BREAKING NEWS

यूपी: CM योगी ने अखिलेश पर किया जुबानी हमला, कहा- सपा के नेता समाजवादी नहीं बल्कि तमंचावादी हैं ◾दिल्ली: कोरोना के दैनिक मामलों में दर्ज हुई गिरावट, CM केजरीवाल बोले- जल्द मिलेगी प्रतिबंधों से राहत ◾दिल्ली में शराब प्रेमियों के लिए अच्छी खबर, सालभर में 21 की जगह अब सिर्फ 3 Dry Day◾यूपी: AIMIM ने उमैर मदनी को मैदान में उतारा, चुनावी घमासान में तेज हुई मुस्लिम वोटों के लिए खींचतान◾फिर आमने-सामने शिवसेना और BJP, राउत बोले-हिंदुत्व के मुद्दे पर सबसे पहले हमने लड़ा था चुनाव◾कांग्रेस को लगेगा बहुत बड़ा झटका! स्टार प्रचारक RPN हो सकते हैं BJP में शामिल, स्वामी मौर्य की बढ़ेंगी मुश्किलें ◾राष्ट्रपति और PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी हिमाचल के स्थापना दिवस पर राज्यवासियों को बधाई◾BJP सांसद गौतम गंभीर हुए कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए लोगों से की टेस्ट कराने की अपील ◾मायावती का विरोधियों पर निशाना, कहा- बसपा को छोड़ बाकी सभी सरकारों ने किया राजनीति का अपराधीकरण ◾महाराष्ट्र : पुल से गिरी कार, भीषण सड़क हादसे में BJP विधायक के बेटे समेत 7 छात्रों की मौत◾Corona Update : कोरोना केस में गिरावट, 2 लाख 55 हज़ार नए मामले, एक्टिव केस 22 लाख से ज्यादा◾यूक्रेन को लेकर अमेरिका और रूस में तनाव की स्थिति, राष्ट्रपति बाइडन ने 8,500 सैनिकों को अलर्ट पर रखा◾UP: केशव प्रसाद मौर्य का सपा पर तीखा कटाक्ष, बोले- लिस्ट नई है, अपराधी वही हैं◾दुनियाभर में कहर बरपा रहा है कोरोना, वैश्विक स्तर पर 35.43 करोड़ पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा◾अभी जारी रहेगी ठिठुरन भरी ठंड, आने वाले दिनों में बर्फीली हवाएं और बढ़ाएंगी सर्दी, जानें पूरे उत्तर भारत का हाल◾पंजाब : नवजोत सिंह सिद्धू ने अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए उन्हें बताया फुंका कारतूस◾कांग्रेस पटोले को निगरानी में रखे और PM के खिलाफ टिप्पणी के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की जांच कराएं : भाजपा ◾दिल्ली कोर्ट ने शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का आरोप तय करने का दिया आदेश ◾छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री बघेल ने भाजपा पर लगाया आरोप, कहा- सत्ता में आने के लिए लोगों को बांटने का काम करती है ◾दिल्ली में कोरोना के 5,760 नए मामले सामने आये, संक्रमण दर गिरकर 11.79 ◾

दिल्ली में संक्रमण की बढ़ती दर को देखते हुए DDMA ने लगाई ये पाबंदियां, जानें नए दिशानिर्देश

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में अधिक लोग इस वायरस की चपेट में आ रहे है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती दर को देखते हुए दिल्ली में अब रेस्तरां और बार में बैठकर खाने पर पाबंदी रहेगी। हालांकि, यहां से खाना पैक कराया जा सकेगा और होम डिलीवरी की अनुमति जारी रहेगी। साथ ही एक दिन में जोन में सिर्फ एक साप्ताहिक बाजार लगाने की ही अनुमति होगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीेएमए) की सोमवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है। 

