BREAKING NEWS

महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने श्रीलंका में चुनाव जीतने पर राजपक्षे को बधाई दी, भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

अभी अस्पताल में रहेंगे जेटली, हालत गंभीर

नई दिल्ली : पिछले एक सप्ताह से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती पूर्व वित्त मंत्री स्वास्थ्य मंत्री अरुण जेटली की सेहत में अभी कुछ खास सुधार नहीं आया है। वह अभी भी अस्पताल की सघन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती है और उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। सूत्रों की माने तो अरुण जेटली के लंग्स में फिर से पानी भरने लगा है, जिसकी वजह से उनकी हालत एक बार फिर अधिक खराब होने लगी है। बता दें कि, पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली की सेहत पर एम्स की तरफ से पिछले छह दिनों से कोई बुलिटेन जारी नहीं किया गया है। 

गौरतलब है कि 9 अगस्त यानी शुक्रवार को 66 वर्षीय अरुण जेटली को दिल की धड़कन तेज होने और बेचैनी की शिकायत के बाद एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। चिकित्सकों ने तब कहा था कि उनकी हालत ‘हीमोडायनैमिकली’ स्थिर बनी हुई है और विभिन्न क्षेत्र के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम उनके उपचार की निगरानी कर रही है। सूत्रों की माने अरुण जेटली के लंग्स में पानी आने की शिकायत आई थी, जिसकी वजह से उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही है। चिकित्सकों की टीम लंग्स से पानी निकालने का प्रयास कर रही है, लेकिन बानी बार-बार बनने की शिकायत अभी भी बरकरार है। 

जेटली के एम्स में भर्ती होते ही प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, हर्षवर्धन, निर्मला सीतारमण, अश्विनी चौबे, प्रकाश नड्डा, लोकतांत्रिक जनता दल के प्रमुख शरद यादव समेत कई नेता शुक्रवार को अस्पताल गए थे। जेटली को इसी साल मई में उपचार के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था।