BREAKING NEWS

CBSE ने 10वीं-12वीं के स्टूडेंट्स के लिए टर्म-1 बोर्ड एग्जाम डेटशीट की जारी, जाने किस माह में होंगी परीक्षा ?◾ लखीमपुर हिंसाः सुमित जायसवाल समेत 4 लोग गिरफ्तार, मौके पर जीप से निकलकर भागते हुए वायरल हुआ था वीडियो◾उत्तराखंड: शाह ने CM धामी से की बात, भारी बारिश से उपजे हालात का जाएजा लेकर हर संभव मदद का दिया भरोसा◾बाबुल सुप्रियो कल लोकसभा अध्यक्ष से मिलकर सांसद पद से देंगे इस्तीफा, BJP छोड़ TMC में हो चुके हैं शामिल◾रेल रोको आंदोलन रहा शांतिपूर्ण, कई किसान नेताओं को किया गिरफ्तार : एसकेएम◾झारखंड:गुमला में 2 नाबालिग बहनों के साथ हुआ गैंगरेप, BJP ने सरकार पर साधा निशाना ◾कश्मीर के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा रोकी गई, एहतियात के तौर पर उठाया गया कदम◾PM मोदी बुधवार को कुशीनगर हवाई अड्डे का करेंगे उद्घाटन, अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल से जुड़ेगी दुनिया◾J&K में गैर-कश्मीरियों पर लगातार हो रहे हमलों के बीच आर्मी चीफ नरवणे पहुंचे जम्मू, सुरक्षा स्थिति का लेंगे जाएजा◾कृषि कानूनों पर सत्यपाल मलिक बोले- किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी ◾कोर्ट ने राम रहीम सहित 5 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा, 31 लाख रुपये का भी लगाया जुर्माना◾दुर्गापूजा हिंसा को लेकर प्रदर्शन के बीच बांग्लादेश में हिंदुओं के 29 घर फूंक दिए गए, हालात तनावपूर्ण ◾लक्षित हत्याओं के बाद कांग्रेस ने की मीटिंग, कहा- मोदी कुशासन ने कश्मीर को बनाया आतंक का अड्डा◾मैं राज्यपाल था तो श्रीनगर के 50-100 किलोमीटर के दायरे में घुस नहीं सकते थे आतंकी:सत्यपाल मलिक◾UP : सपा के बागी विधायक नितिन अग्रवाल बने डिप्टी स्पीकर, नरेंद्र वर्मा को 244 वोटों से दी मात ◾केरल बारिश : मरने वालों की संख्या बढ़कर 35 हुई, गृह मंत्रालय ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन◾राष्ट्रीय सुरक्षा पर अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग, कहा-आतंकी घटनाओं का माकूल जवाब दिया जायेगा◾ पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर राहुल का PM पर कटाक्ष, कहा- ये बेहद गंभीर मुद्दा है....◾रेल रोको आंदोलन : मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों का प्रदर्शन समाप्त, तीन मांगों के साथ सौपा ज्ञापन ◾रेल रोको आंदोलन से 130 जगहों पर सेवाएं प्रभावित, देखें लिस्ट, किसानों ने दी ये बड़ी चेतावनी ◾

दिल्ली दंगा: UAPA मामले में JNU छात्र शरजील इमाम को अदालत ने चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

दिल्ली की एक अदालत ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम को इस साल फरवरी में राष्ट्रीय राजधानी में हुये दंगों के मामले में बुधवार को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। इमाम को सख्त आतंकवाद निरोधक कानून-गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। इमाम को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था। इमाम पर संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुये दंगों की 'पूर्व नियोजित साजिश' में कथित रूप से शामिल होने का आरोप है।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये इमाम को बुधवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत की अदालत में पेश किया गया। न्यायाधीश ने दिल्ली पुलिस के अनुरोध को स्वीकार करते हुये इमाम को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने अदालत से अग्रह किया था कि मामले की साजिश का पता लगाने के लिये हिरासत में लेकर उससे पूछताछ आवश्यक है। मामले के जांचकर्ताओं ने इमाम की पांच दिन की पुलिस हिरासत की मांग की थी।

इस मामले में जिन अन्य लोगों के खिलाफ आतंकवाद निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है उनमें पिंजरा तोड़ की सदस्य एवं जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की छात्रा देवांगना कलिता और नताशा नरवाल के अलावा जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र आसिफ इकबाल तन्हा और गुलफिशा खातून, कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां, जामिया समन्वय ​समिति की सदस्य सफूरा जरगर, मीरान हैदर, जामिया एलुमनी एसोसिएशन के अध्यक्ष शिफा-उर-रहमान, आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन, कार्यकर्ता खालिद सैफी और पूर्व छात्र नेता उमर खालिद शामिल हैं। उमर खालिद को इस मामले में अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

पुलिस ने अपनी प्राथमिकी में दावा किया था कि उमर और उसके साथियों ने इलाके में लोगों को दंगा भड़काने के लिये उकसाया था और यह 'पूर्व नियोजित साजिश' थी। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के निकट पिछले साल दिसंबर में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध के दौरान हिंसा के एक मामले में इस साल 28 जनवरी को इमाम को गिरफ्तार किया गया था। इमाम जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहा है। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कथित रूप से उसके भड़काऊ भाषणों के सोशल मीडिया में प्रसारित होने के बाद उसके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था। 

इमाम को गुवाहाटी पुलिस ने भी असम में यूएपीए के तहत दर्ज एक मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। गौरतलब है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में 24 फरवरी को संशोधित नागरिकता कानून के समर्थकों एवं विरोधियों के बीच हिंसक झड़प के बाद सांप्रदायिक दंगा शुरू हो गया था, जिसमें 53 लोगों की मौत हो गयी थी जबकि 200 से अधिक लोग घायल हो गये थे।