BREAKING NEWS

शिवसेना का BJP पर तीखा वार, कहा-सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध का आनंद उठा रही है पार्टी◾कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य, लेकिन लड़ सकते हैं चुनाव : SC◾महाराष्ट्र : राज्यपाल के फैसले को SC में चुनौती देने वाली याचिका का उल्लेख नहीं करेगी शिवसेना◾महाराष्ट्र : राष्ट्रपति शासन के बाद उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल से की मुलाकात ◾लगातार 5 दिन से बढ़ते पेट्रोल के दाम पर लगा ब्रेक, डीजल के दाम भी स्थिर ◾महाराष्ट्र : शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस का नहीं हुआ गठबंधन, अब ऑपरेशन लोटस की तैयारी में BJP◾दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

राज्यसभा में गोयल ने उठाया घर खरीदारों का मुद्दा

नई दिल्ली : राज्यसभा के 249वें सत्र के शून्यकाल की चर्चा के दौरान गुरुवार को सांसद और वरिष्ठ भाजपा नेता विजय गोयल ने दिल्ली-एनसीआर में धोखेबाज बिल्डरों से धोखा खाए लाखों घर-खरीददारों की समस्या का मुद्दा उठाया। यह कहते हुए कि यह धोखाधड़ी मध्य-वर्ग के साथ बलात्कार के समान है, उन्होंने कहा कि जो बिल्डर छल-पैसे की लालसा से जानबूझकर घर-खरीददारों को धोखा देते हैं उन्हें फांसी जैसी सजा मिलनी चाहिए। 

चीन, वियतनाम और थाईलैंड सहित कई देश ऐसे वाइट-कॉलर अपराधों के लिए मृत्युदंड की नीति रखते हैं। गोयल ने कहा कि हालांकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से आम्रपाली ग्रुप के 48,000 फ्लैट-खरीददारों को राहत तो मिले, लेकिन शेष लाखों घर-खरीददार आज भी न्याय की प्रतीक्षा कर रहे हैं। घर-खरीददारों की समस्या के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि फ्लैट-खरीददारों को होम लोन की ईएमआई और अपने वर्तमान घरों के किराए की दोहरी मार झेलनी पड़ रही है, जबकि धोखाधड़ी करने वाले बिल्डर इन लोगों की मेहनत की कमाई को लूट कर अभी भी गायब हैं। 

इन लंबित प्रोजेक्ट्स की संपत्ति और इन्वेंट्री के परिसमापन के बाद मिली राशि पर पहला अधिकार, बैंको का या लाइसेंसिंग अथॉरिटीज का नहीं, बल्कि घर-खरीददारों का होना चाहिए। गोयल ने मांग की कि धोखाधड़ी करने वाले डेवलपर्स के अलावा, इन अधूरी आवास परियोजनाओं में हिस्सेदार हस्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जानी चाहिए यदि उनके द्वारा प्रचार किये गए प्रोजेक्ट्स फर्जी निकलते हैं।