BREAKING NEWS

ट्रैक्टर रैली पर किसान और पुलिस की बैठक बेनतीजा, रिंग रोड पर परेड निकालने पर अड़े अन्नदाता ◾डेजर्ट नाइट-21 : भारत और फ्रांस के बीच युद्धाभ्यास, CDS बिपिन रावत आज भरेंगे राफेल में उड़ान◾किसानों का प्रदर्शन 57वें दिन जारी, आंदोलनकारी बोले- बैकफुट पर जा रही है सरकार, रद्द होना चाहिए कानून ◾कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका◾दिल्ली में अगले दो दिन में बढ़ सकता है न्यूनतम तापमान, तेज हवा चलने से वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान ◾देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 15223 नए केस, 19965 मरीज हुए ठीक◾TOP 5 NEWS 21 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व में आखिर कब थमेगा कोरोना का कहर, मरीजों का आंकड़ा 9.68 करोड़ हुआ ◾राहुल गांधी ने जो बाइडन को दी शुभकामनाएं, बोले- लोकतंत्र का नया अध्याय शुरू हो रहा है◾कांग्रेस ने मोदी पर साधा निशाना, कहा-‘काले कानूनों’ को खत्म क्यों नहीं करते प्रधानमंत्री◾जो बाइडन के शपथ लेने के बाद चीन ने ट्रंप को दिया झटका, प्रशासन के 30 अधिकारियों पर लगायी पाबंदी ◾आज का राशिफल (21 जनवरी 2021)◾PM मोदी ने शपथ लेने पर जो बाइडेन और कमला हैरिस को दी बधाई ◾केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान नेताओं का रुख सकारात्मक, बोले- विचार करेंगे ◾लोकतंत्र की जीत हुई है : अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने पहले भाषण में कहा ◾जो बाइडेन बने अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति ◾कमला देवी हैरिस ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ लेकर रचा इतिहास ◾सरकार एक से डेढ़ साल तक भी कानून के क्रियान्वयन को स्थगित करने के लिए तैयार : नरेंद्र सिंह तोमर◾कृषि कानूनों पर रोक को तैयार हुई सरकार, अगली बैठक 22 जनवरी को◾TMC कार्यकर्ताओं ने रैली में की विवादित नारेबाजी, नारे से तृणमूल ने खुद को किया अलग◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जेएनयू के कुलपति और छात्रावास अध्यक्षों की बैठक बेनतीजा

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के कुलपति एम जगदीश कुमार ने छात्रावास के मुद्दे पर चर्चा करने और विश्वविद्यालय में हालात सामान्य बनाने के उद्देश्य गुरुवार को छात्रावास अध्यक्षों के साथ बैठक की जो बेनतीजा रही। छात्र प्रतिनिधियों ने कहा कि प्रशासन की ओर से कोई ठोस प्रस्ताव नहीं रखा गया। 

प्रदर्शनकारी छात्रों द्वारा प्रशासनिक ब्लॉक पर कब्जे के बाद पहली बार अपने कार्यालय आए कुलपति ने 18 छात्रावासों के अध्यक्षों के साथ बैठक की। दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया था कि गुरुवार को कुलपति, रजिस्ट्रार और अन्य अधिकारियों के प्रशासनिक ब्लॉक में आने पर पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाए। 

छात्रों ने बताया कि कुलपति ने शुल्क वृद्धि को पूरी तरह से वापस लेने की मांग पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने लोकतांत्रिक तरीके से नए सिरे से इंटर-हॉल प्रशासन (आईएचए) की बैठक बुलाने की मांग की। 

बैठक में कुलपति के अलावा तीन रेक्टर, रजिस्ट्रार, डीन और एसोसिएट डीन ऑफ स्टुडेंट्स भी मौजूद रहे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा, ‘‘छात्र नेताओं से गंभीर बातचीत विश्वविद्यालय में हालात सामान्य करने के लिए उठाया गया सार्थक कदम है।’’ 

बैठक के दौरान कुलपति ने छात्रों को मानव संसाधन विकास मंत्री, सचिव, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष के साथ हुई उनकी बातचीत की जानकारी दी और सेमेस्टर परीक्षा सहित शैक्षणिक गतिविधियों को सामान्य करने पर जोर दिया। 

कुलपति ने छात्रावास अध्यक्षों को संशोधित छात्रावास नियमावली और छात्रावास के उपयोग एवं सेवा शुल्क से संबंधित जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने विस्तृत मुद्दों पर चर्चा की। 

वहीं, छात्रावास अध्यक्षों की ओर से जारी बयान में कहा गया कि प्रशासन ने इस बात पर उन्हें मनाने की कोशिश की सेवा एवं उपयोग शुल्क न्यायोचित है लेकिन हम सहमत नहीं हुए। 

बयान में उन्होंने कहा, ‘‘हमने कहा कि छात्र एक पैसा नहीं देंगे। कुलपति ने आईएचए बैठक को न्यायोचित ठहराते हुए कहा कि वह बैठक वैध थी। कुलपति चाहते हैं कि यमुना छात्रावास (पूरी तरह से निजी) मॉडल सभी छात्रावासों में लागू किया जाए।’’ 

छात्रावास अध्यक्षों ने कहा, ‘‘ हम ऐसे प्रस्ताव को खारिज करते हैं। वे सालाना 10 फीसदी वृद्धि को भी न्यायोचित ठहरा रहे थे। प्रशासन की ओर से कुछ भी ठोस सामने नहीं आया। जब छात्रावास अध्यक्षों ने कुलपति से कड़े सवाल किए तो वह बैठक खत्म कर चले गए।’’ 

सेमेस्टर समापन परीक्षा पर चर्चा के लिए विश्वविद्यालय से सबद्ध सभी स्कूलों के डीन और विशेष केंद्रों के अध्यक्षों की बैठक भी प्रस्तावित है। प्रशासन ने छात्र संघ अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के साथ भी बैठक बुलाई है। 

इस बीच, छात्रों ने छात्रावास शुल्क वृद्धि का विरोध करते हुए गुरुवार को परीक्षा का बहिष्कार किया।