BREAKING NEWS

कैबिनेट बैठक में गरीब कल्याण अन्न योजना और EPF सुविधा की अवधि बढ़ाने की दी गई मंजूरी◾पाकिस्तान का दावा, कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दायर करने से किया इनकार◾MSME और बैंकों की स्थिति को लेकर राहुल ने BJP पर साधा निशाना, कहा- पहले ही दी थी चेतावनी◾कानपुर एनकाउंटर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम राशि को बढ़ाकर किया गया 5 लाख रुपए◾राजीव गांधी फाउंडेशन समेत तीन ट्रस्ट की फंडिंग की जांच के लिए MHA ने बनाई कमेटी◾विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का एक्शन सख्त, 25 हजार का इनामी बदमाश श्यामू बाजपेयी गिरफ्तार ◾चीनी सैनिकों की वापसी का सिलसिला जारी, लद्दाख में 3 प्वाइंट्स पर पीछे हटी चीन◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े सात लाख के करीब, 20 हजार 500 से अधिक लोगों की मौत ◾World Corona : दुनियाभर में लगभग साढ़े पांच लाख लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 17 लाख के पार ◾कानपुर एनकाउंटर : गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया◾आर्थिक कुप्रबंधन लाखों लोगों को कर देगा तबाह, अब यह त्रासदी स्वीकार नहीं : राहुल गांधी◾योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केजरीवाल की ‘पानी बिल बकाया माफी योजना’ नाकामी छिपाने के लिए : विजेन्द्र गुप्ता

दिल्ली विधानसभा के विपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पानी बिल की बकाया राशि पर विलंब शुल्क की माफी की घोषणा केवल अपनी ‘‘विफलताओं’’ को छिपाने के लिए की है। 

श्री गुप्ता ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘श्री केजरीवाल को लोगों से पानी के बिलों पर विलंब शुल्क के रूप में वसूले गए करोड़ रुपये भी वापस करना चाहिए, अन्यथा यह बकाया घोटाला होगा।’’

इस अवसर पर मीडिया प्रभारी प्रत्यूष कांत और विधायक जगदीश प्रधान भी उपस्थित रहे। श्री गुप्ता ने बकाया घोटाले पर श्वेत पत्र की मांग की और कहा दिल्ली की 50 प्रतिशत जनसंख्या को पानी नहीं मिल रहा है और पाइप लाइनें कहां बिछाई गयी हैं। सभी घरों में पानी के मीटर नहीं लगाये गये है जिसके कारण यह छूट बेमानी है। 

विपक्ष के नेता ने कहा, ‘‘दिल्ली के गरीब लोगों को पानी के बिल नहीं दिये जाते और इसलिए बकाया राशि में छूट कोई मायने नहीं रखती। श्री केजरीवाल ने एक भी झुग्गी को पानी की पाइपलाइन से नहीं जोड़ है। राजधानी की 50 प्रतिशत जनता प्यासी है और प्रदूषित पानी पीने को मजबूर है। आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बकाये बिल पर विलंब शुल्क की छूट की घोषणा की गई है। यह छूट चुनाव के बाद जनता को नहीं मिलेगी। 

मुख्यमंत्री इस तरह की घोषणा कर दिल्ली की जनता को गुमराह कर रहे हैं।’’ श्री गुप्ता ने टैंकर माफिया का उल्लेख करते हुए बताया, ‘‘जब श्री केजरीवाल सत्ता में नहीं थे तो उन्होंने टैंकर माफिया के राजनीतिक संरक्षण का आरोप लगाया था लेकिन सत्ता में आने के बाद केवल दो टैंकरों को पकड़ गया जबकि 2000 टैंकर या तो पानी की चोरी कर रहे है या फिर अवैध रूप से भूजल निकाल कर इसकी आपूर्ति कर रहे हैं। यह सभी मुख्यमंत्री के संरक्षण में हो रहा है।’’ 

उन्होंने कहा श्री केजरीवाल यह बताये की अभी तक कितनी पानी की चोरी रोकी गयी है, कितना जल रिसाव को रोका गया है और उन्होंने कितना प्रदूषित पानी की आपूर्ति को रोका है। 

श्री केजरीवाल समय रहते कार्रवाई करते हो पानी की कमी नहीं होती। जबकि दिल्ली जल बोर्ड उनके तहत है। जब मुख्यमंत्री अपनी वेबसाइट को चलाने में असमर्थ हैं तब वह दिल्ली की जनता के प्यास कैसे बुझा सकते हैं।’’ 

विपक्ष के नेता ने डीटीसी बसों में महिलाओं को मुफ्त यात्रा को उल्लेख करते हुए कहा कि आज दिल्ली को 2000 बसों की जरुरत है और सड़कों पर केवल 3000 बसें चल रही और इसमें से कुछ बसें चलने की हालत में नहीं हैं। 

इस स्थिति में महिलाओं को बसों में मुफ्त यात्रा की घोषणा का क्या औचित्य है। श्री केजरीवाल को अपने राजनीतिक लाभ के लिए मुफ्त तोहफों की घोषणा करने के स्थान पर बसों के बेड़ को बढ़ना चाहिए और डीटीसी की अन्य आवश्यकताओं का ध्यान रखना चाहिए। 

उन्होंने आगे कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में हार के डर से श्री केजरीवाल इस तरह की विभिन्न लोकलुभावन योजनाओं की घोषणा कर रहे हैं लेकिन विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी का सूपड़ साफ हो जायेगा।