BREAKING NEWS

अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव : मनजिंदर सिंह सिरसा◾दविंदर सिंह का डीजीपी पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त ◾CAA को लेकर कपिल सिब्बल बोले- इसे लेकर मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं ◾राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾TOP 20 NEWS 20 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भाजपा के नये अध्यक्ष नड्डा बोले- जिन राज्यों में भाजपा मजबूत नहीं, वहां कमल पहुंचाएं◾PM मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- जिन्हें जनता ने नकार दिया अब वे भ्रम और झूठ के शस्त्र का इस्तेमाल कर रहे हैं◾उम्मीद है कि नड्डा के नेतृत्व में BJP निरंतर सशक्त और अधिक व्यापक होगी : अमित शाह ◾निर्भया गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की याचिका, अब फांसी तय◾आज नामांकन नहीं भर पाए CM केजरीवाल, रोड शो के चलते हुई देरी◾JP नड्डा बने बीजेपी के नए अध्यक्ष, अमित शाह समेत कई नेताओं ने दी बधाई ◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾

गैंगवार या रंजिश : ​नंदनगरी में दिनदहाड़े दो की हत्या

पूर्वी दिल्ली : नॉर्थ-ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के नंद नगरी इलाके में शुक्रवार दिनदहाड़े कार सवार दो लोगों पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गईं। दोनों घायलों को उपचार के लिए जीटीबी अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया गया। मृतकों की पहचान खुरवेश पहलवान (43) और कंछी लाल (33) के तौर पर हुई है। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवा दिया गया है। एक ओर खुरवेश के परिजन इसे गैंगवार बता रहे हैं। 

जबकि खबर लिखे जाने तक शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि रंजिश के चलते वारदात को अंजाम दिया गया है। सीसीटीवी फुटेज की मदद से दो आरोपियों की पहचान कर ली गई है। उनमें से एक का खुरवेश से एक साल पहले झगड़ा हुआ था। आरोपियों की कार चलाने वाला आशू पुलिस की हिरासत में है, जबकि दूसरे की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है। खुरवेश नंद नगरी थाने का घोषित बदमाश (बीसी) था। वर्ष 2015 में उस पर मकोका भी लगी हुई थी। इसके साथ ही खुरवेश पर 41 आपराधिक मामले भी दर्ज थे। 

जानकारी के मुताबिक, खुरवेश परिवार सहित प्रताप नगर के बी-ब्लॉक में रहता था। इसके परिवार में पिता राम सिंह, मां कमलेश, पत्नी ममता, बेटा प्रवीण, बेटी लक्षिता व अन्य परिजन हैं। नंद नगरी में उसका केबल का कारोबार था। वह इलाके में अखाड़ा भी चलाता था। शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे वह अपने जानकार कंछी के साथ मुंशी मार्किट से अपनी सेंट्रो कार का एसी ठीक करवाकर वापस नंद नगरी लौट रहा था। इस बीच वह जैसे ही चार खंभा नंद नगरी पहुंचे उसी दौरान कुछ बदमाशों ने दोनों को घेरकर उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। 

इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। दोनों को आधा दर्जन गोलियां लगने की बात सामने आई है। 12ः12 पर मामले की सूचना पुलिस को मिली। मौके पर जमा हुए लोगों ने दोनों घायलों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

15 दिन पहले मैसेज से मिली थी धमकी

बीती छोटी होली पर खुरवेश के घर के पास रहने वाले कुछ लोगों से झगड़ा हो गया था। उसी केस में वह जेल के अंदर बंद था। 15-20 दिन पहले ही वह जमानत पर बाहर आया था। बाहर आते ही उसे फोन पर मैसेज के जरिए धमकी मिली थी कि तुझे जान से मार देंगे। 

परिजनों की माने तो इस बारे में खुरवेश ने उन्हें तो बताया था, लेकिन पुलिस से कोई शिकायत नहीं की थी। दावा किया गया है कि ये मैसेज उसे मंडोली जेल में बंद कुछ कैदियों ने भेजा था। साथ ही परिजनों ने मौजपुर निवासी बिट्टू, सुंदर नगरी निवासी आसिफ और नंद नगरी निवासी अमन पर खुरवेश की हत्या करने का आरोप लगाया है।

बेवजह मारा गया घर का सहारा...

इस हत्याकांड में मारा गया कंछी का किसी गैंगवार या रंजिश से कोई लेना देना नहीं था। वह बेवजह ही मारा गया है। दरअसल कंछी परिवार सहित खुरवेश के ऑफिस से थोड़ी दूर ही रहता है। वह जीटीबी अस्पताल के एक डॉक्टर की कार चलाता था। इसके परिवार में मां मूती देवी, पत्नी कविता, चार वर्षीय बेटी हिमांशी, दो भाई व अन्य परिजन हैं। एक भाई अपनी पत्नी बच्चों के साथ शास्त्री नगर में रहता है। जबकि दूसरा भाई बीमार रहता है। 

पूरे परिवार का खर्च कंछी ही उठाता था। शुक्रवार सुबह वह दवाई लेने की बात कहकर घर से निकला था। करीब दस बजे वह घर के पास ही बाहर बैठा था। उसी दौरान खुरवेश उसके पास कार लेकर पहुंचा और कहा कि वह कार का एसी ठीक करवाने जा रहे हैं। तुझे कार के बारे में जानकारी है, साथ चल। इस पर कंछी उसके साथ कार में बैठकर चला गया। मगर वापस घर लौट नहीं सका। कंछी का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।