डीडीएमए की बैठक में इस पर दिया गया जोर 

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में कोरोना वायरस के नए वेरियंट ओमीक्रोन के बाद से राजधानी में महामारी की स्थिति पर विचार-विमर्श किया गया। उप राज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस बात पर सहमति जताई गई कि लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। हालांकि, कोरोना संक्रमण की बढ़ती दर को देखते हुए प्रतिबंधों की जरूरतों पर भी बल दिया गया। 

ये नेता रहे मौजूद, खाना पैक कराने या होम डिलीवरी की सुविधा जारी रहेगी 

सूत्रों की मानें तो बैठक में विचार-विमर्श के बाद रेस्तरां और बार में बैठकर खाने पर पाबंदी लगाने का फैसला लिया गया है। हालांकि खाना पैक कराने या होम डिलीवरी की सुविधा जारी रहेगी। रात्रिकालीन कर्फ्यू की वजह से रेस्तरां और बार को पहले ही दस बजे तक ही खोलने की अनुमति थी और रेस्तरां 50 फीसदी क्षमता के साथ काम कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन, कैलाश गहलोत, डॉ. वीके पॉल, प्रो. बलराम भार्गव, डॉ. रणदीप गुलेरिया, डॉ. एसके सिंह व अन्य अधिकारी शामिल रहे। 

एनसीआर में रहेगी पाबंदियां या नहीं, जानें 

सूत्रों की मानें तो डीडीएमए की बैठक में दिल्ली सरकार की ओर से पूरे एनसीआर क्षेत्र में एक जैसी रणनीति बनाए जाने का मुद्दा उठाया गया। बैठक में कहा गया कि अभी जहां एक ओर दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू या अन्य पाबंदियां लगी हैं। वहीं, एनसीआर में तमाम चीजें खुली रहती हैं। 

दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में हर दिन लाखों लोगों का आवागमन होता है। इससे पाबंदियों का असर कम हो जाता है। माना जा रहा है कि केन्द्र की ओर से पूरे एनसीआर में एक रणनीति बनाने पर सहमति दी गई है। केन्द्र की ओर से उत्तर प्रदेश और हरियाणा के एनसीआर शहरों के लिए कोई दिशा-निर्देश या परामर्श जारी किया जा सकता है। 

मेट्रो और बस पर हुआ ये निर्णय 

डीडीएमए की इस अहम बैठक में मेट्रो और बस में भी सवारियों की संख्या आधी करने का प्रस्ताव दिया गया। कहा गया कि इससे लोगों की आवागमन सीमित करके संक्रमण की दर कम को किया जा सकता है। हालांकि, प्रस्ताव पर सहमति नहीं बन पाई, क्योंकि मेट्रो में सवारियों की संख्या सीमित करने या 50 फीसदी क्षमता करने के चलते मेट्रो के गेट पर भारी भीड़ जैसी स्थिति बनती रही है। इसीलिए अभी मेट्रो और बस में सवारियों की संख्या सीमित करने पर फैसला नहीं लिया गया है। 

साप्ताहिक बाजारों पर आया यह निर्देश 

बैठक में साप्ताहिक बाजारों पर पाबंदी लगाने पर भी विचार-विमर्श किया गया। लेकिन, साप्ताहिक बाजारों में पाबंदी लगाने से दिल्ली से बड़े पैमाने पर पलायन शुरू हो जाने की आशंका जताई गई। इसे देखते हुए फिलहाल एक जोन में सिर्फ प्रतिदिन एक साप्ताहिक बाजार लगाने की अनुमति दी गई। जबकि, कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने के लिए साप्ताहिक बाजारों, सामान्य बाजारों और सभी सार्वजनिक स्थलों पर कोरोना अनुरूप बर्ताव का पालन सख्ती से कराने का फैसला लिया गया।  

टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दिया 

उप राज्यपाल ने टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को खासतौर पर 15 से 18 वर्ष की उम्र वालों के टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाए जाने का निर्देश दिया। जबकि, कोरोना संक्रमण की दर को देखते हुए चिकित्सा ढांचे में भी इजाफा करने को कहा गया है।