नई दिल्ली : भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन ने जनवरी की इस ठंड में दिल्ली ही नहीं देश की राजनीति गरमा दी है। 2014 में इसी रामलीला मैदान से चुनावी बिगुल फूंका गया था, ​इस लिहाज से रामलीला मैदान भाजपा के लिए काफी शुभ माना जाता है। इस मौके पर भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने जहां विपक्ष पर हमला किया, वहीं अपने कार्यकर्ताओं को इसका अहसास भी करा दिया कि इस लड़ाई में चूक के लिए स्थान नहीं है।

पानीपत की लड़ाई का जिक्र करते हुए उन्होंने आगाह किया कि उस वक्त मराठा हारे तो फिर दो सौ साल की गुलामी झेलनी पड़ी थी। लिहाजा कमर कस कर मैदान में उतरें। वैसे यह कहकर उत्साह भी बढ़ाया कि मोदी जी कभी हारे नहीं है। एक बार फिर पिछली बार बड़ी जीत होगी। लगभग एक घंटे के भाषण में उन्होंने जहां राम मंदिर निर्माण का संकल्प दोहराते हुए जोश का संचार किया।

वहीं यह भी संकेत दे दिया कि कल्याणकारी योजनाओं के साथ साथ जीएसटी में लघु व मध्यम व्यापारियों के लिए मिली राहत और गरीब सवर्णो के आरक्षण का मुद्दा पार्टी के चुनाव प्रचार का बड़ा एजेंडा होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरे देश के चुने हुए प्रतिनिधियों की लगभग दस हजार की भीड़ को संबोधित करते हुए उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि पिछली बार भी यहीं से जीत का संकल्प लिया गया था। इस बार भी रामलीला मैदान को चुना गया है।

मोदी को अकेले नहीं हराया जा सकता… अमित शाह ने कहा कि लोग पूछ रहे हैं कि बुआ-भतीजा इकट्ठा हुए तो क्या होगा? शाह ने कहा कि एक-दूसरे का मुंह न देखने वाले, एकदूसरे के साथ सोफे के साथ न बैठने वाले आज साथ में हाथ हिला रहे हैं। इसलिए कि उन्हें पता चल गया है कि अगर अपना वजूद बचाना है तो मोदी के खिलाफ एक होना होगा कि क्योंकि मोदी को अकेले नहीं हराया जा सकता।

अमित शाह ने कहा कि उन्हें खुशी है कि पहले कांग्रेस वर्सेज ऑल होता था, आज मोदी वर्सेज ऑल हो गया है। उन्होंने दावा किया कि वह एनडीए के साथियों के साथ बीजेपी के पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाएंगे। अमित शाह ने कहा कि बीजेपी ने बहुत उतार चढ़ाव देखे हैं। एक समय ऐसा आया था कि हम संसद में घटकर 2 हो गए थे।

फिर बिहार में हमारा उभार हुआ गुजरात में सफलता मिली। गुजरात में सरकार बनी। 2014 में जब हम चुनाव में गए थे तब बीजेपी की 6 राज्यों में बीजेपी की सरकार थी। आज जब 2019 का चुनाव होने जा रहा है तो बीजेपी की 16 राज्यों में सरकार है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि 2019 में मोदी को एकबार फिर पीएम बना दिजिए हम केरल तक बीजेपी का झंडा फहरा देंगे।

राजनीति फिजिक्स नहीं केमिस्ट्री…
महागठबंधन को लेकर शाह ने विपक्ष से ज्यादा अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि इस महागठबंधन का कोई अखिल भारतीय असर नहीं है। वैसे भी राजनीति फिजिक्स नहीं है, केमिस्ट्री होती है जिसमें दो चीजों के मिलने से तीसरी चीज बनती है। उन्होंने दावा किया कि जिस उत्तर प्रदेश को लेकर विपक्ष में इतनी जद्दोजहद मची है वहां भी भाजपा 73 से 74 हो सकती है लेकिन 72 नहीं। शाह ने कहा कि मोदी जी कभी हारे नहीं है, आप आश्वस्त रहें हम पिछली बार से भी बड़ी जीत हासिल करेंगे।

किसानों को डेढ़ गुना एमएसपी …
इसके अलावा, उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने ही किसानों को उनकी उपज पर लागत का डेढ़ गुना एमएसपी देने का फैसला किया। ऐसा काम कांग्रेस की सरकार ने क्यों नहीं किया? उन्होंने आगे कहा कि नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या हमारे ही शासनकाल में क्यों भागे, कांग्रेस से पूछिए कि उनके शासनकाल में क्यों नहीं भागे? उन्होंने दावा किया कि वह हर हालत में इनको वापस लाएंगे। सभी चोर वापस लाए जाएंगे। इसके लिए वह कानून बनाएंगे।

मोदी ने विकास को दी नई ऊंचाई…
अमित शाह ने कहा कि आज दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला देश भारत ही है। भाजपा सरकार ने देश के विकास को नई ऊंचाई दी है। उन्होंने कहा कि पांच साल में गिने-चुने मौके छोड़कर हमने अधिकांश समय महंगाई को काबू में रखा है। इसके लिए हमारे प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री जी धन्यवाद के पात्र हैं।

आज प्रयागराज में मां गंगा का पानी निर्मल हो गया है। हमारी सरकार ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का अभियान चलाया। हम नाम के लिए सरकार चलाने के लिए नहीं आए। हमने पांच साल के शासनकाल में ट्रिपल तलाक, हज सब्सिडी, जीएसटी, नोटबंदी जैसे 50 से ज्यादा ऐतिहासिक फैसले किए।

– सुरेन्द्र पंडित/विकास कुमार