BREAKING NEWS

कोरोना वायरस के 6.87 लाख मामलों के साथ रूस को पीछे छोड़ भारत तीसरे स्थान पर पहुंचा ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,555 नए केस◾खालिस्तानी समर्थक संगठन SFJ पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, 40 वेबसाइट्स पर लगाया प्रतिबंध◾घाटे के चलते आने वाले दिनों में टेलीकॉम कंपनियां बढ़ा सकती है फ़ोन कॉल और इंटरनेट के रेट ◾तमिलनाडु में कोरोना वायरस के 4,150 नये मामले आये सामने , मृतकों की संख्या 1,510 पहुंची ◾राजधानी दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में 2,244 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 99 हजार के पार◾गुजरात के कच्छ जिले में 4.2 तीव्रता का भूकंप आया, वहीं 4.6 तीव्रता के झटकों से फिर थर्राया मिजोरम ◾गाजियाबाद की अवैध पटाखा फैक्ट्री में धमाके से 7 की मौत, कई लोग घायल◾कानपुर एनकाउंटर : शक के दायरे में चौबेपुर थाना, IG बोले-सबूत मिले तो पुलिसवालों पर दर्ज होगा हत्या का केस◾TMC नेता कल्याण बनर्जी का विवादित बयान, वित्तमंत्री सीतारमण को बताया 'काली नागिन'◾राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा-सूर्य, चंद्रमा और सत्य ज्यादा देर छिप नहीं सकते◾रक्षा मंत्री राजनाथ के साथ अमित शाह ने सरदार पटेल कोविड-19 केयर सेंटर का किया दौरा ◾कानपुर घटनाक्रम के लिए ओवैसी ने CM योगी की 'ठोक देंगे' पॉलिसी को बताया जिम्मेदार◾देश में 24 घंटों के दौरान 25 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि,मरीजों की संख्या 6 लाख 73 हजार के पार ◾कानपुर : 8 पुलिसकर्मियों को जान से मारने वाले आरोपी विकास दुबे का साथी दयाशंकर गिरफ्तार◾कोरोना रिकवरी रेट बढ़ने पर बोले CM केजरीवाल- 2 करोड़ लोगों की मेहनत रंग ला रही◾J&K : पुलवामा में आतंकियों ने CRPF के काफिले को IED ब्लास्ट के जरिये बनाया निशाना,एक जवान घायल◾Coronavirus : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 11 लाख के पार ◾दिल्ली में रातभर चली तेज हवाओं और बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत, मौसम हुआ सुहाना ◾ पूर्वी लद्दाख गतिरोध : चीन से लगी सीमा पर प्रमुख केंद्रों पर तैनाती बढ़ा रही है वायु सेना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

वायु प्रदूषण फैलाने पर होगी आपराधिक करवाई, संबद्ध एजेंसी की भी तय होगी जवाबदेही : हर्षवर्धन

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में हवा की लगातार ख़राब होती गुणवत्ता को ठीक करने के लिए सरकार ने अब सख़्त रूख अपनाते हुए वायु प्रदूषण मानकों का उल्लंघन के मामलों में संबद्ध एजेंसी की भी जवाबदेही तय करते हुये प्रदूषण फैलाने वालों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामला दर्ज करने का फैसला किया है। पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि हवा की गुणवत्ता को लेकर शनिवार को मंत्रालय और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अधिकारियों के साथ अहम बैठक की गयी। इसमें राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के पांच शहरों दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम में वायु प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा में पाया गया कि पड़ोसी चारों शहरों में मानकों का पालन सुनिश्चित कराने में संबद्ध एजेंसियों के लचर रवैये के कारण हालात में कोई सुधार नहीं हो पा रहा है।

इस कारण संबद्ध एजेंसियों को भी आपराधिक कार्रवाई के दायरे में लाने का सीपीसीबी के निगरानी दलों ने सुझाव देते हुये सख्ती बरतने की पहल की है। डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि इसमें तय किया गया कि पांचों शहरों में वायु प्रदूषण मानकों के पालन की निगरानी के लिये गठित 41 दल मानकों का उल्लंघन करने वालों और संबद्ध एजेंसी के खिलाफ पर्यावरण संरक्षण कानून के तहत आपराधिक मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई शुरु कर सकेंगे।

बैठक में सीपीसीबी के निगरानी दलों के फीडबैक के आधार पर यह पता चला है कि दिल्ली के अलावा एनसीआर के चार शहरों नोएडा, ग़ाज़ियाबाद, फ़रीदाबाद और गुरुग्राम में पिछले एक महीने में स्थिति को सुधारने के लिए किए गए उपाय नाकाफ़ी साबित हो रहे हैं।

उन्होंने बताया कि आपराधिक कार्रवाई शुरु करने की प्रक्रिया का निर्धारण कर सोमवार को इसकी घोषणा की जायेगी। इसके मसौदे को अंतिम रूप देने के लिये सोमवार को मंत्रालय ने पांचों शहरों की पर्यावरण संबंधी संबद्ध एजेंसियों की बैठक आहूत की है।

डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि इस साल दिल्ली के अलावा चारों पड़ोसी शहरों में भी गत 15 सितंबर से 41 निगरानी दलों ने निरीक्षण किया। पिछले लगभग डेढ़ महीने के फीडबैक में पाया गया कि प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ निगरानी दलों द्वारा की गयी शिकायत पर संबद्ध एजेंसियों ने कार्रवाई करने में बहुत सुस्ती एवं लापरवाही बरत रही हैं।

डॉ. हर्षवर्धन ने इसे बेहद दुखद स्थिति बताते हुये कहा कि हालात सुधारने में सभी पक्षों के सकारात्मक सहयोग को सुनिश्चित करने के लिये आगामी एक नवंबर को एनसीआर से संबद्ध पांच राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों की बैठक भी बुलायी गयी है।

उन्होंने बताया कि बैठक में सीपीसीबी के निगरानी दलों की संख्या 41 से बढ़ाकर 50 करने का फैसला किया गया। इसके अलावा ये दल सप्ताह में दो दिन के बजाय अब कम से कम पाँच दिन इन शहरों में औचक निरीक्षण निरीक्षण करेंगे।

इस दौरान प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वालों की शिकायत पर संबद्ध एजेंसी द्वारा दो दिन तक माकूल कार्रवाई नहीं होने पर निगरानी दल ‘रेड वार्निंग’ श्रेणी की चेतावनी जारी करेगी। इसके बावजूद अगले दो दिन तक कार्रवाई नहीं होने पर आपराधिक कार्रवाई शुरु की जायेगी। पर्यावरण सचिव सी के मिश्रा ने बताया कि पीएम 10 और पीएम 2.5 का स्तर सितबंर 2017 में 215 और 158 था जो इस साल सितंबर में घटकर 116 और 115 रह गया है।

इसके अलावा पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की शिकायतों में भी कमी आयी है। पंजाब में 2016 में 22259, 2017 में 16265, और 2018 में 7371 शकायतें दर्ज की गयीं। जबकि हरियाणा में 2016 में 4790, 2017 में 4733 और 2018 में अब तक 3022 शिकायतें दर्ज की गयीं। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा \"इन तीन सालों में पीएम तत्वों के स्तर और पराली जलाने की घटनाओं में कमी जरूर आयी है लेकिन हम महज आंकड़ों के आधार पर मौजूदा स्थिति को संतोषजनक नहीं मान सकते हैं।\"

V‌IDEO : दिल्ली की लवकुश रामलीला में केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन नजर आए राजा जनक के रोल में