नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री और जलबोर्ड के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को सचिवालय में जलबोर्ड के अधिकारियों के साथ दिल्ली में पानी की वृद्धि संबंधी चार परियोजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान जलबोर्ड ने उक्त परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए एक व्यापक एक्शन प्लान पेश किया।

मुख्यमंत्री ने जलबोर्ड के अधिकारियों को हर हालत में 31 मार्च तक इन परियोजनाओं को पूरा करने के निर्देश दिए। साथ ही किसी भी प्रकार की बाधा को दूर करने के लिए सरकार से हर संभव मदद की बात भी कही। इन योजनाओं मेंपल्ला और ओखला के बीच 6 स्थानों से भूजल निकालना, द्वारका में पहचाने गए पॉकेट से मीठा पानी निकालना, बंद पड़े रेनी वेल्स और बोरवेल्स को फिर से चालू करना आदि शामिल है।

तीनों डैम से दिल्ली को मिलेगा जरूरत का पानी
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रेणुका डैम के समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद दिल्ली वालों को आश्वस्त किया कि उनकी पानी संबंधी जरुरतें जल्द पूरी होंगी। उन्होंने कहा कि लखवार डेम पर पहले ही साइन हो चुके हैं। रेणुका डैम पर आज साइन हुए हैं। इन दोनों डैम से दिल्ली को 31 एमसीएम पानी मिलेगा।

वहीं अगले 10 से 15 दिनों के भीतर किसाऊ डैम पर भी हस्ताक्षर हो जाएंगे। इससे दिल्ली को 57 एमसीएम पानी मिलेगा। इस पानी से काफी हद तक राजधानी की पानी संबंधी आवश्यकताएं पूरी हो जाएंगी। इस अवसर पर केजरीवाल ने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी का भी धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि उनकी पहल पर ही उक्त छह राज्य एक मंच पर एकत्रित हुए हो एमओयू साइन किया।