नई दिल्ली : दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आज यहां राजनिवास में डेंगू, चिकनगुनिया और स्वाइन फ्लू की स्थिति पर एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के दौरान श्री बैजल को स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम निकायों द्वारा इससे पूर्व की बैठक में लिये गये निर्णयों के बारे में अवगत कराया गया। इस संबंध में स्वास्थ्य सेवा के अतिरिक्त महानिदेशक ने एक प्रस्तुतिकरण दिया जिसमें जानकारी दी गई कि पिछले दो वर्षों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामलों में काफी कमी आई है।

उप राज्यपाल को अवगत कराया गया कि सभी अस्पतालों में दवाईयों और अन्य सामग्री का पर्याप्त स्टॉक हैऔर डेंगू और चिकनगुनिया के लिए 998 बैड निश्चित किए गए हैं और वर्तमान में 75 प्रतिशत बैड अभी खाली हैं। श्री बैजल को मौसमी फ्लू एच1एन1 (स्वाइन फ्लू) के लिए उठाये गये एहतियाती कदमों से भी अवगत कराया गया। उपराज्यपाल को यह भी बताया कि सभी निजी अस्पतालों में एच.एन. की जांच तथा परीक्षण के लिए ज्यादा से ज्यादा चार्ज लेने की एक सीमा तय कर दी गयी है और सभी सरकारी अस्पतालों में टेमी फ्लू कैप्सूल की आपर्ति की गयी है।

वाहक जनित रोगों को नियंत्रित करने के लिए सभी संबद्ध पक्षों के प्रयासों की सराहना करते हुए श्री बैजल ने जोर दिया कि अक्टूबर, 2017 के अंत तक इसे इसी रफ्तार से जारी रखना चाहिये। उन्होंने दिल्लीवासियों से स्वाइन फ्लू के खिलाफ लडऩे के लिए स्वच्छता उपायों के पालन करते हुए प्रभावी कदम उठाने को कहा। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द, जैन और राज्य के मुख्य सचिव उपस्थित रहे।