BREAKING NEWS

सीएम धामी ने लॉन्च की अग्निपथ योजना, 19 अगस्त को कोटद्वार में भर्ती रैली◾दिल्लीः कोरोना के मामलों में वृद्धि के बीच अस्पतालों में दो गुना बढ़ी मरीजों की संख्या, जानिए बैड्स का हाल ◾मुझे उन अधिकारियों की सूची दें जो भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की बात नहीं सुनते : योगी आदित्यनाथ ◾भारत के लिए प्रदूषण बना बड़ी चिंता! दिल्ली में हर साल हजारों की जाती है जान ◾जम्मू-कश्मीरः मुठभेड़ के बाद फरार आतंकवादियों की तलाश में जुटी पुलिस, हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल ◾हिमाचल प्रदेश : कांग्रेस के दो विधायकों ने की भाजपा की सदस्यता ग्रहण, मुख्यमंत्री जयराम ने किया स्वागत◾थाईलैंड के विदेश मंत्री के साथ एस. जयशंकर ने की खास बातचीत, जानिए किन मुद्दों पर हुई चर्चा ◾दिल्ली में रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट देने का नहीं दिया कोई निर्देश : केंद्रीय गृह मंत्रालय ◾दिल्ली के बक्करवाला के अपार्टमेंट में भेजे जाएंगे रोहिंग्या शरणार्थी, पुलिस सुरक्षा भी कराई जाएगी मुहैया : हरदीप सिंह पुरी◾अब रोहिंग्या शरणार्थियों के पास होगा रहने का ठिकाना, केंद्र के फैसले पर AAP हमलावर, BJP नाखुश◾उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने किया ब्याज दरों में इजाफा, वरिष्ठ नागरिकों के लिए दर 0.50 प्रतिशत से बढ़कर 0.75◾MP मंत्री तुलसीराम की कार को ट्रक ने मारी टक्कर, बाल-बाल बचा परिवार ◾उत्तर प्रदेश की 10 हजार बेटियों को दी जाएगी 'Self Defense' की ट्रेनिंग : यूपी सरकार ◾राजस्थान : रामदेवरा मेले में आने लगे श्रद्धालु, 35 लाख से अधिक भक्तों के आने की उम्मीद◾बीजेपी ने पार्टी के संसदीय बोर्ड में किया बड़ा बदलाव, गडकरी और चौहान को हटाकर इन नोताओं को किया शामिल ◾गुजरातः चुनावों से पहले कांग्रेस के दो नेता भाजपा में शामिल, बीजेपी ने किया भगवा अंगवस्त्र और टोपियां देकर स्वागत ◾CM केजरीवाल ने की ‘मेक इंडिया नंबर 1’ अभियान की शुरुआत, कहा-इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं◾कचरा बनी बागमती, मानी जाती है नेपाल की सबसे पवित्र नदी ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- भारत ने रूस से तेल खरीदने के अपने रुख का कभी बचाव नहीं किया◾राजस्थान में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार? जानिए क्या कहती है जनता◾

होली तक मिलेगी नई बसों की सौगात

नई दिल्ली: बसों की कमी से जूझ रही दिल्ली को अगले वर्ष होली तक ही राहत मिलने की उम्मीद है। संभावना की जा रही है कि मार्च के अंतिम सप्ताह से बसों की डिलीवरी शुरू होगी। हालांकि दिल्ली परिवहन निगम को बसों के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। दिल्ली परिवहन विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विभाग पहले कलस्टर बसों को लाएगी, उनके बाद ही डीटीसी के तहत बसें आ पाएगी। सूत्र बताते हैं कि बसों को लाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जल्द ही टेंडर सहित अन्य कार्य को पूरा कर दिया जाएगा। सरकार कलस्टर बस सेवा में एक हजार और डीटीसी के तहत एक हजार ला रही है।

घट रही बसों की सुविधा... दिल्ली में चल रही लो फ्लोर (एसी-नोन एसी) बसों की सुविधाएं लगातार घट रही है। इनमें से कई बसों की हालत खस्ता हो चुकी है। परिवहन विभाग के सूत्रों का कहना है कि दिल्ली में 2008 से लो फ्लोर बसों को लाना शुरू कर दिया गया था। 2010 तक दिल्ली में सभी बसें आ गई थीं। यह बसें सात से दस साल पुरानी हो चुकी हैं और इनकी क्षमता के अनुसार दिल्ली में चलाने की अवधि भी धीरे-धीरे खत्म हो रही है। ऐसे में आने वाले कुछ वर्षों में इन सभी बसों को बदलना पड़ सकता है। इसके लिए सरकार को अभी से 10 हजार बसों के लिए प्रयास शुरू करने चाहिए। बता दें कि दिल्ली में करीब चार हजार डीटीसी के तहत बसें हैं। इनमें से कुछ बसें खराब होने के कारण सड़कों पर उतर नहीं पाती। वहीं कलस्टर के तहत करीब 1600 बसें हैं। इनमें भी कई बसें पुरानी होने के कारण सड़कों पर दम तोड़ देती हैं।

डीटीसी नहीं बढ़ा रही किराया... दिल्ली में डीटीसी का किराया नहीं बढ़ाया जा रहा। मेट्रो के बाद दिल्ली परिवहन निगम के किरायों को लेकर चल रहे विवाद के बाद परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने स्पष्ट कहा कि डीटीसी के किराये बढ़ाने के पक्ष में नहीं है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि लोगों को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। किराया बढ़ाने की बात का कोई आधार नहीं है। सरकार डीटीसी का किराया बढ़ाने नहीं जा रही है। किराया वृद्धि को लेकर झूठ बोला जा रहा है।

एलजी ने मांगा स्पष्टीकरण

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने पर्यावरण सेस के इस्तेमाल को लेकर परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से स्पष्टीकरण मांगा है। बता दें कि दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने एलजी को ज्ञापन सौंप मांग की थी कि दिल्ली सरकार ने पर्यावरण सेस के तौर पर जमा किए एक हजार करोड़ से अधिक राशि का इस्तेमाल क्यों नहीं किया।

- राकेश शर्मा