BREAKING NEWS

Covid-19 : महाराष्ट्र में कोरोना से अबतक 19 की मौत, कुल पॉजिटिव मामले 416◾राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 170 से अधिक FIR दर्ज - DP◾सोनिया ने लॉकडाउन पर उठाए सवाल तो भड़की BJP, शाह- नड्डा ने किया पलटवार◾मजनू का टीला गुरुद्वारे में रूके थे 225 लोग, गुरुद्वारे के प्रबंधकों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज ◾कोरोना संकट : पीएम मोदी कल सुबह 9 बजे वीडियो जारी कर देशवासियों को देंगे संदेश◾24 घंटे में कोरोना के 328 नए मामले आए सामने, तबलीगी जमात से जुड़े 9000 लोगों को किया गया क्वारंटाइन : स्वास्थ्य मंत्रालय◾FIR दर्ज होते ही बदले मौलाना साद के तेवर, समर्थकों से की सरकार का सहयोग करने की अपील◾PM मोदी के साथ मीटिंग के बाद अरुणाचल प्रदेश CM बोले- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी बरतें सावधानी◾सभी मुख्यमंत्रियों को PM मोदी का आश्वासन - कोरोना संकट को लेकर हर राज्य के साथ खड़ी है केंद्र सरकार◾इंदौर में स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने के मामले में 4 लोग गिरफ्तार, कई अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज◾देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या हुई 50, संक्रमित लोगों की संख्या में हुआ इजाफा ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तीन और मामले सामने आए, कुल संख्या 338 पर पहुंची ◾कोरोना वायरस : दुनिया भर में 925,132 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, 46,291 लोगों की अब तक मौत◾पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस के कारण मौत ◾मध्य प्रदेश में कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस आए सामने, संक्रमितों की संख्या हुई 98 ◾कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए PM मोदी आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा ◾Coronavirus : अमेरिका में कोविड -19 से छह सप्ताह के शिशु की हुई मौत◾कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾

लक्ष्मी को हाथी पुनर्वास केंद्र में रखे जाने को अवैध नहीं कहा जा सकता : दिल्ली HC

दिल्ली उच्च न्यायालय ने हथिनी लक्ष्मी को कथित अवैध बंधन से मुक्त करने की उसके महावत की अर्जी पर विचार करने से इनकार करते हुए कहा कि लक्ष्मी को हाथी पुनर्वास केंद्र में रखे जाने को अवैध या अनधिकृत नहीं कहा जा सकता क्योंकि जंगल ही हाथियों का प्राकृतिक पर्यावास है। 

न्यायमूर्ति मनमोहन और न्यायमूर्ति संगीता ढींगरा सहगल की पीठ ने कहा कि 47 वर्षीय हथिनी के महावत ने यह साबित करने के लिए कोई दस्तावेजी साक्ष्य नहीं दिखाया कि वह उसके स्वामी हैं और वह उनके बिना नहीं रह सकती। 

पीठ ने कहा, ‘‘किसी हाथी को उसके प्राकृतिक लक्षणों के अनुसार पर्याप्त पानी चाहिए होता है और रहने, घूमने तथा घास चरने के लिए बड़े क्षेत्र की जगह होती है। इस सिद्धांत और तथ्य को ध्यान में रखते हुए इस अदालत की राय है कि जंगल किसी हाथी का प्राकृतिक पर्यावास होते हैं और हथिनी लक्ष्मी की हाथी पुनर्वास केंद्र में मौजूदगी को अवैध या अनधिकृत नहीं कहा जा सकता।’’ 

लक्ष्मी के महावत सद्दाम ने उच्च न्यायालय से उसे हाथी पुनर्वास केंद्र में ‘अवैध बंधन’ से मुक्त करने और दिल्ली वापस लाने की मांग की थी। उच्च न्यायालय ने कहा कि हाथी और महावत के अधिकारों के बीच द्वंद्व की स्थिति में प्राथमिकता हाथी को देनी होगी। पिछले साल जुलाई में लक्ष्मी लापता हो गयी थी और उसका पता लगाने के लिए देशभर में अलर्ट जारी किया गया। 

दिल्ली वन विभाग को दो महीने बाद उसका पता चला। पुलिस ने उसे सितंबर में यमुना पुश्ता इलाके से महावत सद्दाम के साथ पकड़ा था। सद्दाम का आरोप था कि लक्ष्मी को हरियाणा में पुनर्वास केंद्र में सही से नहीं रखा जा रहा और महावत के आसपास होने पर ही हथिनी खाएगी-पीएगी।