BREAKING NEWS

अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

केजरीवाल के ‘मुफ्त’ की राजनीति से भाजपा-कांग्रेस के पेट में दर्द

नई दिल्ली : दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद विधानसभा चुनाव के लिए दिल्ली में महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बस में मुफ्त यात्रा का जो 'तुरुप का इक्का' चला, उससे भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के पेट में दर्द हो गया। खास कर भाजपा इसे शगूफा बताकर दिल्ली की जनता को मैसेज देने की कोशिश में लग गए हैं। साथ ही भाजपा केजरीवाल पर पूरी तरह हमलावर हो गई, भाजपा ने आरोप लगाना शुरू कर दिया है कि पहले के वादे ही केजरीवाल ने पूरे नहीं किए, इसे क्या पूरा करेंगे। 

ऐसे ही कांग्रेस ने भी आप पार्टी के ​खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वास्तव में आप पार्टी की इस 'मुफ्त' की राजनीति से दोनों पार्टियां ही सकते में हैं। केजरीवाल सरकार के इस दांव को विधानसभा चुनाव-2020 का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है। दिल्ली भाजपा का हर नेता चीख-चीख कर इस बात को बताने की कोशिश कर रहा है कि पहले भी केजरीवाल ने कई ऐसे वादे किए जो पूरे नहीं हुए। साथ ही दिल्ली वालों को यह भी बताने की कोशिश कर रहे हैं कि यह बिना केन्द्र की सहमति के संभव ही नहीं है। यही नहीं भाजपा का आरोप है कि दिल्ली सरकार तो एक तरफ तो कह रही है कि दिल्ली में विकास के लिए पैसा नहीं लेकिन मुफ्त की यात्रा के लिए 1300 करोड़ की सलाना सब्सिडी देने के लिए तैयार हो गई है। 

दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी का कहना है कि इसमें केन्द्र सरकार का कोई हस्तक्षेप नहीं है। दिल्ली सरकार अपने खाते से इसके लिए सब्सिडी देगी। अपने ऊपर लगने वाले आरोपों पर आप पार्टी का कहना है कि यह तो भाजपा की नियती है ​कि किसी अन्य को काम करते देखते हैं तो उनके पेट में दर्द होने लगता है, लेकिन दिल्ली की जनता जानती है कि उन्हें क्या करना है। 

आप पार्टी का कहना है कि भाजपा तो दिल्ली में सातों सीटें लोकसभा की जीती हैं, उसके बाद भी उन्हें अपने ऊपर भरोसा नहीं है, क्योंकि दिल्ली के लिए उन्होंने कोई काम तो किया नहीं। दिल्ली के नगर निगम में भाजपा का शासन है, लेकिन वह काम नहीं करते हैं। गौरतलब है कि दिल्ली में रोजना करीब दस लाख महिलाएं सफर करती हैं। इसमें जहां एक लाख महिलाएं बसों में तो नौ लाख के करीब मेट्रो में सफर करती हैं। केजरीवाल की इस योजना से इन महिलाओं को सीधा लाभ मिलेगा। 

- सुरेन्द्र पंडित