BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा की निष्पक्ष जांच हो, दोषियों को मिले कड़ी से कड़ी सजा -पासवान◾CAA पर पीछे हटने का सवाल नहीं : रविशंकर प्रसाद◾बंगाल नगर निकाय चुनाव 2020 : राज्य निर्वाचन आयुक्त मिले पश्चिम बंगाल के गवर्नर से◾दिल्ली हिंसा : आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से मिले पेट्रोल बम और एसिड, हिंसा भड़काने की थी पूरी तैयारी ◾TOP 20 NEWS 27 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, शान से पहुंची सेमीफाइनल में ◾पार्षद ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों पर बोले केजरीवाल : आप का कोई कार्यकर्ता दोषी है तो दुगनी सजा दो ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 10-10 लाख का मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार◾दिल्ली में हुई हिंसा का राजनीतिकरण कर रही है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी : प्रकाश जावड़ेकर ◾दिल्ली हिंसा : केंद्र ने कोर्ट से कहा-सामान्य स्थिति होने तक न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं ◾ताहिर हुसैन को ना जनता माफ करेगी, ना कानून और ना भगवान : गौतम गंभीर ◾सीएए हिंसा : चांदबाग इलाके में नाले से मिले दो और शव, मरने वालो की संख्या बढ़कर 34 हुई◾दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन, गृह मंत्री को हटाने की हुई मांग◾न्यायधीश के तबादले पर बोले रणदीप सुरजेवाला : भाजपा की दबाव और बदले की राजनीति का हुआ पर्दाफाश ◾दिल्ली हिंसा : दंगाग्रस्त इलाकों में दुकानें बंद, शांति लेकिन दहशत का माहौल ◾जज मुरलीधर के ट्रांसफर पर बोले रविशंकर- कोलेजियम की सिफारिश पर हुआ तबादला ◾उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर हुई हिंसा में मरने वालों का आकंड़ा 32 पहुंचा◾दिल्ली हिंसा : जज मुरलीधर के ट्रांसफर को कांग्रेस ने बताया दुखद और शर्मनाक◾दिल्ली हिंसा मामले पर सुनवाई कर रहे जस्टिस एस मुरलीधर का हुआ तबादला ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए अंकित शर्मा के परिवार ने AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर लगाए गंभीर आरोप◾

हज यात्रियों का गाइड था खाजा मोइदीन, बन गया आतंकी सरगना

नई दिल्ली : गिरफ्तार आईएसआईएस आतंकी खाजा मोइदीन कभी हज यात्रियों के गाइड के तौर पर काम करता था। हज जाने वालों को हज की यात्रा में मदद करता था। इसी बीच कुछ आतंकी संगठन समर्थक लोगों के सम्पर्क में आकर वह आतंकी गतिविधियों में संलिप्त हो गया। 

फिर भटके हुए युवाओं को बरगलाकर और उनका माइंडवॉश कर उन्हें आतंकी संगठन से जोड़ने का काम शुरू कर दिया। हालांकि हिन्दू संगठन के एक नेता की हत्या के मामले में उसकी और साथियों की गिरफ्तारी के बाद उसके नेटवर्क कुछ समय के लिए थम गया।

तमिल पुलिस एसआई की हत्या का कनेक्शन...

मुठभेड़ में आईएसआईएस (तमिलनाडु) के तीनों आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद जहां दिल्ली में सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं, वहीं गिरफ्तार इन आतंकियों का एक नया तमिलनाडु कनेक्शन सामने आ रहा है। बुधवार की रात तमिलनाडु में केरला बॉर्डर के पास पदनथालुमोडू में एक सब इंस्पेक्टर 56 वर्षीय विंसेट विल्सन की गोली मारकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। 

घटना उस समय घटी जब उक्त पुलिसकर्मी चेकपोस्ट पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। तभी कार सवार संदिग्धों ने उन्हें गोली मार दी थी। आशंका है कि हत्या के पीछे अब्दुल शमिम और तौफिक दो संदिग्धों का हाथ है जो कन्याकुमारी में एक बीजेपी नेता की हत्या भी शामिल थे और मोइदीन के आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़े हुए हैं। हालांकि अभी पुलिस इस पूरे मामले की बारीकी से जांच कर रही है।

आतंकियों की टीम होनी थी तैयार...

पूछताछ में पता चला कि केपी सुरेश कुमार की हत्या के मामले में बेल पर छूटने के बाद खाजा ने आईएसआईएस के नेटवर्क को अपने सहयोगियों के साथ मिलकर भारत में फैलाने की जिम्मेदारी ली। इसके लिए उसने भारत के विभिन्न जगहों पर कई लोगों के साथ कई बैठकें भी कीं। वह विदेश में बैठे अपने आका के इशारे पर खाजा अपने सहयोगियों सैयद अली नवाज, अब्दुल समद, अब्दुल शमीम, तौफिक और जफ्फर अली के साथ आतंकी नेटवर्क को आगे बढ़ाने की कोशिश करने लगा।

इंटेलिजेंस की मिली थी रिपोर्ट... 

पुलिस सूत्रों ने बताया कि उन्हें तीनों संदिग्ध आतंकियों के बारे में इनपुट मिली थी। पता चला था कि हिन्दू मुन्नानी नेता केपी सुरेश कुमार की बेरहमी से हत्या करने वाले और आईएस-मॉड्यूल से संबंध रखने वाले तीन संदिग्ध आतंकी हत्या के मामले में बेल मिलने के बाद फरार हो गए हैं और आईएसआईएस आतंकी संगठन से सम्पर्क में हैं। तीनों के बारे में जानकारी जुटाने के दौरान ही पुलिस को पता चला कि तीनों नेपाल के रास्ते पूर्वी उत्तर प्रदेश में दाखिल हो गए हैं। 

वहां से उनके दिल्ली-एनसीआर पहुंचकर किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने सूचना मिली। साथ ही वे दिल्ली को आतंकी संगठन के लिए बेस बनाना चाहते थे। इंटेलिजेंस के माध्यम से गुरुवार को पुलिस को यह पता लगा कि फरार आतंकी खाजा मोइदीन, सैयद ​नवास और अब्दुल समद नेपाल से दिल्ली में शिफ्ट हो गए हैं और किराए के कमरे में रहकर किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं।

कई को इस्लाम में बदला

पुलिस सूत्रों के मुताबिक मोइदीन गैर-मुस्लिमों का धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनाने का अभियान भी चलाता था। जिसके लिए वह ट्रेनिंग कैम्प लगाता था। जहां, हथियार और गोला बारूद चलाने की ट्रेनिंग भी दी जाती थी। इसके एक मामले में वर्ष 2004 में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया है। इसका साथी अब्दुल समद शातिर है और तकनीक में माहिर है।