BREAKING NEWS

रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾प्रियंका की गैरकानूनी गिरफ्तारी भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का संकेत: राहुल गांधी ◾सरकार बचाने के लिए सत्ता का नहीं करूंगा दुरुपयोग : कुमारस्वामी◾कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष बोले- विश्वास मत पर मतदान में देरी नहीं कर रहा हूं◾सोनभद्र मामले में 3 सदस्यीय समिति का गठन, 10 दिनों के अंदर सौंपेगी रिपोर्ट : योगी ◾कुमारस्वामी शुक्रवार को देंगे अपना विदाई भाषण : येदियुरप्पा◾कर्नाटक : विश्वास मत पर रोक के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कुमारस्वामी◾बिहार : छपरा में मवेशी चोरी के आरोप में भीड़ ने की युवकों की पिटाई, 3 की मौत◾मोहम्मद मंसूर खान से पूछताछ कर रही है ईडी : SIT◾आयकर विभाग के एक्शन से भड़कीं मायावती, कहा- अपने गिरेबान में झांके भाजपा ◾कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करेगा पाकिस्तान◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

लोकसभा चुनाव : दिल्ली में मनोज और शीला के आमने- सामने होने से मुकाबला बना रोचक

नई दिल्ली : उत्तर पूर्वी दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के आमने-सामने होने से लोकसभा की इस सीट पर पूरे देश की नजरें लग गई हैं। भाजपा ने सत्रहवीं लोकसभा के लिए उत्तर पूर्व दिल्ली की सीट पर एक बार फिर मौजूदा सांसद श्री तिवारी पर भरोसा जताया है, वहीं कांग्रेस ने उनके मुकाबले तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं एवं मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती दीक्षित को टिकट दिया है।

\"\"

आम आदमी पार्टी (आप) के तेज तर्रार नेता दिलीप पांडे के यहां मैदान में होने से इस बार की लड़ई और रोमांचक होने की उम्मीद है। वर्ष 2008 में परिसीमन के बाद उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट का गठन हुआ था और 2009 में पहली बार इस सीट पर यहां हुए चुनाव में कांग्रेस के जय प्रकाश अग्रवाल ने भाजपा के बैकुंठ लाल शर्मा ‘प्रेम’ को 222243 वोटों से हराया था। श्री अग्रवाल का 518191 मत मिले थे जबकि श्री प्रेम को 295948 वोट मिले। मोदी लहर के बीच श्री अग्रवाल 2014 में यहां टिक नहीं पाये।

\"\"

अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी(आप) के मैदान में आने से दिल्ली में पहली बार संसदीय चुनाव में मुकाबला त्रिकोणीय हुआ। भाजपा के टिकट पर लड़े श्री तिवारी ने आप के प्रो. आनंद कुमार को 144084 वोटों के अंतर से हराया। श्री तिवारी को 596125 और श्री कुमार को 452041 वोट मिले। श्री अग्रवाल 214792 वोट हासिल कर तीसरे स्थान पर रहे। दिल्ली में 2009 के आम चुनाव में कांग्रेस ने सातों सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि 2014 में उसे एक भी सीट नसीब नहीं हुआ।

\"\"

श्री अग्रवाल को कांग्रेस ने इस बार चांदनी चौक से टिकट दिया है। श्रीमती दीक्षित 1998 में, जब इस संसदीय सीट के अधिकांश इलाके पूर्वी दिल्ली लोकसभा के दायरे में आते थे, पूर्वी दिल्ली अपनी किस्मत आजमा चुकी हैं। उस समय श्रीमती दीक्षित को भाजपा के लाल बिहारी तिवारी के हाथों शिकस्त मिली थी। उत्तर पूर्वी दिल्ली में अधिकांश अवैध कालोनियां और पिछड़े इलाके हैं। इस संसदीय सीट के तहत दस विधानसभा क्षेत्र बुराडी, तिमारपुर, सीमापुरी, रोहताश नगर, सीलमपुर, घोंडा, बाबरपुर, गोकुलपुर, मुस्तफाबाद और करावल नगर आते हैं।