नई दिल्ली : इस बार दिल्ली में एक हजार स्थानों पर छठ पर्व मनाया जाएगा। इसके लिए दिल्ली सरकार तैयारियां पूरी करने में जुटी है। दिल्ली सरकार के विकास मंत्री व आम आदमी पार्टी (आप) के दिल्ली प्रभारी गोपाल राय ने शुक्रवार को राजस्व व सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों के साथ आइटीओ स्थित हाथी घाट का निरीक्षण किया। आगामी 13 तारीख को छट का पर्व है। छट पर्व पूर्वांचल के लोगों के लिए बेहद ही अहम त्योहार है।

दिल्ली में पूर्वांचल से संबंध रखने वालों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए दिल्ली कि सरकार ने राजधानी में 1000 घाट बनाने के आदेश जारी किए थे। उसी संदर्भ में दिल्ली सरकार के विकास मंत्री राय ने दिल्ली के छट घाटों का जायजा लिया। इस मौके पर आप के बुराड़ी से आप विधायक संजीव झा व तीर्थ यात्रा विकास समिति के चेयरमैन कमल बंसल भी मौजूद थे। इस मौके पर राय ने कहा कि लगभग चार साल पहले दिल्ली में केवल 60 ही छठ घाट थे। पूर्वांचल के लोगों की संख्या को देखते हुए ये बहुत कम थे।

लोगों की मांग पर सरकार ने इस बार 1000 घाट बनाने और छठ पर्व में सभी सुविधाएं मुहैया कराने काम शुरू किया। पिछले साल दिल्ली में 600 जगहों पर छठ पूजा का प्रबंध किया था। जिस तरह से दिल्ली सरकार ने पिछले साल भी सभी छठ घाटों पर पूरी सुरक्षा और सुविधाओं का ध्यान रखा था। उसी तरह सुविधाओं के साथ पर्व मनाने के लिए दिल्ली सरकार ने इस बार भी कमर कसी है। वहीं इस मुद्दे पर गुरुवार को दिल्ली सचिवालय में आयोजित एक बैठक में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन व विकास मंत्री गोपाल राय के अलावा संबंधित विभागों के अधिकारियों की मौजूदगी में विभिन्न शिविरों में जरूरत के हिसाब से सीसीटीवी कैमरे लगाए गए।

छठ पूजा की तैयरियों को लेकर निगम ने कसी कमर