BREAKING NEWS

सुंदरवन जल्द ही नया जिला होगा : ममता बनर्जी◾भारत में टारगेट हत्याओं के पीछे पाकिस्तान-कनाडा स्थित आतंकवादी, NIA जांच में खुलासा◾ थम गया गुजरात चुनाव का प्रचार, खड़गे ने PM को बताया रावण, BJP ने कांग्रेस पर किया पलटवार ◾MP : महाकाल मंदिर में राहुल गांधी ने की पूजा-अर्चना ◾रामपुर में पहले नहीं होते थे चुनाव, थानों और बूथों पर रहता था सपा के गुंडों का कब्जा : बृजेश पाठक ◾J&K : आजाद बोले- धार्मिक राजनीति ने देश को पहुंचाया गहरा नुकसान, वोट डालने से पहले जांचे 'ट्रैक रिकॉर्ड'◾पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- विनिर्माण की दुनिया में लगातार आगे बढ़ रहा है भारत◾Assam: सीएम शर्मा ने कहा- डिब्रूगढ़ विवि ने रैगिंग की घटना छिपाने की कोशिश की या नहीं, जांच पुलिस करेगी◾'मोदी सरकार' पर निशाना साधते हुए राहुल बोले- नोटबंदी, GST ने लोगों और छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ी◾Gujarat: गुजरात में मिली जहरीली शराब पर भड़के राहुल गांधी- राज्य में फैल हुआ 'मोदी मॉडल'◾ लड़की के साथ दरिंदगी, तीन लोगों ने मिलकर किया दुष्कर्म, पुलिस ने आरोपियों को दबोचा, जानें पूरा मामला ◾Goa: सीएम प्रमोद सांवत ने कहा- ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर इफ्फी के जूरी प्रमुख का बयान कश्मीरी हिंदुओं का अपमान◾Air India: एयर इंडिया-विस्तारा के विलय को मिली मंजूरी...सिंगापुर एयरलाइंस की होगी इतनी हिस्सेदारी◾सोशल मीडिया ने देश को आगे बढ़ाया... लेकिन फेक न्यूज का भी तेजी से हुआ चलन, बोले केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ◾BWF Rankings: बीडब्ल्यूएफ रैंकिंग में छठे स्थान पर पहुंचे लक्ष्य सेन, टॉप-20 में गायत्री-त्रिशा ◾MCD पर केजरीवाल का चुनावी एजेंडा, कहा- 'आप पार्टी' को वोट दें.....राजधानी को बनाएंगे स्वच्छ और सुंदर ◾Digital Rupee: RBI का बड़ा ऐलान- 1 दिसंबर को लॉन्च होगा डिजिटल रूपया ◾भाजपा के गुजरात मॉडल पर योगी मॉडल की छाप, छात्राओं को देंगे तमाम तोहफे◾Corruption case: देशमुख की जमानत याचिका पर अदालत ने सुनवाई को 2 दिसंबर तक किया स्थगित ◾10वीं छात्रा के साथ दुष्कर्म, पांच सहपाठियों ने लड़की को दबोचा, किया गैंगरेप, वीडियो बनाकर कर रहे थे blackmail ◾

अफगान संकट के बीच दिल्ली में दूतावासों के बाहर जमा हुई भीड़, जानें किन 3 एम्बेसी से मिला मदद का भरोसा

राजधानी दिल्ली में गुरुवार को ऑस्ट्रेलियाई, यूएस और कनाडा दूतावास के बाहर कई अफगान नागरिक इकट्ठा हो गए। अफगान नागरिकों के मुताबिक उन्हें इन 3 दूतावासों द्वारा शरणार्थियों के रूप में स्वीकार करने और वीजा देने का भरोसा दिया गया है। इस मामले पर बात करते हुए एक अफगान नागरिक मुस्कान ने बताया, इनके द्वारा हमारे पास एक संदेश आया था, की आप दूतावास आ जाएं, आप सभी को एक फॉर्म मिलेगा, वहीं जितने दिल्ली में अफगान नागरिक है, हम उनको सहयोग करेंगे।

मुस्कान ने कहा, उनके द्वारा अभी कोई बात नहीं कि गई है, बस यह कह दिया गया है कि आपको एक लिंक मिलेगा, जिसमें आप अपनी जानकारी साझा करें। दरअसल मुस्कान बीते कुछ सालों से दिल्ली में रहे रहीं है और हाल ही में अपनी पढ़ाई पूरी की है। एक अन्य अफगान नागरिक साहिल ने बताया, हम लोगों को दूतावास की ओर से बोला गया कि हम वीजा देंगे, लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ है। हम सभी लोगों के लिए दिल्ली में पढ़ाई बन्द है। इसके अलावा घर का किराया भी बहुत ज्यादा है।

साहिल ने कहा, यदि हमारे मकान मालिक को पता लग जाये कि हम अफगानी है तो हमारे लिए घर का किराया और बढ़ा दिया जाता है। फिलहाल एक दुकान पर काम कर रहा हूं लेकिन सिर्फ 4 हजार रुपये महीना दिया जाता है और 12 घंटे काम कराते हैं। मिली जानकारी के अनुसार, दूतावास अधिकारियों ने कुछ अफगान नागरिकों से बात की है और उनको अपनी जनकारी देने की बात भी कही गई है।

अफगान नागरिक रुक्सार ने बताया, हमारे अंदर अफगान को लेकर बहुत गम है। हम अमरीका दूतावास में आये है, हमें मदद चाहिए। हम गुजारिश कर रहे हैं, इन सभी दूतावासों से। रुक्सार ने कहा, हम भी इंसान है, हमें मदद की जरूरत है। अफगानी नागरिकों को देख मेरे दिल में दुख है। मैं मजबूर हूं, करीब 10 साल से यहां रह रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, हम भारत सरकार को शुक्रिया कहेंगे, हमको जगह दी रहने के लिए। हालात बेहद खराब हो रहे हैं। हमारा रहना मुश्किल हो जाएगा। यहां काम मिलने में दिक्कत आएगी।

हालांकि दुतावास के बाहर कुछ अफगान महिलाएं रोती बिलखती नजर आईं। किसी के भाई तो किसी के बच्चे अफगानिस्तान में फंसे हुए हैं। जानकारी के अनुसार, अफगान नागरिकों को पहले यूएनएचसीआर (शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त) को एक ईमेल भेजना होगा जो इन्हें वीजा के लिए दूतावास के पास भेजेगा। हालांकि, अफगान नागरिकों का आरोप है कि यूएनएचसीआर कार्यालय कोई जवाब नहीं देता।