आप पार्टी पर वायु प्रदूषण के गंभीर मसले पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए दिल्ली भाजपा ने शुक्रवार को उनकी सरकार से इस समस्या को हल करने के की दिशा में उठाये गये कदमों पर ‘श्वेत पत्र’ लाने की मांग की और पूछा कि क्या वह पटाखे फोड़ने पर प्रतिबंध की घोषणा करेंगे।

‘आप’ ने गुरूवार को भाजपा विधायक ओ पी शर्मा और पार्टी प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इन दोनों नेताओं ने ग्रीन पटाखे फोड़ने के लिए दो घंटे की अनुमति देने के उच्चतम न्यायालय के आदेश पर टिप्पणी की थी।

शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि ‘आप’ सरकार वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के आवश्यक कदम उठाने में ‘असफल’ रही है। इसके कारण इनके नेता ‘घटिया’ के इल्जाम लगा रहे हैं।

इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला : राघव चड्ढा

शर्मा ने संवाददता सम्मेलन में कहा, ‘‘दिल्ली की हवा को स्वच्छ बनाने के लिए कदम उठाने के प्रति ‘आप’ सरकार उदासीन रही है। इसलिए पार्टी के नेता अपनी विफलताओं से ध्यान हटाने के लिए ‘घटिया‘ आरोप लगा रहे हैं।’’

दिल्ली भाजपा प्रवक्ता हरीश खुराना ने कहा कि सर्दियों में वायु प्रदूषण की समस्या हर साल वापस आती है लेकिन केजरीवाल सरकार इसका हल ढुंढने में ‘असफल’ रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘वाहनों से होने वाले प्रदूषण और धूल कणों के स्थानीय स्रोत पर ध्यान केंद्रित करने की बजाय वे पराली जलाने और पड़ोसी राज्यों पर दोष मढ़ते हैं। दिल्ली सरकार को लोगों को बताने के लिए ‘श्वेतपत्र’ लाना चाहिए कि उन्होंने प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए क्या किया है।’’