BREAKING NEWS

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कहा : प्रधानमंत्री के खिलाफ महज ‘अपमानजनक’ शब्द का इस्तेमाल राजद्रोह नहीं ◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कर्ज देने के लिये NBFC के साथ 400 जिलों में खुली बैठकें करेंगे बैंक◾यादवपुर विश्वविद्यालय में बाबुल सुप्रियो के साथ धक्का-मुक्की, राज्यपाल परिसर में पहुंचे ◾आरकेएस भदौरिया अगले होंगे एयरफोर्स चीफ◾चंद्रयान- 2 : नासा को मिली विक्रम लैंडर की अहम तस्वीरें, जल्द मिलेगी बड़ी खबर◾डेविड कैमरन का खुलासा : भारत के पूर्व प्रधानमंत्री ने PAK के खिलाफ सैन्य कार्रवाई के बारे में बताया था ◾TOP 20 NEWS 19 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ढाई साल में ढाई कोस भी नहीं चल पाई योगी सरकार : अखिलेश यादव◾अमेरिका में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे PM मोदी : विजय गोखले◾नासिक में बोले मोदी-राम मंदिर का मामला जब सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है तो न्याय प्रणाली पर भरोसा रखें◾INX मीडिया : 3 अक्टूबर तक बढ़ाई गई चिदंबरम की न्यायिक हिरासत◾CM ममता ने गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात, NRC मुद्दे पर की चर्चा ◾'हाउडी मोदी' के लिए उत्साहित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, कर सकते है हिंदुस्तान के लिए बड़ा ऐलान ◾प्रियंका गांधी बोली - चिन्मयानंद मामले में भी उन्नाव की तरह आरोपी को संरक्षण दे रही भाजपा सरकार◾रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तेजस में भरी उड़ान, कहा- मेरे लिए गर्व की बात◾UP : योगी सरकार के ढाई वर्ष पूरे, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री ने गिनाई उपलब्धियां◾झारखंड कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व प्रमुख अजय कुमार AAP में हुए शामिल ◾राहुल और सोनिया के खिलाफ सावरकर के पोते की शिकायत पर कोर्ट ने दिए जांच के आदेश◾चिन्मयानंद मामला : पीड़ित छात्रा की चेतावनी, कहा-गिरफ्तारी नहीं हुई तो कर लूंगी आत्महत्या◾UP : योगी सरकार के ढाई साल पूरे, आज कर सकते है नई योजनाओ का अनावरण ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

प्रदेश कांग्रेस में बढ़ी अंदरूनी रार बढ़ने लगा शीला पर दबाव

नई दिल्ली : पार्टी के विभिन्न निर्णयों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस में अंदरुनी रार बढ़ती दिखायी दे रही है। जिसके चलते वरिष्ठ कांग्रेसी नेता न केवल प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित और उनके समर्थकों के खिलाफ खुलकर आवाज उठाने लगे हैं बल्कि प्रदेश के तीनों कार्यकारी अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी भी मैदान में खुलकर सामने आ गए हैं। इसके चलते शीला पर हाल-फिलहाल में लिए गए सभी निर्णय वापस लेने का दबाव भी बढ़ने लगा है। शुक्रवार को शीला की अनुपस्थिति के बावजूद प्रदेश कांग्रेस द्वारा उनकी ओर से 14 जिला व 280 ब्लॉक पर्यवेक्षकों की घोषणा पर विवाद शनिवार को और गहरा गया।

पूर्व विधायक नसीब सिंह, हरी शंकर गुप्ता, चौ. मतीन अहमद, सुरेन्द्र कुमार, चौ. ब्रहमपाल, आसिफ मोहम्मद खान, प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी, एआइसीसी सदस्य ओमप्रकाश विधूड़ी और चतर सिंह सहित करीब 24 पार्टी नेता कनाट प्लेस के एक रेस्तरां में एकत्रित हुए। लगभग एक घंटे की इस बैठक में सभी ने एकमत से इसका विरोध जताया कि प्रदेश कांग्रेस में एक के बाद एक ऐसे निर्णय लिए जा रहे हैं जो पार्टी के लिए नुकसानदायक हैं। 

चाहे वह लोकसभा चुनाव में हार की समीक्षा के लिए कमेटी गठित करने का फैसला हो, 280 ब्लॉक समितियों को भंग करने का फैसला हो और चाहे अब 14 जिला एवं 280 ब्लॉक पर्यवेक्षकों की घोषणा का मामला हो। इन नेताओं का कहना था कि शीला दीक्षित पिछले 10 दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं। बावजूद इसके उनकी अनुपस्थिति में भी ऐसे निर्णय लिए जा रहे हैं। इस बैठक के बाद इनमें से करीब आधे नेता प्रदेश प्रभारी पीसी चाको से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। उन्होंने चाको को एक ज्ञापन देते हुए प्रदेश की स्थिति पर संज्ञान लेने का अनुरोध किया। 

तीनों कार्यकारी अध्यक्षों का शीला को पत्र

तीनों कार्यकारी अध्यक्षों हारुन यूसुफ, देवेंद्र यादव और राजेश लिलोठिया की ओर से शीला दीक्षित काे एक हस्ताक्षर युक्त पत्र लिखा गया है। इसमें कहा गया है कि प्रदेश के लिए एक अध्यक्ष और तीनों कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति स्वयं एआईसीसी ने की है। बावजूद इसके पार्टी के निर्णयों में उन्हें ही भरोसे में नहीं लिया जा रहा है। 

पत्र में यह भी कहा गया है कि एक ओर प्रदेश अध्यक्ष शुक्रवार शाम इन्हीं मुददों को सुलझाने के लिए कार्यकारी अध्यक्षों की बैठक बुलाती हैं तो दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस फिर से ब्लॉक और जिला पर्यवेक्षकों की घोषणा का नया धमाका कर देती है, यह सब अस्वीकार नहीं है।

चाको ने भी शीला को लिखा पत्र

सारी स्थितियों के मददेनजर चाको ने शीला के नाम फिर एक पत्र लिखा। इस पत्र में चाको ने शीला को अपने 29 जून और एक जुलाई को लिखे हुए पूर्व पत्रों की याद दिलाते हुए कहा है कि वह इन सभी फैसलों को रदद करें। उनके जैसे वरिष्ठ नेता के होते हुए प्रदेश कांग्रेस में कुछ अनधिकृत लोग विरोधाभासी निर्णय ले रहे हैं जो पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं।