BREAKING NEWS

भारत ने किया स्वदेशी पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण◾म्यांमार के राजदूत ने की विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से मुलाकात◾KKR vs MI (IPL 2020) : रोहित की धमाकेदार पारी, मुंबई इंडियन्स ने कोलकाता नाइटराइडर्स को 49 रन से हराया◾कोरोना वायरस संक्रमण से रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगडी का निधन, PM मोदी ने दुख व्यक्त किया◾कोविड-19 के खिलाफ ‘मेरा परिवार- मेरी जिम्मेदारी’ अभियान शुरू किया गया - उद्धव ठाकरे◾KKR vs MI IPL 2020: मुंबई ने कोलकाता को दिया 196 रनों का टारगेट◾महाराष्ट्र में कोरोना के 21 हजार से अधिक नए केस, 479 और लोगों की मौत◾कोरोना प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बोले PM मोदी- 7 दिन तक 1 घंटा लोगों से सीधे करें बात◾ड्रग केस में बड़ी कार्यवाही : NCB ने दीपिका, सारा , श्रद्धा कपूर और रकुल प्रीत सिंह को भेजा समन◾दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की तबीयत बिगड़ी, LNJP हॉस्पिटल में भर्ती◾राहुल गांधी का तीखा वार : मप्र में कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ किया, भाजपा ने झूठे वादे किए◾कृषि बिल पर विरोध : दिल्ली की ओर कूच कर रहे युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका, कई हिरासत में◾धोनी पर बरसे गंभीर , कहा - सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करना मोर्चे से अगुवाई नहीं◾DRDO ने टैंक रोधी मिसाइल का किया सफल परीक्षण, रक्षा मंत्री ने दी बधाई ◾कोविड-19: देश में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में लगातार तेजी, रिकवरी रेट 81.25 प्रतिशत ◾कृषि बिल पर विरोध जारी, संसद परिसर में गांधी प्रतिमा से अंबेडकर प्रतिमा तक विपक्ष का मार्च ◾कृषि बिल : विपक्ष का संसद परिसर में प्रदर्शन, आज शाम 5 बजे 5 नेताओं से मिलेंगे राष्ट्रपति◾बारिश की वजह से डूबी मुंबई, सड़क और रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित ◾सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया-शोविक की सुनवाई टली, मुंबई में बारिश के चलते आज HC की छुट्टी◾कश्मीर के मुद्दे को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति पर भड़का भारत, कहा- आंतरिक मामलों में दखल स्वीकार नहीं◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इलेक्ट्रिक बसों का तोहफा

सड़को पर देर तक बसों का इंतजार करने वाले लोगों का इंतजार अब खत्म होने वाला है। राजधानी की सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को मजबूत करने और यहां की आबोहवा को बेहतर बनाने के लिए दिल्ली सरकार ने करीब चार हजार बसें लाने की तैयारी कर ली है। इनमें एक हजार बस डीटीसी के लिए, एक हजार बसें कलस्टर सेवा के लिए, दिल्ली के पर्यावरण के लिए अनुकूल एक हजार ई-बसें और 905 मेट्रो फीडर बसें होंगी। इनमें से ई-बसें मार्च 2019 तक दिल्ली की सड़कों पर दौड़ने लगेंगी।

दिल्ली विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2018-19 का बजट पेश करते हुए वित्तमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार दिल्ली की सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार का उद्देश्य है कि लोग अपना वाहन छोड़कर पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम का उपयोग करें। इसके मद्देनजर सरकार डीटीसी के बेड़े में एक हजार स्टैंडर्ड फ्लोर बसें शामिल करेगी। इसके लिए वर्तमान वित्तीय वर्ष में 150 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है। जबकि इस काम के लिए 2012-13 में 199.55 करोड़ रुपये पहले ही आवंटित हो चुके हैं। वहीं डिम्टस के तहत चलने वाले क्लस्टर बेड़े में भी एक हजार अतिरिक्त बसें जोड़ी जाएंगी।

इसके लिए वित्तवर्ष 2018-19 में 450 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। सिसोदिया ने कहा कि सरकार पर्यावरण के प्रति पूरी तरह संवेदनशील है। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए सरकार ई-बसें चलाएगी। इसके लिए सरकार ने रूपरेखा तैयार कर ली है। आगामी एक जून तक इनके लिए सलाहकार नियुक्त कर लिया जाएगा। 31 अगस्त तक कंपनियों से निविदाएं मंगा ली जाएंगी। 25 सिंतबर तक निविदाएं खोल ली जाएंगी और 15 नवंबर तक कंपनियों का चयन कर लिया जाएगा। इसके बाद चयनित कंपनियों को मांगपत्र जारी कर दिया जाएगा। सरकार की कोशिश है कि मार्च 2019 तक ई-बसें सड़कों पर चलने लगें।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।