BREAKING NEWS

अधीर रंजन के बयान पर स्मृति का पलटवार, लोकसभा में बोलीं-रेप को राजनीतिक हथियार बनने वाले दे रहे भाषण ◾हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर नेताओं ने दी यह प्रतिक्रिया, जाने किसने क्या कहा◾पड़ोसी देशों में उत्पीड़न के शिकार लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा : PM मोदी ◾हैदराबाद गैंगरेप : एनकाउंटर के बाद पुलिसवालों पर बरसाए गए फूल, महिलाओं ने राखी बांधकर किया धन्यवाद ◾हैदराबाद गैंगरेप: जिस फ्लाईओवर के नीचे जिंदा जलाई गई थी डॉक्टर, उसी जगह मारे गए आरोपी◾हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर पीड़िता के परिवार का बयान, कहा- 'न्याय मिला'◾हैदराबाद गैंगरेप केस के चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया◾झारखंड चुनाव : बिना 'कप्तान' के मैदान में डटे JDU के 'खिलाड़ी' मायूस!◾भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर उपराष्ट्रपति, पीएम मोदी और अमित शाह ने दी श्रद्धांजलि◾थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना के लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित◾कर्नाटक उपचुनाव में 62.18 प्रतिशत मतदान, 12 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला ◾प्याज को लेकर भाजपा सांसद ने कांग्रेस पर कसा तंज ◾मोदी को तानाशाह के रूप में बदनाम करने की साजिश : स्वामी◾आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पहुंचे दिल्ली, मिलेंगे प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय मंत्रियों से ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची, पुलिस ने अस्पताल तक बनाया ग्रीन कॉरीडोर ◾अनुच्छेद 370 : लाइव स्ट्रीमिंग संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को नहीं मिला विभाग, भाजपा ने की आलोचना ◾बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने रतुल पुरी की जमानत अर्जी का किया विरोध◾राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

JNU ने वापस लिया शुल्क बढ़ोतरी का फैसला, आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए योजना की प्रस्तावित

 jnu2

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) ने छात्रावास शुल्क वृद्धि की आंशिक वापसी का आदेश दिया है। साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए एक योजना भी प्रस्तावित की है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के शिक्षा सचिव, आर सुब्रमण्यम ने बताया कि जेएनयू कार्यकारी समिति ने छात्रावास शुल्क और अन्य वजीफा में प्रमुख रोल-बैक की घोषणा की। 

जेएनयू के छात्रों ने छात्रावास शुल्क में वृद्धि वापस लेने की अपनी मांग को लेकर अपना विरोध- प्रदर्शन तेज कर दिया था। इस वजह से विश्वविद्यालय प्रशासन को कार्यकारिणी परिषद की बैठक परिसर से बाहर आयोजित करनी पड़ी। परिषद जेएनयू की फैसला लेने वाली सर्वोच्च संस्था है। 

कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य, लेकिन लड़ सकते हैं चुनाव : SC

वाम दल समर्थित छात्र संगठनों के विद्यार्थी छात्रावास शुल्क में वृद्धि के खिलाफ करीब पखवाड़े भर से प्रदर्शन कर रहे थे। आरएसएस की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के प्रतिनिधियों ने भी इस तरह की मांगों को लेकर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग तक मार्च करने की योजना बनाई थी। 

छात्र संगठनों का दावा किया कि छात्रावास नियमावली मसौदा में छात्रावास शुल्क वृद्धि और ड्रेस कोड आदि के प्रावधान हैं, जिसे इंटर-हॉल प्रशासन ने मंजूरी दी है। प्रदर्शनकारी छात्रों ने बुधवार को प्रशासन खंड के बाहर जेएनयू प्रशासन और कुलपति के खिलाफ नारेबाजी की। 

जेएनयू शिक्षक संघ ने आरोप लगाया कि उन्हें बैठक के आयोजन स्थल के बदलाव के बारे में सूचना नहीं दी गई। जेएनयू शिक्षक संघ अध्यक्ष डी के लोबियाल ने कहा कि एसोसिएशन आयोजन स्थल में बदलाव करने के फैसले की निंदा करता है। लोबियाल ने दावा किया कि यह बैठक परिसर के अंदर कंवेंशन सेंटर में होनी थी।