BREAKING NEWS

World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23 करोड़ के करीब, साढ़े 46 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾उत्तराखंड : कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा, CM पुष्कर सिंह धामी का ऐलान◾तेलंगाना कांग्रेस चीफ ने शशि थरूर को कहा था 'गधा', विवाद के बाद मांगनी पड़ी माफी ◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 34403 नए मामलों की पुष्टि, रिकवरी रेट 97.65 प्रतिशत ◾LAC विवाद : भारत की ड्रैगन को चेतावनी- रिश्तों को लेकर पूर्वाग्रहों से बाहर आये चीन◾कृषि कानूनों को एक साल पूरा : अकाली दल का 'ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च', धारा 144 लागू ◾SCO में ईरान और आर्मेनिया के विदेश मंत्री से मिले एस जयशंकर,अफगानिस्तान की स्थिति पर केंद्रित थी बातचीत ◾राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रमुख मंत्रियों, नेताओं समेत राहुल गांधी ने पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुशांबे में चीनी समकक्ष वांग से की मुलाकात◾आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾गुजरात : CM भूपेंद्र पटेल ने अपने पास रखे कई मंत्रालय, कनुभाई देसाई को वित्त विभाग की जिम्मेदारी सौंपी◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कोरोना महामारी के समय जनधन-आधार-मोबाइल की तिगड़ी पासा पलटने वाली साबित हुई◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

IMA अध्यक्ष ने अपने खिलाफ दायर मुकदमे को बताया साजिश- एलोपैथिक चिकित्सकों को प्रताड़ित करने की योजना

आयुर्वेद बनाम एलोपैथी का मसला लगातार बढ़ता ही जा रहा है, भारतीय चिकित्सक संघ (आईएमए) के अध्यक्ष जे ए जयलाल ने आयुर्वेद के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणियों के लिए अपने खिलाफ दायर दीवानी मुकदमा को ‘‘एलोपैथिक चिकित्सकों को प्रताड़ित करने की व्यापक योजना’’ बताया। उन्होंने कहा कि यह याचिका संविधान में दिए गए भाषण एवं अभिव्यक्ति की आजादी के मौलिक अधिकार का इस्तेमाल करने से उन्हें रोकती है। 

याचिका में आयुर्वेद में विश्वास रखने वाले लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने का अनुरोध किया गया है। जयलाल ने आईएमए और उसके महासचिव जयेश लेले के मुकदमे पर दिए 212 पृष्ठों के जवाब में कहा, ‘‘यह शिकायत एलोपैथिक चिकित्सकों को प्रताड़ित करने और उनके अपने मौलिक अधिकारों का इस्तेमाल करने से रोकने के लिए लोगों के एक खास वर्ग की विस्तृत योजना का हिस्सा है।’’

चिकित्सा संघ ने 30 जुलाई को अपने जवाब में आरोपों को बकवास, अप्रमाणित और कानून के सामने न टिकने वाला बताया। जयलाल, आईएमए, लेले, राष्ट्रीय चिकित्सक संघ और ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैण्डर्डस मामले में बचावकर्ता हैं। तीस हजारी अदालत की दीवानी न्यायाधीश दीक्षा राव ने बाकी के बचावकर्ताओं को 29 सितंबर तक मुकदमे पर अपना जवाब देने का निर्देश दिया है।

राजेंद्र सिंह राजपूत नामक शख्स ने यह मुकदमा दर्ज कराया है जिसमें जयलाल तथा अन्य को आयुर्वेद के इलाज के खिलाफ अपमानजनक बयान न देने के निर्देश देने का अनुरोध किया गया है और आयुर्वेद में विश्वास रखने वाले लोगों की भावनाएं आहत करने के लिए इनसे माफी मांगने का अनुरोध भी किया गया है।