BREAKING NEWS

दिल्ली में समाप्ती की ओर कोरोना, 24 घंटे में 135 नए मामले, 7 मरीजों की गई जान◾24 जून को पीएम मोदी ने बुलाई सर्वदलीय मीटिंग, कांग्रेस बोली- केंद्र से नहीं मिला कोई निमंत्रण ◾पंचत्व में विलीन हुए फ्लाइंग सिंख मिल्खा सिंह, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार◾आगरा के पारस अस्पताल को क्लीन चिट मिले पर प्रियंका बोली- सरकार ने न्याय की उम्मीद खत्म की◾यूपी चुनावों से पहले भाजपा ने पूर्व IAS एके शर्मा को दी बड़ी जिम्मेदारी, नियुक्त किया प्रदेश उपाध्यक्ष ◾तीन महीने बाद उत्तर प्रदेश में कम हुए कोरोना के एक्टिव केस, 24 घंटे में सामने आये संक्रमण के 294 नए मामले◾ओम बिरला द्वारा उठाए गए कदमों ने हमारे संसदीय लोकतंत्र को समृद्ध किया : PM मोदी◾गाजियाबाद : बुजुर्ग के साथ मारपीट मामले में सपा नेता उम्मेद पहलवान गिरफ्तार◾हम लोकतंत्र, संविधान और कानून के साथ समझौता नहीं कर सकते : राज्यपाल धनखड़◾राजस्थान में 'राजे ही भाजपा, भाजपा ही राजे' से मचा कोहराम, पूनिया बोले- पार्टी का संविधान सर्वोपरि◾अनलॉक में मिली ढील... कहीं बन ना जाए कोरोना की डील, केंद्र का राज्यों को आदेश अपनाए '3T+V' फॉर्मूला◾IAF में 2022 तक 36 राफेल को शामिल करने का लक्ष्य, LAC विवाद पर चीन के साथ बातचीत जारी : भदौरिया ◾CBSE 12वीं परीक्षा की रिजल्ट स्‍कीम से असंतुष्‍ट छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती◾मिल्खा को जिंदगी ने दिए काफी जख्म, संघर्षो की नींव पर उपलब्धियों की गाथा लिखने वाला बना 'फ्लाइंग सिख'◾AIIMS चीफ की चेतावनी- 2 महीने के अंदर भारत में कोरोना की तीसरी लहर दे सकती है दस्तक ◾150 दिनों में 30 करोड़ लोगों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन, जो बाइडेन ने घोषित किया 'समर ऑफ जॉय'◾असम में 4.2 तीव्रता का भूकंप, पूर्वोत्तर क्षेत्र में 24 घंटे में पांच बार हिली धरती ◾Covid 19 : देशभर में पिछले 24 घंटे में 60753 नए केस, कोरोना संक्रमण से 1,647 लोगों ने गंवाई जान ◾विश्वभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 17.77 करोड़, मृतकों की संख्या 38.4 लाख से अधिक◾नहीं रहे महान एथलीट मिल्खा सिंह, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत कई नेताओं ने जताया शोक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जीएसटी आयुक्त कार्यालय ने दिल्ली में फर्जी बिलों का गोरखधंधा पकड़ा

नयी दिल्ली : केन्द्रीय जीएसटी दिल्ली के पश्चिम आयुक्त कार्यालय ने फर्जी बिल जारी करने के गोरखधंधे का भंडाफोड़ किया है। इस तरह के फर्जी बिलों के जरिये सरकारी खजाने को 108 करोड़ रुपये का चूना लगाया गया है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में शनिवार को यह जानकारी दी गई। माल और सेवाओं की आपूर्ति किये बिना ही ये फर्जी बिल कथित तौर पर रॉयल सेल्स इंडिया और उसकी 27 अन्य बनावटी कंपनियों द्वारा जारी की जा रही थी। 

इस मामले में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। एक स्थानीय अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि आरोपी व्यक्ति 28 फर्जी कंपनियां चला रहे थे और इन कंपनियों के जरिये धोखाधड़ी कर इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) लिया जा रहा था। इससे सरकारी खजाने को चूना लगाया गया। इसमें कहा गया है, ‘‘शुरुआती तौर पर इस धोखाधड़ी के तहत 900 करोड़ रुपये के फर्जी बिलों के जरिये करीब 108 करोड़ रुपये का आईटीसी लिया गया। इस मामले में अंतिम शुल्क का पता जांच के बाद चलेगा।’’ 

अब तक 15 खरीदार कंपनियां इस मामले में स्वैच्छिक वक्तव्य जारी कर अपनी देनदारी को स्वीकार कर चुकी हैं और उन्होंने गलत तरीके से लिये गये आईटीसी, ब्याज और जुर्माने के बदले 1.30 करोड़ रुपये स्वैच्छिक तरीके से जमा कराये हैं। इसके अलावा इन फर्जी कंपनियों के बैंक खातों में रखे 1.58 करोड़ रुपये की निकासी पर रोक लगा दी गई है और आगे की जांच जारी है।