BREAKING NEWS

NIA ने आईएसआईएस 2 संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र किया दायर◾उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने मरने से पहले कहा-'मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहतीं' ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता युवती का शव उसके गांव लाया गया ◾राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

केजरीवाल की ‘पानी बिल बकाया माफी योजना’ नाकामी छिपाने के लिए : विजेन्द्र गुप्ता

 vijender gupta

दिल्ली विधानसभा के विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पानी बिल की बकाया राशि पर विलंब शुल्क की माफी की घोषणा केवल अपनी ‘‘विफलताओं’’ को छिपाने के लिए की है। 

श्री गुप्ता ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘श्री केजरीवाल को लोगों से पानी के बिलों पर विलंब शुल्क के रूप में वसूले गए करोड़ रुपये भी वापस करना चाहिए, अन्यथा यह बकाया घोटाला होगा।’’

इस अवसर पर मीडिया प्रभारी प्रत्यूष कांत और विधायक जगदीश प्रधान भी उपस्थित रहे। श्री गुप्ता ने बकाया घोटाले पर श्वेत पत्र की मांग की और कहा दिल्ली की 50 प्रतिशत जनसंख्या को पानी नहीं मिल रहा है और पाइप लाइनें कहां बिछाई गयी हैं। सभी घरों में पानी के मीटर नहीं लगाये गये है जिसके कारण यह छूट बेमानी है। 

विपक्ष के नेता ने कहा, ‘‘दिल्ली के गरीब लोगों को पानी के बिल नहीं दिये जाते और इसलिए बकाया राशि में छूट कोई मायने नहीं रखती। श्री केजरीवाल ने एक भी झुग्गी को पानी की पाइपलाइन से नहीं जोड़ है। राजधानी की 50 प्रतिशत जनता प्यासी है और प्रदूषित पानी पीने को मजबूर है। आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बकाये बिल पर विलंब शुल्क की छूट की घोषणा की गई है। यह छूट चुनाव के बाद जनता को नहीं मिलेगी। 

मुख्यमंत्री इस तरह की घोषणा कर दिल्ली की जनता को गुमराह कर रहे हैं।’’ श्री गुप्ता ने टैंकर माफिया का उल्लेख करते हुए बताया, ‘‘जब श्री केजरीवाल सत्ता में नहीं थे तो उन्होंने टैंकर माफिया के राजनीतिक संरक्षण का आरोप लगाया था लेकिन सत्ता में आने के बाद केवल दो टैंकरों को पकड़ गया जबकि 2000 टैंकर या तो पानी की चोरी कर रहे है या फिर अवैध रूप से भूजल निकाल कर इसकी आपूर्ति कर रहे हैं। यह सभी मुख्यमंत्री के संरक्षण में हो रहा है।’’ 

उन्होंने कहा श्री केजरीवाल यह बताये की अभी तक कितनी पानी की चोरी रोकी गयी है, कितना जल रिसाव को रोका गया है और उन्होंने कितना प्रदूषित पानी की आपूर्ति को रोका है। 

श्री केजरीवाल समय रहते कार्रवाई करते हो पानी की कमी नहीं होती। जबकि दिल्ली जल बोर्ड उनके तहत है। जब मुख्यमंत्री अपनी वेबसाइट को चलाने में असमर्थ हैं तब वह दिल्ली की जनता के प्यास कैसे बुझा सकते हैं।’’ 

विपक्ष के नेता ने डीटीसी बसों में महिलाओं को मुफ्त यात्रा को उल्लेख करते हुए कहा कि आज दिल्ली को 2000 बसों की जरुरत है और सड़कों पर केवल 3000 बसें चल रही और इसमें से कुछ बसें चलने की हालत में नहीं हैं। 

इस स्थिति में महिलाओं को बसों में मुफ्त यात्रा की घोषणा का क्या औचित्य है। श्री केजरीवाल को अपने राजनीतिक लाभ के लिए मुफ्त तोहफों की घोषणा करने के स्थान पर बसों के बेड़ को बढ़ना चाहिए और डीटीसी की अन्य आवश्यकताओं का ध्यान रखना चाहिए। 

उन्होंने आगे कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में हार के डर से श्री केजरीवाल इस तरह की विभिन्न लोकलुभावन योजनाओं की घोषणा कर रहे हैं लेकिन विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी का सूपड़ साफ हो जायेगा।