BREAKING NEWS

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित, पक्ष में पड़े 311 वोट, विपक्ष में 80◾जब तक मोदी प्रधानमंत्री हैं, किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं : शाह ◾महिलाओं के खिलाफ अत्याचार, चिंताजनक और शर्मनाक : नायडू ◾ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता विधेयक की प्रति फाड़ी भाजपा सदस्यों ने संसद का अपमान बताया ◾पूर्वोत्तर के अधिकतर राज्यों के दलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन किया ◾अनुच्छेद 370 को रद्द किये जाने के खिलाफ याचिकाओं पर संविधान पीठ कल से करेगी सुनवाई ◾दुष्कर्म की राजधानी बना भारत, फिर भी चुप हैं मोदी : राहुल गांधी◾कांग्रेस कभी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरती : नरेन्द्र मोदी ◾TOP 20 NEWS 09 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के नजदीक जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज ◾नागरिकता संशोधन विधेयक भाजपा के घोषणापत्र का हिस्सा रहा, जनता ने इसे मंजूर किया : अमित शाह◾कर्नाटक उपचुनाव : BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत ◾कर्नाटक : सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से दिया इस्तीफा◾JNU छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक शुरू किया मार्च, पुलिस ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील◾रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत, मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए विदेश जाने की मिली अनुमति◾बीजेपी ने छह सीटें जीतने के साथ कर्नाटक विधानसभा में बहुमत किया हासिल ◾झारखंड में बोले राहुल- सत्ता में आने पर लोगों को जल, जंगल और जमीन लौटाया जाएगा◾कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश विभाजन किया जिसके कारण नागरिकता कानून में संशोधन की जरूरत पड़ी : अमित शाह◾अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया भारत और संविधान का अपमान◾झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस कभी भी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘सरकार आरआरटीएस के समुचित फंड की व्यवस्था करे’

 vijendra

नई दिल्ली : नेता विपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मांग की है कि दिल्ली सरकार रिजनल रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम (आरआरटीएस) पर सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों के अनुपालन में 22 अगस्त से प्रारंभ होने वाले विधानसभा के सत्र में वित्तीय वर्ष 2019-20 तथा 2020-21 के लिए वित्त व्यवस्था करें। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सरकार विधानसभा में इसके लिए पूरक मांगें (सप्लीमेंट्री डिमांड) लेकर आए जिससे जनहित की महत्वपूर्ण योजना पर अविलंब काम शुरू किया जा सके। 

न्यायालय ने दिल्ली सरकार को आदेश दिए हैं कि वह आरआरटीएस के लिए अपने राजस्व से फंड जुटाए। उसने एनवायरनमेंट कंपेन्सेशन चार्ज के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। नेता विपक्ष ने कहा कि न्यायालय ने पांच अगस्त के आदेश द्वारा दिल्ली अलवर आरआरटीएस कॉरिडोर हेतु इन्वायरमेंट कंपेन्सेशन चार्ज के इस्तेमाल पर रोक लगाने के साथ ही यह आदेश दिए गए हैं कि सरकार इसके लिए अपने राजस्व से उचित प्रावधान भी करे। 

दिल्ली सरकार को न केवल दिल्ली अलवर कॉरिडोर के लिए, बल्कि दिल्ली मेरठ कॉरिडोर के लिए भी अपने राजस्व से राशि जुटानी होगी। पहले न्यायालय ने समय की कमी को देखते हुए आरआरटीएस में एनवायरनमेंट कंपेन्सेशन चार्ज के लिए अस्थाई अनुमति दे दी थी, लेकिन  न्यायालय के नवीनतम आदेशों के बाद यह अनुमति वापिस ले ली गई है और दिल्ली सरकार को अपने राजस्व से ही फंड जुटाने होंगे। 

दिल्ली सरकार ने दो अगस्त को कैबिनेट में लिये गए निर्णय के अनुसार दिल्ली अलवर कॉरिडोर निर्माण को मंजूरी तो दे दी थी, उसमें शर्त लगा दी थी कि हमारे पास पर्याप्त फंड नहीं है। अतः निर्माण में आने वाला खर्च इन्वायरमेंट कंपेन्सेशन चार्ज से लिया जाए।