नई दिल्ली: जानकर आश्चर्य होगा मगर यह सच है कि दिल्ली जल बोर्ड दिल्लीवासियों को डायरिया परोस जा रहा है। सबसे ज्यादा प्रभावित चार साल तक की उम्र के बच्चे हो रहे हैं। डायरिया से हुई कुल मौतों में से 41 प्रतिशत मौत चार साल तक के उम्र के बच्चों की हुई है। वहीं, नरेला इलाके में इसके 22 प्रतिशत (3,84,410) मामले दर्ज किए गए हैं। प्रजा फाउंडेशन के आंकड़ों की माने तो दिल्ली में वर्ष 2014-16 के बीच डायरिया और हाई ब्लड प्रेशर के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है।

वर्ष 2015 में डायरिया के 5,64,416 मामले दर्ज किए गए, जो वर्ष 2016 में बढ़ कर 6,22,480 हो गए। वहीं, वर्ष 2015 में हाई ब्लड प्रेशर के 3,22,510 मामले सामने आए, जो वर्ष 2016 में बढ़कर 3,61,443 हो गया। आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2016 में सरकार के सबसे ज्यादा 50 प्रतिशत शिकायतें गंदे पानी की आई। जिनकी संख्या 2,27,444 थी। फाउंडेशन का कहना है कि यह आंकड़े उनके नहीं बल्कि सरकार के हैं, जो आरटीआई के माध्यम से जुटाए हैं।