BREAKING NEWS

ताहिर हुसैन के कारखाने में पहुंची दिल्ली फोरेंसिक टीम, जुटाए हिंसा से जुड़े सबूत◾जानिये कौन है IB अफसर की हत्या के आरोपी ताहिर हुसैन, 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था दिल्ली ◾एसएन श्रीवास्तव नियुक्त किये गए दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, कल संभालेंगे पदभार ◾दिल्ली हिंसा : मरने वालों का आंकड़ा हुआ 39, कमिश्नर एस. एन. श्रीवास्तव ने किया हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा ◾जुमे की नमाज़ के बाद जामिया में मार्च , दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा दिन◾CAA को लेकर आज भुवनेश्वर में अमित शाह करेंगे जनसभा को सम्बोधित ◾CAA हिंसा : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य, जुम्मे के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कायम◾CAA को लेकर BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले - कांग्रेस जो नहीं कर सकी, PM मोदी ने कर दिखाया◾Coronavirus : चीन में 44 और लोगों के मौत की पुष्टि, दक्षिण कोरिया में 2,000 से अधिक लोग पाए गए संक्रमित ◾भारत ने तुर्की को उसके आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचने की सलाह दी◾राष्ट्रपति कोविंद 28 फरवरी से 2 मार्च तक झारखंड और छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे◾संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना , कहा - दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो केंद्र सरकार क्या कर रही थी ?◾PM मोदी 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की रखेंगे नींव◾दिल्ली हिंसा : SIT ने शुरू की जांच, मीडिया और चश्मदीदों से मांगे 7 दिन में सबूत◾PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण◾ओडिशा : 28 फरवरी को अमित शाह करेंगे CAA के समर्थन में रैली को संबोधित◾SP आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की विधानसभा सदस्यता खत्म◾AAP पार्टी ने पार्षद ताहिर हुसैन को किया सस्पेंड, दिल्ली हिंसा में मृतक संख्या 38 पहुंची◾दिल्ली हिंसा : अंकित शर्मा की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कई सनसनीखेज खुलासे, चाकू मारकर की गई थी हत्या◾दिल्ली हिंसा सोनिया समेत विपक्षी नेताओं के भड़काने का नतीजा : BJP ◾

कहीं ऐसा न हो...आधा शहर मानसिक परेशानियों को झेले

नई दिल्ली : कोई भी मास्टर प्लान बनाने से पहले उसके पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ेंगे इस बात का भी ध्यान रखा जाए। दिल्ली हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवायी के दौरान मास्टर प्लान में संशोधन को लेकर एक और महत्वपूर्ण बात कही कि कहीं ऐसा ना हो कि इसका ऐसा असर हो कि आधा शहर मानसिक परेशानियों को झेलने को मजबूर न हो जाए। ये टिप्पणी दिल्ली हाईकोर्ट की मुख्य बेंच ने की। हाईकोर्ट ने कहा कि शहरी क्षेत्र की जनसंख्या लगातार बढ़ रही है, जिसका प्रभाव सीधा-सीधा पर्यावरण पर पड़ रहा है पक्षियों की कई प्रजातियों को अब शहर में नहीं देखा जाता।

कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायामूर्ति सी हरिशंकर की बेंच ने कहा कि दिल्ली से चिड़िया, कौऐ और काफी हद तक मैना भी गायब हो रही है। बेंच ने कहा कि जब आप एक क्षेत्र में मास्टर प्लान बदलकर रिहायशी इलाको में व्यावसायिक गतिविधियों की इजाजत देने है तो इससे आप आप बहुत सी चीजों पर सीधा सीधा असर डालते है। जिससे पर्यावरण भी प्रभावित होता है, मसलन वहां बिजली पानी सीवरेज सिस्टम पर तो दबाव पड़ता ही है साथ ही गाड़ियों की आवाजाही बढ़ने से वायु प्रदूषण का भी असर बढ़ता है। तो पॉलिसी बनाने वाले इस बात का ध्यान भी रखे के कहीं ऐसा न हो कि आपकी पॉलिसी के चलते दिल्ली की आधी आबादी को मानसिक समस्याओं से जूझना पड़ जाए। हाईकोर्ट ने ये बातें एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान कही। इस याचिका में दिल्ली में बढ़ती बन्दरों और कुत्तों की संख्या का मुद्दा उठाया गया है।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने इससे पहले भी मास्टर प्लान में संशोधन की बात पर कई गंभीर सवाल खड़े किए थे। हाईकोर्ट ने कहा था कि कुछ लोग धरने पर बैठकर अपने हिसाब से मास्टर प्लान बदलवा सकते हैं। हाईकोर्ट ने कहा था कि कुछ लोगो ने शहर को फिरौती पर रखा हुआ है। कोर्ट ने सख्ती दिखाते हुए कहा कि बिना इस बात को ध्यान में रखे, बिना किसी की परवाह करते हुए संशोधन का प्रस्ताव किया जा रहा है। इस बदलाव का दिल्ली पर कितना प्रभाव पड़ेगा। पर्यावरण को लेकर इसकी कितनी कीमत चुकानी पड़ेगी इसकी किसी को कोई परवाह नहीं है। दरअसल, दिल्ली में मौजूदा समय में सीलिंग की कार्रवाई को रोकने के लिए मास्टर प्लान 2021 में संशोधन का प्रस्ताव किया है जिससे रिहायशी इलाकों में व्यावसायिक गतिविधियों की इजाजत दी ता सके। हाईकोर्ट इसको लेकर पहले भी सख्त रूख अपना चुका है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।