नई दिल्ली : वोटर लिस्ट से नाम कटने पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। बैडमिंटन चैंपियन, अर्जुन पुरस्कार विजेता, 2 बार ओलंपियन रही खिलाड़ी के आरोप का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इसी तरह से दिल्ली में 30 लाख लोगों के वोट काट दिए गए।

वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि बैडमिंटन चैंपियन, अर्जुन पुरस्कार विजेता, 2 बार ओलंपियन रही खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने पूछा है कि मेरा वोट कहां है। क्या चुनाव आयोग के पास इसका उत्तर है। एक खिलाड़ी ने अपना मतदान करने का अधिकार खो दिया। उन्होंने कहा कि हमें लगता है कि आप भाजपा के लिए रणनीति बनाने में व्यस्त होंगे।

वहीं इस संबंध में आप से उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के लोकसभा प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने कहा वोटर लिस्ट से काटे गए 30 लाख नाम एक सोची समझी साजिश के तहत किया गया षड्यंत्र है। उन्होंने कहा कि भाजपा के कहने पर चुनाव आयोग ने पूर्वांचलियों, मुस्लिम और बनियों का वोट काटा है।

उन्होंने ज्वाला गुट्टा के बयान का हवाला देते हुए कहा कि जब नामी खिलाड़ी का वोट काटा जा सकता है तो आम आदमी के साथ क्यों नहीं। वहीं आप विधायक संजीव झा ने कहा कि बुराड़ी में कुल वोट लगभग 2 लाख 45 हजार हैं जिसमें से 21104 वोट कट दिए गए। काटे गए वोटो में से 14129 वोट पूर्वांचलियों के हैं। बुराड़ी की एक कॉलोनी प्रधान एन्क्लेव जो की आम आदमी पार्टी का गढ़ कहा जाता है, वहां से लगभग 2200 लोगो के वोट कट दिए गए।

आप ने ईवीएम घोटाले का पर्दाफाश किया
दक्षिणी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी राघव चड्ढा ने कहा कि जब आप ने ईवीएम घोटाले का पर्दाफाश किया, तब भी कुछ विपक्षी दलों ने गंभीरता नहीं दिखाई। दिल्ली के वोटर लिस्ट घोटाले पर भी कांग्रेस चुप रही। अब तो दोनों मामले सामने आ चुके हैं। यह भी स्पष्ट हुआ कि लोकतंत्र की रक्षा आम आदमी पार्टी ही कर सकती है।