BREAKING NEWS

विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾राजनाथ सिंह आज से ‘आत्मनिर्भर भारत सप्ताह’ की करेंगे शुरुआत, रक्षा मंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर दी जानकारी ◾विधायकों की एकता के कारण भाजपा को बाड़बंदी करनी पड़ी, अब एकता की झलक विधानसभा में दिखानी है : गहलोत ◾आंध्र प्रदेश में 24 घंटे में कोरोना के 10820 नए केस, 97 लोगों की मौत ◾राहुल गांधी ने नए ईआईए 2020 मसौदे के खिलाफ लोगों से प्रदर्शन करने की अपील की◾राम के बाद बुद्ध पर विवाद, विदेश मंत्री के बयान पर नेपाल ने जताई आपत्ति◾अध्यक्ष के चुनाव की ‘उचित प्रक्रिया’ का पालन होने तक सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी◾केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- कृषि अवसंरचना कोष से किसानों को मिलेगा फायदा, रोजगार पैदा होंगे◾कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाते हुए एक दिन में रिकॉर्ड 7 लाख जांच की गईं: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ◾कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु कोरोना पॉजिटिव पाए गए ◾दिल्ली में कोरोना के 1300 नए मामलें की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 1.45 लाख से अधिक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पुलिस के लिए सिरदर्द जेएनयू केस

नई दिल्ली : जेएनयू कैंपस में हुई हिंसा का मामला पुलिस के लिए सिरदर्द ही बनता नजर आ रहा है। एक तरफ जहां चारों तरफ से पुलिस पर केस को जल्द से जल्द सुलझाने का प्रेशर है, वहीं अभी तक पुलिस इस केस का राजफाश नहीं कर पाई है। पुलिस नकाबपोश हमलावरों के बारे में जानकारी जुटाने में लगी हुई है। 

पुलिस का दावा है कई नकाबपोश की पहचान हाे चुकी है, लेकिन उनके खिलाफ अभी प्रर्याप्त सबूत नहीं मिल सके हैं। सूत्रों के मुताबिक शुरुआती जांच में हिंसा के पीछे दोनों ही संगठन के छात्रों का हाथ होना सामने आया है। इसमें कुछ भारी लोग भी शामिल थे। उधर, पुलिस कुछ संदिग्धों की तलाश में भी जुटी है। 

सूत्रों का कहना है जेएनयू अध्यक्ष आइशी घोष ने रविवार को हुई हिंसा को लेकर वसंतकुंज नार्थ थाने के पुलिस इंस्पेक्टर और नई दिल्ली रेंज के ज्वाइंट सीपी आनंद मोहन को वाट्सएप मैसेज भेजा था। इस मैसेज में पुलिस को बताया गया था कि कैंपस में बड़ी संख्या में हमलावर घुस आए हैं जो मारपीट कर रहे हैं। उस वक्त पुलिस पहले से ही हाईकोर्ट के आदेश पर कैंपस के अंदर मौजूद थी। ऐसे में वसंतकुंज नार्थ थाना पुलिस की भूमिका को भी चैक किया जा रहा है।

फिर जेएनयू पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

क्राइम ब्रांच की अपील के बावजूद जेएनयू के किसी भी छात्र अध्यापक ने अभी तक कोई डायरेक्ट वीडियो या मोबाइल फुटेज पुलिस को नहीं दी है। हारकर गुरुवार को क्राइम ब्रांच की टीम एक बार फिर जांच के सिलसिले में जेएनयू पहुंची। वहां कुछ छात्रों और शिक्षकों से हिंसा को लेकर बात की गई। इन छात्रों का किसी भी संगठन से कोई लेना देना नहीं है। 

उन्हाेंने पुलिस को जानकारी दी कि हमलावर मुंह पर कपड़ा लगाए हुए थे, ऐसा लग रहा था कि वे कैंपस के नहीं थे। पुलिस द्वारा अनुरोध करने के बाद भी वे बयान देने के लिए राजी नहीं हुए। एक तरफ जहां पुलिस खुद छात्रों से संपर्क साध रही है, वहीं छात्र कानून पचड़े में नहीं पड़ना चाहते।