नई दिल्ली : मायापुरी में सीलिंग के मुद्दे को हवा देने और व्यापारियों पर हुए लाठी चार्ज की निंदा करते हुए दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इसे चुनावी साजिश बताया है। उन्होंने कहा कि यह पूरा घटनाक्रम पहले से स्क्रिप्टेड था। घटना से पहले ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसका ट्वीट और रेडियो ऐड तैयार कर लिया था। मैं व्यापारियों को विश्वास दिलाता हूं कि भारतीय जनता पार्टी और उसके कार्यकर्ता उनके साथ खड़े हैं।

प्रधानमंत्री ने व्यापारियों को 10 लाख का दुर्घटना बीमा देने, 60 साल के बाद उन्हें पेंशन देने और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए केन्द्रीय व्यापारी आयोग के गठन करने का संकल्प लिया है। इसी से डर कर केजरीवाल ने इस घटना के माध्यम से मोदी की छवि को खराब करने का प्रयास किया। जब कोर्ट ने 3 मई तक अपनी रिपोर्ट देने का समय दिया हुआ था, तो 13 अप्रैल को ही सीधे कार्रवाई करने की क्या जरूरत पड़ गई।

सीलिंग करने वाले एसडीएम का कहना है कि अगर हम सीलिंग नहीं करते हैं तो हमें इस्तीफा देना पड़ेगा। सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा कि सीलिंग से एमसीडी का कोई मतलब नहीं है। यह केवल केजरीवाल की खुराफात है। उन्होंने कहा कि यह पूरा कार्य दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी का है जो कि दिल्ली सरकार के अंतर्गत आता है।