार पर सवार होकर आए चार बदमाशों ने अजय से बैग छीनने लगे। इस दौरान दहशत फैलाने के लिए एक बदमाश ने पंकज के पैर में गोली मार दी। घटना की गंभीरता को देखते हुए जांच की जिम्मेदारी जिले के स्पेशल स्टाफ को सौंपी गई। इंस्पेक्टर अजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने जांच के दौरान घटनास्थल और उसके आसपास के करीब 170 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की, जिसमें दिखे बदमाशों की स्विफ्ट कार की पहचान करने में जुट गई। 

आसपास के इलाके में छानबीन करने पर पुलिस ने सिरसपुर में उस कार की पहचान कर छापा मारक  चारों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि रुपए की जरूरत थी। इसलिए लूटपाट को अंजाम दिया। रॉबिन इलाके में कोलड्रिंक का सप्लाई करने वाले वाहन का ड्राइवर था। वह जिंदल स्टोर पर कोलड्रिंक सप्लाई करता था। घूमने के दौरान वह रेकी कर गैंग के सदस्यों के साथ वारदात को अंजाम देता था। 

मोटी रकम की चाहत में दे रहे थे वारदात को अंजाम 

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि दिनेश बेडशीट बेचता था। वह पानीपत से बेडशीट खरीदकर उसे दिल्ली में बेचता था। कुछ स्थानीय विक्रेता उसके रुपए लेकर भाग गए। पिछले एक साल से वह बेरोजगार था। उसे पत्नी का प्रसव कराने के लिए रुपए की जरूरत थी, जिसमें उसने अपने भांजे राबिन का सहयोग लिया। 

लक्ष्य को अपने अखाड़े के लिए रुपए की जरूरत थी। वहीं हरदीप हरिद्वार में अपने भाई की सड़क हादसे में मौत के बाद उसकी फैक्ट्री चला रहा था। लेकिन घाटा होने के बाद उसकी फैक्ट्री बंद हो गई। उसके बाद वह अपराधिक वारदात को अंजाम देने लगा।